Advertisements

दोस्तो, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर। दोस्तो, आज हम आपको एक ऐसे अंग विशेष की समस्या के बारे में बतायेंगे जिसमें दर्द कम और बेचैनी ज्यादा रहती है। इसके चलते सबसे बड़ी दिक्कत रात को सोने की होती है कि आदमी ठीक से सो नहीं पाता। यह समस्या अक्सर तब होती है जब मौसम में बदलाव होता है। यानी मौसम बदलने पर स्वास्थ की स्थिति भी बदलती है, विशेष रूप से बरसात और सर्दी के मौसम में। इन दिनों में सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार होना सामान्य बात है जोकि कुछ दिनों में ठीक भी हो जाते हैं। परन्तु यदि जुकाम बिगड़ जाये तो यह बड़ी समस्या बन जाती है। यद्यपि इससे कोई जानलेवा समस्या नहीं बनती परन्तु गंभीर स्थिति बनने से इंकार नहीं किया जा सकता। इस समस्या का नाम है “नाक बंद होना” जिसके कारण हम बेचैन रहते हैं क्योंकि हम नाक से सांस नहीं ले पाते, रात को ठीक से सो नहीं पाते और सही से बोल भी नहीं पाते। आखिर यह नाक बंद होना क्या है और कैसे इससे छुटकारा पाया जाये। दोस्तो, यही है हमारा आज का टॉपिक “बंद नाक खोलने के घरेलू उपाय“। देसी हैल्थ क्लब इस लेख के माध्यम से आज आपको बंद नाक के बारे में विस्तृत जानकारी देगा और यह भी बतायेगा कि बंद नाक को खोलने के घरेलू उपाय क्या हैं। तो, सबसे पहले जानते हैं कि नाक क्या है, इसके कार्य क्या हैं और नाक बंद होना क्या है। इसके बाद फिर बाकी बिन्दुओं पर जानकारी देंगे। 

Advertisements
बंद नाक खोलने के घरेलू उपाय
Advertisements

नाक क्या है? What is Nose?

मानव नाक शरीर का अत्यंत महत्वपूर्ण हिस्सा है जो चेहरे पर उभरी हुई होती है। यह हड्डियों, त्वचा, श्लेष्मा झिल्ली, मांसपेशियों, नसों और रक्त वाहिकाओं जैसे कोमल ऊतकों से बनी होती है। यह श्वसन प्रणाली का पहला और घ्राण (सूंघना) प्रणाली का प्रमुख अंग है। नाक का आकार नाक की हड्डियों और नाक के कार्टिलेज पर निर्भर करता है, जिसमें नाक सेप्टम भी शामिल है जो नाक को अलग करता है और नाक गुहा को दो में बांटता है जिसे नथुने कहा जाता है। अक्सर पुरुष की नाक महिला की नाक से बड़ी होती है। नाक को चेहरे की सुंदरता का बढ़ाने वाला विशेष अंग माना जाता है। 

नाक के कार्य Nose Function

1. नाक श्वसन प्रणाली का प्रथम हिस्सा होने के नाते प्रकृति से ऑक्सीजन लेकर इसे सांस द्वारा फेफड़ों में भेजती है और खराब वायु कार्बन डाइऑक्साइड को बाहर निकालती है। यह इसका प्रमुख कार्य है।

Advertisements

2. घ्राण प्रणाली का प्रमुख अंग होने के नाते, नाक की घ्राण कोशिकाऐं मानव को सुगंध और दुर्गंध के अंतर को स्पष्ट अनुभव कराती है। 

3. बोलने के कार्य में नाक अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। नासिकाकरण की प्रक्रिया में ही स्वर और व्यंजन (Vowels and Consonants) उत्पन्न होते हैं।

4. परानासल साइनस के खोखले गुहा, ध्वनि कक्षों के रूप में कार्य करके उच्चारित शब्दों और अन्य ध्वनियों को संशोधित करते हैं और बढ़ाते हैं। 

Advertisements

ये भी पढ़े राइनोप्लास्टी क्या है?

नाक बंद होना क्या है? What is Nasal Congestion?

