दोस्तो, आपका स्वागत है हमारे ब्लॉग पर। हमारा आज का टॉपिक है महिलाओं में कामेच्छा की कमी को दूर करने के देसी उपाय। दोस्तो, आपने पुरूषों की नपुंसकता के बारे में तो अवश्य ही सुना होगा कि अमुक व्यक्ति में कामोत्तजना की कमी है और इस पर हमने लिखा भी है लेकिन क्या कभी आपने किसी महिला के बारे में सुना है कि वह ठंडी औरत है। आज के लेख में हम आपको इसी विषय पर जानकारी देंगे कि औरत में ठंडेपन, जिसे अंग्रेजी में फ्रिजिडिटी कहते हैं, का क्या अर्थ होता है। क्या होती है ये कामेच्छा की कमी? तो,जानते हैं इसे।

महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के उपाय

कामेच्छा की कमी किसे कहते हैं? – What is Sexual Desire?

दोस्तो, जब किसी महिला में सेक्स के प्रति रुचि ना हो या कम हो यानि संभोग में मन ना लगता हो, या पुरूष द्वारा बार बार प्रयास करने पर भी महिला में कामेच्छा ना जागे; कामेच्छा की कमी या ठंडापन कहलाता है। वैसे स्त्री-पुरुष की कामेच्छा मापने का कोई मापदंड नहीं होता यह तो मन, मस्तिषक और तन से उठने वाली कामभावना और उत्तेजना पर निर्भर करता है। संभोग के समय कौन कितना परस्पर सहयोग करता है इस पर निर्भर करता है। परन्तु पति द्वारा छूने, चुम्बन या सहवास से पहले शरीर के अंगों से खिलवाड़ (Foreplay)  पर  भी कामेच्छा ना जागना, उत्तेजित ना होना, स्पष्ट संकेत है किसी महिला में कामेच्छा की कमी होने का। 

महिलाओं में कामेच्छा की कमी के लक्षण – Symptoms of Sexual Desire Deficiency

1. पति द्वारा सहवास की इच्छा जाहिर करने पर उत्तर ना देना या बहाने बनाना। 

2. पति के छूने, चुम्बन या सहवास से पहले शरीर के अंगों से खिलवाड़ (Foreplay)  से भी उत्तेजित ना होना।

3. पति द्वारा उपेक्षा या आत्मसम्मान को ठेस।

रात होते ही सिरदर्द, बदनदर्द या अन्य कोई बहाने बनाना।

4. संभवतः कोई यौन रोग होना।

5. सहवास के नाम से ही चिड़ होना। 

ये भी पढ़े- Periods के दर्द को कम करने के घरेलु उपाय

6. सेक्स के समय कोई प्रतिक्रिया ना देना यानि अपनी तरफ से कोई सहयोग ना करना।

7. सेक्स के समय ऑर्गेज्म का ना आना।

8. सहवास के समय दर्द होना।

9. कोई विकार मूत्र प्रणाली या जननांग में।

10. हार्मोन्स् में परिवर्तन।

11. मानसिक और मनोदशा में परिवर्तन।

12. नींद अधिक आना

13. कुछ दवाईयों की प्रतिक्रिया (Reaction)।

14. कोई विशेष सर्जरी का प्रभाव।

15. शारीरिक कमजोरी।

16. आंतरिक ऊर्जा की कमी।

17. योनि में सूखापन।

कामेच्छा की कमी के प्रभाव – Effects of Sexual Desire Deficiency

दोस्तो, महिला के ठंडेपन अर्थात् कामेच्छा की कमी के क्या कुप्रभाव पड़ते हैं, जानते हैं इस बारे में:-

1. पति-पत्नी के संबंधों में मधुरता समाप्त हो जाती है और कड़वाहट जन्म ले लेती है। 

2. यौन सुख से पति-पत्नी वंचित रह जाते हैं।

3. घर में क्लेश रहने लगता है।

4. संतानोत्पत्ति में बाधा।

ये भी पढ़े- महिलाओ में कमर दर्द के घरेलू उपाय

5. यदि बच्चे हैं तो पति पत्नी के बीच अप्रिय सम्बंध और लड़ाई, झगड़े का कुप्रभाव बच्चों के मन मस्तिष्क पर पड़ता है।

6. स्त्री के ठंडेपन के कारण पुरूष का परायी स्त्री के साथ संबंध बन जाने की संभावना होती है। 

7. ऐसी परिस्थिति में पुरुष का अपने ही परिवार की किसी महिला से अवैध सम्बंध हो जाते हैं। 

8. अवैध संबंधों के कारण अपराध के जन्म लेने की संभावना बन जाती है।

महिलाओं में कामेच्छा यानि ठंडापन की कमी के कारण – Cause to Sexual Desire in Women

