स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर।दोस्तो, सपनों की दुनियां भी बहुत विचित्र होती है।सपने हमको ऐसी जगह ले जाते हैं जहां की हम कल्पना भी नहीं कर सकते।कुछ अच्छे सपने तो कुछ बहुत बुरे।ये अच्छे, बुरे सपने हमें ना तो कुछ फायदा पंहुचाते हैं और ना कोई नुकसान। इनके अतिरिक्त एक सपना ऐसा भी होता है जिससे बहुत आनन्द मिलता है लेकिन वो हमारे स्वास्थ के लिये हानिकारक होता है।जी हां, हम बात कर रहे हैं स्वप्नदोष की, और यही है हमारा आज का टॉपिक है – स्वप्नदोष को दूर करने के घरेलू उपाय । तो समझते हैं इस स्वप्नदोष को कि ये है क्या?

स्वप्नदोष को दूर करने के घरेलू उपाय

स्वप्नदोष क्या है? What is Nightfall

दोस्तो, स्वप्नदोष कोई दोष नहीं अपितु शरीर की स्वाभाविक क्रिया है जिसके अंतर्गत सपने में पुरुष का “विशेष अंग” यानि प्राइवेट पार्ट रगड़ खाता है और स्खलित हो जाता है। अर्थात् जब सपने में पुरुष किसी महिला के साथ सहवास कर रहा होता है तो उसका वीर्यपात हो जाता है जिससे उसके कपड़े, चादर आदि खराब हो जाते हैं।जबकि वास्तविकता यह है कि उसका “अंग” बिस्तर पर रगड़ खा रहा होता है। 

दोस्तो, टेस्टोस्टेरॉन नाम के मेल हॉर्मोन की वजह से  पुरुष के उस “विशेष अंग” में उत्तेजना आती है।नींद में इस अंग में खून का प्रवाह बहुत बढ़ जाता है। टेस्टोस्टेरॉन की अधिकता होने पर और अंग में उत्तेजना होने पर वीर्य का बाहर निकलना स्वाभाविक है।और यदि पुरुष उस समय कामुक सपना देख रहा है तो वीर्यपात हो जायेगा। इसी दोष को स्वप्नदोष कहा जाता है।

क्या ये दोष है? – Is this the fault?

दोस्तो, हम पहले ही कह चुके हैं कि स्वप्नदोष कोई दोष नहीं अपितु शरीर की स्वाभाविक क्रिया है।इसमें ना तो पुरुष का कोई दोष नहीं और ना ही सपने का। क्योंकि, सपनों पर किसी का नियन्त्रण नहीं होता और ना ही सपने जानबूझ कर देखे जा सकते हैं। दोष होता है उन कारणों का जिनसे वासना वाले कामुक सपने आते हैं।इसलिये स्वप्नदोष यानि “शरीर की स्वाभाविक क्रिया” को यदि “घटना” कहा जाये तो उचित होगा। क्योंकि ऐसी घटना हर किसी के साथ नहीं होती।

कब किसके साथ ऐसी घटनायें होती हैं?

इसका कोई पैमाना नहीं है।किसी के साथ भी स्वप्नदोष वाली घटना हो सकती है। किशोरावस्था से युवावस्था में प्रवेश करने की आयु में या युवावस्था में अक्सर स्वप्नदोष होता है।और ऐसा सभी के साथ हो ये जरूरी भी नहीं है।किसी को हो सकता है तो किसी को नहीं.

स्वप्नदोष के कुप्रभाव – Nightfall/Dream Effects

दोस्तो, वैसे तो यह  “शरीर की स्वाभाविक क्रिया” है जो कि सामान्य है।यदि एक महीने में दो या तीन बार हो तो कोई बात नहीं परन्तु ये तीन बार से ज्यादा होने लगे तो अवश्य ही इसके निम्नलिखित कुप्रभाव देखे जा सकते हैं।