दोस्तो, नाक में द्रव के जमाव की स्थिति को नाक बंद होना कहा जाता है। नाक में म्यूकस का जमा हो ना जाने, सर्दी, जुकाम या साइनस संक्रमण या किसी अन्य कारण से नाक का श्वसन मार्ग अवरुद्ध हो जाता है। ऐसा होने पर ना तो नाक से सांस आती जाती है और ना ही आप सूंघ कर सुगंध या दुर्गंध का अनुभव कर सकते हैं। यहां तक कि ठीक से बोल पाते हैं।  इसी को ही नाक बंद होना कहा जाता है। 

नाक बंद होने के कारण Cause of Nasal Congestion

नाक बंद होने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं

1. सर्दी, जुकाम व फ्लू की वजह से नाक बंद हो सकती है।

2. नाक में म्यूकस जमा हो जाना।

3. साइनस संक्रमण

4. पॉलिप्स या ट्यूमर की वजह से नाक बंद हो सकती है।

बंद नाक के लक्षण Blocked Nose Symptoms

नाक बंद होने पर निम्नलिखित लक्षण प्रकट हो सकते हैं

1. नाक बंद होने पर नाक के जरिये सांस ना ले पाना।

2. रात को सोने में दिक्कत होना।

3. साइनस में दर्द

4. नाक के ऊतकों में सूजन

5. नाक में जख्म हो जाना।

6. नाक बंद होने पर सिर में दर्द रहना।

7. तेज बुखार होना।

8. गले में खराश और खांसी 

9. शरीर में दर्द होना

10. बोलने और सुनने में परेशानी

नाक बंद होने के नुकसान Loss of Nose Blocked

1. शिशुओं की नाक बंद होने से उनके लिये स्तनपान सबसे बड़ी समस्या बनती है क्योंकि स्तनपान करते समय उनको नाक से सांस नहीं आ पाती। इससे उनकी प्रतिक्रिया लगातार रोने के रूप में और झुंझलाहट के रूप में दिखाई देती है।

2. बड़े बच्चों में भी नाक बंद होने पर उनकी प्रतिक्रिया झुंझलाहट के रूप सामने आती है।

3. नाक बंद होने से सबसे बड़ा नुकसान “अच्छी नींद” का होता है। रात को सोते समय नाक बंद होने के कारण मुंह से सांस लेनी पड़ती है। मुंह से सांस कभी खर्राटों में बदल जाती है। खर्राटे प्राकृतिक और अच्छी नींद में बाधा बनते हैं।

4. नाक बंद होना स्लीप एप्निया, ऑक्सीजन का पर्याप्त मात्रा में शरीर में ना होना और हाईपोक्सिया यानी ऊतकों तक ऑक्सीजन का ना पहुंच पाना, का कारण बन सकता है। 

5. नाक बंद होने की स्थिति, पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का ना पहुंच पाना, हार्ट अटैक की वजह बन सकती है।

बच्चों की बंद नाक खोलने के उपाय Remedies to Open Blocked Nose of Children

1. बच्चों की बंद नाक खोलने के लिये सेलाइन ड्राप्स नाक में डाल सकते हैं।

2. एस्पिरेटर का प्रयोग कर सकते हैं।

3. बच्चों को भाप दे सकते हैं। इसके लिये वेपोराइजर या ह्यूमिडिफायर का उपयोग किया जा सकता है। वेपोराइजर में पानी को भाप निकलने तक गर्म किया जाता है। इसका उपयोग करते समय बहुत ज्यादा सावधानी बरतनी पड़ती है। वहीं दूसरी ओर ह्यूमिडिफायर के उपयोग को सुरक्षित माना जाता है क्योंकि इसमें गर्म पानी नहीं होता और ना ही भाप। इसमें धुंध सी बनती है।

4. तीन महीने से ऊपर के बच्चे को पानी, मां का दूध या फार्मूला दूध दिया जा सकता है। इनसे बच्चे की बंद नाक खुलने में मदद मिलेगी। 

5. बड़े बच्चों को गुनगुना सूप दे सकते हैं।

6. चार वर्ष से कम उम्र वाले बच्चे को सर्दी जुकाम, बंद नाक के लिये या किसी अन्य बीमारी के लिये बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह के बिना कोई दवा ना दें। 

ये भी पढ़े साइनस का घरेलू उपाय

7. बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह के बिना एन्हेलर ना सुंघायें। 

