दोस्तो, आपका स्वागत है हमारे ब्लॉग पर। हमारा आज का टॉपिक एक ऐसी शारीरिक क्रिया है जिसे हम स्वयम् करते हैं अपनी इच्छा से सिर्फ अपने लिये। इस क्रिया से हमें यौन से सम्बंधित चरम सुख की प्राप्ति होती है। इस क्रिया को करने के लिये किसी साथी की जरूरत ही नहीं पड़ती। जी हां, हम बात कर रहे हैं हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान की। दोस्तो, सभी ने अपने जीवन में यह क्रिया अवश्य की होगी। एक रिसर्च में के अनुसार संयुक्त राज्य अमेरिका में 14 से 17 वर्ष की आयु के किशोरों में लगभग 74 प्रतिशत पुरुष और 48 प्रतिशत महिलायें हस्तमैथुन करते हैं और वयस्क लोगों में लगभग 63 प्रतिशत पुरुष व 32 प्रतिशत महिलायें हस्तमैथुन करते हैं। एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 95 प्रतिशत पुरुष और 89 प्रतिशत महिलायें प्रतिदिन हस्तमैथुन करते हैं। ये हस्तमैथुन क्रिया क्या है? जानते हैं इस बारे में।

हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान

हस्तमैथुन क्या है – what is Masturbation?

जब कोई पुरुष, बिना किसी साथी के, अपनी कामेच्छा को पूरा करने के लिये और यौन सुख प्राप्त करने के लिये अपने जननांग को हाथ में लेकर बहुत जोर जोर से हिलाता है या उसकी त्वचा को आगे पीछे करता है या पेट के बल लेट कर तकिये से रगड़ता है; जब तक कि उसका वीर्य ना निकल जाये, हस्तमैथुन कहलाता है। इस क्रिया में वह वास्तविक सहवास सुख का अनुभव करता है।

क्या हस्तमैथुन गलत है? – Is masturbation wrong?

एक शब्द में उत्तर – नहीं।

मगर क्यों? :-

जिस प्रकार हमें भूख लगती है, प्यास लगती है, हमारे शरीर को भोजन पानी की जरूरत होती है उसी प्रकार कामेच्छा की पूर्ती के लिये सहवास की जरूरत होती है। और जब सहवास के लिये साथी ना हो तो हस्तमैथुन ही एकमात्र उत्तम विकल्प होता है अपनी कामाग्नि को शांत करने के लिये। कामेच्छा भी हमारे शरीर की महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह एक प्राकृतिक, सरल और सुरक्षित उपाय है शारीरिक और मानसिक स्तर को नियंत्रित रखने, कामेचछा के तनाव को दूर करने और यौन सुख के लिये। इससे ना अपने को और ना किसी अन्य को कोई हानि नहीं होती।

ये भी पढ़े- स्वप्नदोष को दूर करने के घरेलू उपाय

वैज्ञानिक दृष्टि से भी इसे गलत नहीं माना गया अपितु इसे बेहतर स्वास्थ्य का विकल्प माना जाता है। विज्ञान इसे शरीर की एक सामान्य एक्सरसाइज़ के रूप में देखता है। 

कानून की दृष्टि से यह व्यक्ति के लिए बेहद निजी मामला है परन्तु हस्तमैथुन को सार्वजनिक रुप से प्रदर्शित करना कानूनी अपराध है। 

हस्तमैथुन करना क्यों ज़रुरी है? – Why is it necessary to masturbate?

मानसिक संतुलन बनाये रखने और शारीरिक जरूरत को पूरा करने के लिये हस्तमैथुन बहुत जरूरी है। वैज्ञानिक दृष्टि से यह क्रिया मानसिक तनाव को दूर करने के लिये जरूरी है वर्ना आदमी विक्षिप्त (पागल) हो सकता है क्योंकि इसका कुप्रभाव मानसिक स्तर पर पड़ सकता है। इसे करने से आदमी ना तो पागल होता है, ना अंधा, ना आंखों के नीचे काले धब्बे पड़ते हैं और ना ही शरीर के विकास में कोई बाधा आती है। 

यह क्रिया यौन आनंद की चरमसीमा पर ले जाती है जिससे शरीर से ऑक्सिटॉक्सिन और एंडोर्फिन हॉर्मोन्स् निकल जाते हैं और आप बहुत हल्का अनुभव करते हैं।