ये भी पढ़े- नपुंसकता को दूर करने का देसी उपाय

1. नींद ना आने की समस्या हो सकती है जिसे इंसोम्निया कहा जाता है।

2. शरीर में कमजोरी महसूस करना।

3. स्मरण शक्ति कमजोर होना।

4. दैनिक कामों में मन ना लगना और थकावट महसूस करना।

5. घुटनों, पिण्डलियों में दर्द रहना।

6. दृष्टि कमजोर हो जाना।

7. बाल झड़ने शुरू हो जाना।

8. हार्मोंस् में समस्या।

9. पेट खराब रहना जैसे गैस, कब्ज आदि।

10. पार्टनर के साथ सहवास के समय फुर्तीलेपन की कमी महसूस होना।

11. शुक्राणुओं में कमी आ जाना।

12. शरीर में खून की कमी हो सकती है।

13. कामुक विचारों की अधिकता होने से कुछ अच्छा और सकारात्मक ना सोच पाना। 

14. मानसिक तनाव रहना, उदासीन रहना या आत्मग्लानि से घिरे रहना।

स्वप्नदोष के कारण – Cause of Nightfall in Hindi

दोस्तो, स्वप्नदोष के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं –

1. टेस्टोस्टेरॉन नामक हार्मोन की अधिकता।जब शरीर में इसकी मात्रा बढ़ जाती है तो यह “अंग” को उत्तेजित तो करता ही है साथ ही स्पर्म को बाहर निकालने का काम भी करता है।

2. पेट के बल सोना।इससे “अंग” में रगड़ को बढ़ावा मिलता है।

       (पढ़ें – सोने के सही तरीके)

3. अश्लील साहित्य पढ़ना।

4. पोर्न फिल्मों की लत।

5. किसी महिला की छवि अपने दिमाग में बिठाकर रखना।

6. कामुक विचारों का दिमाग पर छाये रहना, विशेषकर रात को सोते समय काम, वासना के बारे में सोचना।

7. सोने से पहले गर्म दूध पीना।या पपीता खाना।

8. रात में मूत्र को रोक कर रखना।

9. तीखा और अधिक मिर्च मसाले वाला भोजन करना, विशेषकर रात को।

10. टाइट कपड़े पहर कर सोना।

स्वप्नदोष को दूर करने के घरेलू उपाय – Home Remedies to Remove Nightfall

दोस्तो, अब आपको बताते हैं स्वप्नदोष के देसी उपचार जो निम्न प्रकार हैं –

1. तुलसी (Basil)- तुलसी की कुछ पत्तियां रात को सोने से दो घंटे पहले, चबाकर खायें और पानी पी लें।पानी के साथ पिसी हुई तुलसी की जड़ के पानी को पीने से भी लाभ मिलेगा।

2.आंवला (Gooseberry)- प्रतिदिन ताजे आंवला का सेवन  करने से लाभ होता है।प्रतिदिन आंवला के जूस में हल्दी और शहद भी मिला सकते हैं।आंवला के पाउडर को पानी में मिलाकर दिन में दो, तीन बार पी सकते हैं।स्वप्नदोष में निश्चित रूप से फायदा होगा.

3.आंवला और मिश्री (Amla and sugar candy)- आंवला पाउडर और पिसी हुई मिश्री को मिक्स करके सुबह-शाम सेवन करें।एक गिलास आंवला का जूस से स्वप्नदोष की समस्या से जल्दी छुटकारा मिलेगा.

4.बादाम दूध (Almond, milk)- रात भर भीगे हुऐ 4 या 5 बादाम का छिलका उतार कर पीस लें फिर गुनगुने दूध में डालकर थोड़ा शहद भी मिक्स कर लें।रात को सोने से एक घंटा पहले पी लें।शहद की जगह मिश्री भी डाल सकते हैं।

5. लौकी (Gourd)- लौकी की तासीर ठंडक दिलाती है।ये ठंडक स्वप्नदोष प्रणाली को नियन्त्रित करती है। लौकी का जूस पीने से स्वप्नदोष में फायदा होगा।

ये भी पढ़े- पपीता खाने के फायदे और नुकसान

6. केला और दूध (Banana and milk)- केला की तासीर भी ठंडी होती है।सुबह ब्रेकफास्ट में दो केले और दूध का सेवन करें.