बंद नाक खोलने के घरेलू उपाय Home Remedies to Open Blocked Nose

दोस्तो, अब बताते हैं आपको बंद नाक खोलने के कुछ घरेलू उपाय जो निम्न प्रकार हैं

1. गर्म पानी से भाप लें (Steam with Hot Water)- बंद नाक को खोलने के लिये गर्म पानी से भाप सबसे सरल, लोकप्रिय, पारंपरिक रामबाण उपाय है। यह चिकित्सा पद्धति का एक तरीका है। गर्म पानी से भाप लेने से नाक, मुंह और गले के जरिये गर्म हवा फेफड़ों तक जाती है। इससे बंद नाक खुल जाती  है, शरीर का तापमान बढ़ता है और रक्त संचार में भी सुधार होता है जिससे सर्दी जुकाम में राहत मिलती है। भाप लेने के लिये एक बर्तन जैसे भगोना, में तेज गर्म पानी ले लें। अब एक पटरे पर बैठकर सिर के ऊपर तौलिया और थोड़ा बर्तन पर झुक कर धीरे-धीरे भाप लें। आप चाहें तो इस गर्म पानी में थोड़ी सी विक्स वेपोरब भी मिला सकते हैं। 

2. गर्म पानी पीयें (Drink Hot Water)- सर्दी, खांसी, जुकाम, बंद नाक की समस्या होने पर हमेशा गर्म पानी पीयें, ठंडा पानी पीने की गलती ना करें। डॉक्टर से ली हुई दवा गोली का सेवन भी गर्म पानी के साथ करें। इससे गला खराब नहीं होगा और शरीर हाइड्रेट रहेगा। इससे नाक की सूजन और कफ से राहत मिलेगी और बंद नाक भी खुल जायेगी। इसके अतिरिक्त, पिसी हुई अदरक पानी में अच्छी तरह उबाल कर, छानकर इसमें आधा चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार पीयें। 

3. गर्म पानी से सिंकाई (Irrigate with Hot Water)- किसी बर्तन में हल्का गर्म पानी लेकर इसमें छोटा तौलिया या रूमाल भिगोकर नाक और गले पर रखकर सिंकाई करें। दिन में दो बार और रात को सोने से पहले सिंकाई करें। इससे बंद नाक के खुलने और बलगम बाहर निकलने में मदद मिलेगी और आपको आराम मिलेगा।

4. नारियल तेल (Coconut Oil)- बंद नाक को खोलने के लिये नारियल तेल भी एक अच्छा उपाय है। इसके लिये उंगली से  नारियल तेल नाक के दोनों नथुनों में लगायें। इसके अतिरिक्त पिघले हुऐ नारियल तेल की दो-दो बंद बूंद नाक के दोनों नथुनों में डालें और गहरी सांस लें। थोड़ी ही देर में बंद नाक खुल जायेगी।  

5 . सरसों का तेल (Mustard Oil)- जिस प्रकार नारियल तेल बंद नाक को खोलने में मदद करता है ठीक उसी प्रकार सरसों का तेल बंद नाक को खोलने में मदद करता है। इसके लिये भी उंगली से नारियल तेल नाक के दोनों नथुनों में लगायें और दो-दो बूंद बंद नाक के दोनों नथुनों में डालें। इससे बंद नाक तो खुल ही जायेगी साथ ही नाक के अंदर की सूजन खत्म हो जायेगी और कोई जख्म होगा तो वह भी ठीक हो जायेगा। 

6. नीलगिरी का तेल (Nilgiri Oil)- नीलगिरी का तेल भी बंद नाक खोलने में सक्रिय भूमिका निभाता है। इसके लिये एक बर्तन में गर्म पानी लें और इसमें तीन, चार बूंद नीलगिरी तेल की डालें। अब इस पानी की भाप लें। दिन में दो बार भाप लें। नहाते समय भी पानी में नीलगिरी के तेल की तीन, चार बूंद डाल लें। एक तरीका और भी बहुत अच्छा है कि रूमाल पर नीलगिरी के तेल की दो, तीन बूंद डाल लें और दिन में कई बार समय-समय पर सूंघें। रात को सोने से पहले तकिया पर भी दो, तीन बूंद डाल लें ताकि सोते हुऐ इसकी महक नाक में जाये और नाक खुली रहे। इसे आप आराम से सो सकेंगे। 

7. कपूर (Kapoor)- कपूर भी बंद नाक को खोलने का एक बेहतरीन उपाय है। इसकी सुगंध बंद नाक को खोलने में मदद करती है। इसके लिये कपूर को सूंघें। चाहें तो कपूर को नारियल तेल के साथ मिलाकर सूंघ सकते हैं। इससे नाक को गरमाहट मिलेगी और बहुत आसानी से बंद नाक खुल जायेगी। 