हस्तमैथुन के बारे में भ्रान्तियां/मिथक (गलतफ़हमी) – Myths about Masturbation

दोस्तो, हमारे देश में सांस्कृतिक, धार्मिक, आध्यात्मिक और सामाजिक मान्यतायें अनमोल हैं और इन्हीं के चलते कुछ भ्रान्तियां उत्पन्न हो जाती हैं जो वैज्ञानिक आधार और सत्यता को स्वीकार करने में बाधक बनती हैं। ये भ्रान्तियां इस प्रकार हैं –

1. हस्तमैथुन को गलत और अनैतिक मानना।

2. हस्तमैथुन के बाद अपराध बोध और आत्मग्लानि अनुभव करना।

3. नपुंसकता।

4. जननांग का सिकुड़ जाना।

5. जननांग का टेढ़ा होना।

6. शुक्राणु खत्म हो जाना।

7. आंखें कमजोर होना।

8. बाल झड़ना।

9. शारीरिक कमजोरी।

10. मानसिक कमजोरी।

11. विवाहित या रिलेशनशिप रहने वालों का यह सोचना कि जोड़ों या दोनों में से कोई एक हस्तमैथुन करता है तो उनके सम्बंधों में उलझनें आ जायेंगी।

हस्तमैथुन के फायदे – Benefits of Masturabation

दोस्तो, हस्तमैथुन से होते हैं ये फायदे – 

1. हस्तमैथुन से यौन उत्तेजना बढ़ती है।

2. कामेच्छा पूरी होती है। कामेच्छा पूरी करने का सबसे अच्छा विकल्प।

3. यौन सुख मिलता है बिना किसी साथी के। 

ये भी पढ़े- नपुंसकता को दूर करने का देसी उपाय

4.  मानसिक तनाव से मुक्ति।

5. मूड तरोताजा और खुशनुमा रहता है।

6. आराम महसूस होता है।

7. सुरक्षित यौन क्रिया। किसी से कोई बीमारी मिलने का कोई खतरा नहीं।

9. चूंकि अकेले करते हो, तो किसी महिला के गर्भवती होने का प्रश्न ही नहीं।

10. सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि शरीर से ऑक्सिटॉक्सिन और एंडोर्फिन हॉर्मोन्स् निकल जाते हैं और आप बहुत हल्का अनुभव करते हैं इसी वजह से हस्तमैथुन के बाद बहुत अच्छी और गहरी नींद आती है।

हस्तमैथुन के नुकसान – Side Effect of Masturabation

दोस्तो, हस्तमैथुन के बारे में इतना कुछ जानने के बाद अब जानते हैं कि हस्तमैथुन के नुकसान के बारे में। यदि इसे क्रिया मान कर करोगे तो कोई नुकसान नहीं है। ना शारीरिक और ना मानसिक। हां, यदि इसे आदत बना लोगे तो हो सकते हैं कुछ निम्नलिखित नुकसान –

1. रफ़ तरीके से करने पर “अंग” पर सूजन हो सकती है जिसे एडिमा कहते हैं। यह सूजन कुछ दिनों में अपने आप ठीक जाती है।

2.  यदि “अंग” पर बहुत अधिक कसाव या पकड़ है तो तो उत्तेजना में कमी अनुभव कर सकते हैं 

3. दैनिक कामों/गतिविधियों में मन ना लगना।

4. परिवार,दोस्तों सगे सम्बन्धियों के लिये समय न निकाल पाना या उनके साथ उठने बैठने से कतराना। 

5. कार्य स्थल/स्कूल जाने से कतराना/मन ना लगना।

6. काम/पढ़ाई/उन्नति पर नकारात्मक प्रभाव पड़ना।

7. सामाजिक, धार्मिक कार्यक्रमों/समारोहों आदि में शामिल ना होना या उनको नजरअंदाज करना।

8. कमर/पिण्लियों में दर्द रहना।

9. आंखों में जलन रहना।

Conclusion

दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको पुरुषों द्वारा किये जाने वाले हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान के बारे विस्तारपूर्वक जानकारी दी। हस्तमैथुन से जुड़ी गलतफ़हमियों के बारे में बताया तो इससे होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में भी जानकारी दी। आशा है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर करें। ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, हमारा आज का यह लेख आपको कैसा लगा, इस बारे में कृपया अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health- Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer- यह लेख केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर उत्तरदायी नहीं है।  कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।


1 Comment

Shiv Kumar Kardam · January 15, 2021 at 2:55 am

It’s perfect Article.

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!