7. केला, बादाम, और अदरक(Banana, Almond, and Ginger)- इन सब को (बादाम भीगे हुऐ) दूध में मिलाकर पीने से समस्या से छुटकारा मिल जायेगा।

8. दही (Curd)- दही की तासीर भी ठंडी होती है।यह शरीर के सिस्टम को ठंडा रखती है और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाती है।यह स्वप्नदोष के उपचार का उत्तम विकल्प है।सुबह, शाम और रात को दही या दही का रायता, छाछ आदि का सेवन करें।दही के सेवन से रात को नींद भी अच्छ आयेगी.

9. मेथी (Fenugreek)- दो चम्मच मेथी के बीज के जूस को एक चम्मच शहद में मिलाकर सोने से पहले पीयें। स्वप्नदोष में फायदा होगा।मेथी के बीज हार्मोन्स् को नियन्त्रित रखेंगे।

10. मेथी और अजवाइन (Fenugreek and celery)- मेथी और अजवाइन का जूस भी शीघ्रपतन (Premature ejaculation) और स्वप्नदोष में फायदेमंद होता है। मेथी और अजवाइन के जूस (2 : 1 का अनुपात) में एक चम्मच शहद मिक्स करके पीना चाहिये।

11.अनार (Pomegranate)- सूखे हुऐ अनार के छिलकों के पाउडर को शहद के साथ दिन में दो बार सेवन करें।

12.अनार जूस (Pomegranate juice)- अनार के छिलकों के पाउडर से यदि फायदा ना लगे तो प्रतिदिन अनार जूस पीयें या जूस के बजाये अनार दाने खायें।

13. प्याज (onion)- प्याज में अनेकों गुण होते हैं जो हमें अनेक बीमारियों से बचाते हैं।स्वप्नदोष में भी प्याज बहुत मददगार होती है।प्याज के रस में थोड़ा सा शहद मिलाकर पीयें। प्याज को सलाद के रूप में भी इस्तेमाल करें।यह स्वप्नदोष के उपचार का अच्छा विकल्प है।

14. लहसुन (Garlic)- एलिसिन गुण से सम्पन्न लहसुन स्पर्म के रिसाव को रोकने में मदद करता है जिससे स्वप्नदोष की समस्या से छुटकारा मिलता है।सिर्फ लहसुन की दो कलियां खानी हैं और पानी पी लेना है।या फिर लहसुन खाने के बाद पानी की बजाय गाजर का जूस पी लें।

15. त्रिफला (Triphala)- त्रिफला चूर्ण को रात भर के लिये पानी में भिगो दें।सुबह छान कर पी लें। आराम लगेगा.

कुछ सावधानियां :-

दोस्तो, यदि कुछ निम्नलिखित सावधानियां बरती जायें तो स्वप्नदोष जैसी समस्या से बचा जा सकता है –

1. आचार, विचार और व्यवहार में शुद्धता रखें।

2. सोने से पहले अपनी पसंद की अच्छी पुस्तकें पढें।

3. अपनी पसंद का संगीत सुनें।

4. ज्यादा तीखा, मिर्च मसाले वाला भोजन ना करें।

5. धूम्रपान ना करें।

6. ज्यादा शराब ना पीयें।

7. ड्रग्स ना लें।

8. पोर्न वीडियोज़ से बचें।

9. कामुक विचारों को मन में ना लायें।

10. मस्तिषक को शांत रखें।तनाव मुक्त रहें।

11. सोने से पहले घुटने और पैरों को ठंडे पानी से धोयें।सर्दी में हल्का गुनगुना पानी ठीक रहेगा।

12. पेट के बल ना सोयें।

13. रात का भोजन करने के बाद और सोने से पहले मूत्र विसर्जन करें।

14. सोने से एक या दो घंटे पहले पानी या अन्य तरल पदार्थ ना पीयें।

Conclusion

दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको स्वप्नदोष के बारे में जानकारी दी।शरीर पर पड़ने वाले स्वप्नदोष के कुप्रभाव, इसके कारण और स्वप्नदोष को दूर करने के घरेलू उपाय भी बताये है। आशा है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा।आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर करें।ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें।दोस्तो, हमारा आज का यह लेख आपको कैसा लगा, इस बारे में कृपया अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके।और हम आपके लिए ऐसे ही Health- Related Topic लाते रहें।धन्यवाद।

Disclaimer- यह लेख केवल जानकारी मात्र है।किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर उत्तरदायी नहीं है। कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

error: Content is protected !!