दोस्तो, महिलाओं में कामेच्छा की कमी के अनेक कारण हो सकते हैं। इनमें कुछ मनोवैज्ञानिक कारण होते हैं तो कुछ शारीरिक। ये इस प्रकार हैं –

मनोवैज्ञानिक कारण – Psychological Reasons

1. मानसिक तनाव, चिंता, उदासी।

2. सेक्स के प्रति यह धारणा मन में  बैठ जाना कि सेक्स गलत है।

3. विवाह से पहले सेक्स से सम्बंधित किसी घटना का हो जाना।

4. विवाह पश्चात भी इच्छा के विरुद्ध जबरदस्ती संभोग का अनुभव या लगातार जबरदस्ती होते रहना।

5. पहली रात के संभोग का बुरा अनुभव। 

6. पुरुष का अप्रिय व्यवहार जैसे कि संभोग के बाद मुंह फेरकर सो जाना।

शारीरिक कारण –  Physical Reason

1. मासिक धर्म से सम्बंधित समस्यायें।

2.  शारीरिक कमजोरी।

3.  खराब स्वास्थ जैसे की दिल की बीमारी, अर्थराइटिस की समस्या, या कोई मानसिक बीमारी, या नींद ना आने की या नींद बहुत ज्यादा आने की समस्या।

4. शराब, ड्रग्स, धूम्रपान से टेस्टोस्टेरोन नामक हार्मोन के बनने में कमी आती है जिसका सीधा प्रभाव कामेच्छा पर पड़ता है। यह स्थायी रूप से खत्म भी होने की संभावना  रहती है।

5. गर्भ निरोधक गोलियों या बल्ड प्रेशर की दवाओं का भी कुप्रभाव कामेच्छा पर पड़ता है।

6.  योनि में संक्रमण।

7. सेरोटोनिन हार्मोन्स् की कमी होना। इससे भी कामेच्छा की कमी होने लगती है।

8. रजोनिवृत्ति हो जाना।

महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के देसी उपाय – Measures to Increase Sexual Desire in Women 

दोस्तो अब बताते हैं आपको महिलाओं में कामेच्छा की कमी को दूर करने/कामेच्छा को  बढ़ाने के देसी उपाय जो इस प्रकार  हैं – 

1. बातचीत (Discussion)- दोस्तो सामान्य तौर पर देखा गया है और माना भी जाता है कि समस्या कैसी भी हो उसका हल बातचीत के माध्यम से निकाला जा सकता है। जहां तक प्रश्न पत्नी का सहवास में पति के साथ सहयोग ना करने का है, तो पुरूष को धैर्य से काम लेना चाहिये प्यार से बात करके वजह जानने की कोशिश करनी चाहिये। और फिर वजह जानने के बाद समस्या सुलझाने का प्रयत्न करना चाहिये। उसे भरोसा दिलाइये कि आप हमेशा हर मुसीबत में उनके साथ हैं। यदि आपको लगे कि उनको मदद की जरूरत है तो उनकी मदद कीजिये। शारीरिक सम्बंध के लिये उनको बाध्य मत कीजिये, यह उनकी इच्छा पर छोड़िये। यदि वह इसके लिये समय चाहती हैं तो खुशी खुशी उनको समय दीजिये। कोई शारीरिक समस्या है तो इलाज कराइये। हो सकता कि आपके प्रेमपूर्ण व्यवहार से दोनों के जीवन में परिवर्तन आ जाये और आपके सेक्स रिलेशनशिप बहुत ही अच्छे हो जायें।

2. शतावरी (Asparagus)- शतावरी एक से लंबी बेल होती है जिसे ‘औषधियों की रानी’ कहा जाता है। इसका उपयोग महिलाओं में स्तनों में दूध की मात्रा बढ़ाने, मूत्र विसर्जन में होने वाली जलन को कम करने और कामोत्तेजना की कमी को पूरा करने के लिये किया जाता है। शतावरी में मौजूद फाइटोएस्ट्रोजन तत्व हार्मोन को संतुलित बनाए रखता है और सेक्स करने की इच्छा को प्रबल करता है। इसमें मौजूद एंटीइंफ्लेमेठवट्री गुण महिलाओं के अंग को उत्तेजित करता है। अतः शतावरी जड़ी-बूटी का उपयोग करें।

ये भी पढ़े- Likoria का घरेलू इलाज

3. लहसुन (Garlic)- लहसुन की तासीर गर्म होती है। यह बुरे कैलोस्ट्रोल को खत्म कर उच्च रक्तचाप को नियन्त्रित करता है। इसके सेवन से खून पतला होता है। साथ ही यह कमोत्तेजक भी है।  इसमें मौजूद एंटीकॉगुलेंट (anticoagulant ) गुण यौन अंगों में खून का संचार बढ़ा देता है जिससे कामेच्छा बढ़ती है। यदि महिला रोजना रात का खाना खाने के बाद और सहवास से एक घंटा पहले लहसुन की दो कच्ची कलियां शहद के साथ खाये तो कामेच्छा पूरी तरह बढ़ जायेगी।  यह ठंडी महिलाओं के लिये बेहद फायदेमंद है। 