8. लहसुन (Garlic)- बंद नाक से राहत पाने के लिये चार, पांच लहसुन की कलियां पीस लें। इस पेस्ट में एक चम्मच कच्चा शहद मिलाकर खायें। दिन में दो बार खायें। या लहसुन का सूप बनाकर पीयें। सूप बनाने के लिये एक कप पानी में तीन, चार लहसुन की कलियां, आधी चम्मच हल्दी पाउडर और थोड़ी सी काली मिर्च पाउडर डालकर अच्छी तरह उबालें। इसे छानकर पीयें। दिन में दो बार पीयें।

ये भी पढ़े लहसुन के फायदे और नुकसान

9. दूध और अदरक (Milk and Ginger)- सामान्यतः जुकाम की स्थिति में दूध न पीने की सलाह दी जाती है क्योंकि दूध कफ बढ़ाने का काम करता है। परन्तु यदि दूध को, इसमें अदरक डालकर उबाला जाये तो यह कफ नहीं बनायेगा। अदरक में एंटीइंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो नाक के अन्दर की सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इस अदरक वाले दूध में आधा चम्मच हल्दी पाउडर डालकर पीयें। इससे बंद नाक खुल जायेगी और गले में भी आराम मिलेगा।

10. हल्दी वाला दूध (Turmeric Milk)- हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लामेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो नाक में जमाव पर अपना प्रभाव डालते हैं। हल्दी में पाये जाने वाला करक्यूमिन तत्व नाक की सूजन को कम करने मदद करता है। एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच शहद और हल्दी पाउडर मिलाकर दिन में दो बार पीयें। ऐसा करने से बंद खुल जायेगी। 

11. अदरक (Ginger)- अदरक में एंटीइंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो नाक के अन्दर की सूजन को कम करने में मदद करते हैं।  बंद नाक खोलने के लिये अदरक की चाय बनाकर पीयें। चाय बनाने के लिये एक चम्मच पिसी हुई अदरक को एक कप पानी में डालकर तब तक उबालें जब तक कि पानी आधा कप ना रह जाये। इसे छानकर इसमें आधा चम्मच नींबू का रस और शहद मिलाकर पीयें। या दिन में तीन, चार बार अदरक के टुकड़े में नमक लगाकर चबायें या अदरक की मीठी गोलियां खायें, ये बाजार में आसानी से मिल जाती हैं। 

12. टमाटर (Tomato)- टमाटर का सूप बंद नाक के जमाव को ढीला करता है और साथ ही बलगम के प्रवाह को बेहतर बनाने में मदद करता है। टमाटर का सूप बनाने के लिये एक कप टमाटर का जूस हल्की आग पर पकायें, इसमें दो, तीन लहसुन की कलियां, एक नींबू का जूस और आधा चम्मच हॉट सॉस मिलायें। हॉट सॉस की जगह एक चौथाई चम्मच लाल मिर्च मिला सकते हैं। नमक स्वादानुसार मिलाकर यह सूप पीयें। टमाटर का सूप दिन में दो बार पी सकते हैं।

13. मसालेदार भोजन (Spicy Food)- तीखा तेज मिर्च मसाले वाला भोजन करना पेट के लिये अच्छा नहीं माना जाता परन्तु सर्दी जुकाम की समस्या में यह भोजन फायदा पहुंचाने वाला होता है। मिर्च में कैप्साइसिन नामक तत्व शरीर में गर्मी पैदा करता है और बंद नाक को खोलने तथा सूजन को कम करने में मदद करता है। बंद नाक खोलने का यह प्राकृतिक उपाय है। 

Conclusion  

दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको बंद नाक खोलने के घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी। नाक क्या है?, नाक के कार्य, नाक बंद होना क्या है?, नाक बंद होने के कारण, बंद नाक के लक्षण और  नाक बंद होने के नुकसान, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस लेख के माध्यम से बच्चों की बंद नाक खोलने के उपाय और बड़ों के लिये, नाक खोलने के बहुत सारे घरेलू उपाय भी बताये। आशा है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा। 

दोस्तो, इस लेख से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो लेख के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह लेख आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और  सगे सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health-Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer यह लेख केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर/लेखक उत्तरदायी नहीं है। कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

Summary
बंद नाक खोलने के घरेलू उपाय
Article Name
बंद नाक खोलने के घरेलू उपाय
Description
दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको बंद नाक खोलने के घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी। नाक क्या है?, नाक के कार्य, नाक बंद होना क्या है?, नाक बंद होने के कारण, बंद नाक के लक्षण और नाक बंद होने के नुकसान, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo
error: Content is protected !!