4. अश्वगंधा (Ashwagandha)-  कई बार मानसिक तनाव के कारण महिलाओं में कामेच्छा दब कर रह जाती है। उनका ध्यान इस ओर जाता ही नहीं है या सहवास पर पूरी तरह फोकस नहीं कर पाती हैं। ऐसी अवस्था में अश्वगंधा का सेवन बहुत लाभदायक होता है। यह  मानसिक तनाव से राहत दिलाता है और सैक्स हार्मोन्स् को सक्रिय करता है। एक स्टडी के अनुसार अश्वगंधा महिलाओं के शरीर में कुछ विशेष हार्मोन्स् के स्राव को बढ़ाता है, जिससे  कामोत्तजना अपने आप बढ़ जाती है।  एक चम्मच अश्वगंधा चूर्ण सुबह खाली पेट पानी या दूध के साथ लें।

5. केसर (saffron)- केसर का अर्क और इसमें पाये जाने वाला क्रॉकेटिन कामोत्तेजक के रूप में बहुत प्रभावशाली होते हैं।  जिन महिलाओं की कामेच्छा कम हो चुकी है और सेक्स स्टेमिना भी कमजोर है उनके लिये केसर का सेवन उत्तम उपाय है। गाय के दूध में 0।5 ग्राम केसर और आधा चम्मच देशी घी मिलाकर पीने से महिलाओं की कामेच्छा बढ़ जायेगी। और उनमें स्फूर्ति, शक्ति और उत्साह बना रहेगा।  केसर के दो-तीन रेशों को गर्म पानी में डालकर बाद में चावल के साथ मिक्स करके खा सकती हैं। 

6. अशोक की छाल (Ashoka’s bark)- अशोक की छाल का उपयोग स्त्री रोग से सम्बंधित समस्याओं में किया जाता है। अशोक के वृक्ष में अल्कलॉइड, प्रोटीन, टैनिन, स्टेरॉयड, कार्बोहाइड्रेट, फ्लेवोनॉयड्स, ग्लाइकोसाइड, सैपोनिन जैसे खास तत्व होते हैं जो इसे उत्तम औषधी का दर्जा देते हैं। अशोक की छाल, फूल, पत्ते, और बीजों का उपयोग यौन समस्याओं को दूर करने में किया जाता है। अशोक का उपयोग निम्नप्रकार किया जा सकता है :-

   (i)  अशोक के मुलायम पत्तों से काढ़ा बनाकर रोज दो चम्मच ले सकते हैं।

   (ii)  छाल का चूर्ण – एक चम्मच रोजाना।

   (iii) बीजों से भी चूर्ण बना सकते हैं – आधा चम्मच रोजाना।

    (iii) छाल, पत्ते, फूल और जड़ का जूस – आधा कप पानी के साथ। 

7. अनार का रस (pomegranate juice)- अनार के रस में पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में खून के प्रवाह के साथ-साथ योनि में भी खून के प्रवाह को बढ़ाते हैं, ये उत्तेजना को बढ़ाने में अपना प्रभाव डालते हैं। रोजाना महिलाओं को रात का खाना खाने के बाद, बिस्तर पर जाने से लगभग एक घंटा पहले अनार का जूस पीना चाहिये। 

8. सेब (Apple)- सेब में एंटीऑक्सीडेंट, फ्लेवोनॉएड मौजूद होते हैं जो पाया जाता है जो महिलाओं की योनि में रक्त के प्रवाह को बढ़ाते हैं जिससे महिला सहवास के लिए प्राकृतिक तरीके से उत्तेजित होती है और सहवास भी देर तक बना रहता है। 

Conclusion

दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको महिलाओं में कामेच्छा की कमी के बारे में जानकारी दी। कामेच्छा की कमी के लक्षण, इसके कुप्रभाव और कारण बताये। इस कमी को दूर करने और कामेच्छा बढ़ाने के देसी उपाय भी बताये। आशा है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर करें। ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, हमारा आज का यह लेख आपको कैसा लगा, इस बारे में कृपया अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health- Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer- यह लेख केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर उत्तरदायी नहीं है।  कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।


2 Comments

Shiv Kumar Kardam · January 23, 2021 at 8:19 am

Excellent Article on Woman problem

  • Ram Haldia · January 26, 2021 at 1:47 pm

    Nice article

    Leave a Reply

    Avatar placeholder

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!