दोस्तो, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर। दोस्तो, सर्दियां समाप्त होने पर गर्म कपड़ों का बोझ कम होने लगता है, भारी भरकम स्वेटर, जर्सी, कोट, ओवरकोट, जैकेट्स से छुटकारा पाकर शरीर बहुत रिलैक्स फील करता है। और लोगबाग गर्मियों के मतलब के सामान्य कपड़े पहनने लगते हैं। पुरुष हाफ बाजू की शर्ट, टी-शर्ट पहनने लगते हैं तो महिलाऐं स्लीव लैस कुर्ती और स्लीव लैस ब्लाउज पहनना पसंद करती हैं। परन्तु महिलाओं की ये पसंद उनको उस समय निराश कर देती है जब ये नोटिस करती हैं कि उनकी बगल यानी अंडरआर्म्स की त्वचा का रंग गहरा यानी काला हो गया है। उनको खुद बुरा लगता है। मगर करें क्या?। दोस्तो, यही है हमारा आज का टॉपिक “अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के उपाय”। आज के लेख में हम आपको अंडरआर्म्स के कालेपन पर जानकारी देंगे और यह अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के देसी उपाय भी बतायेंगे। सबसे पहले जानते हैं कि अंडरआर्म्स किसे कहते हैं और इसका कालापन क्या होता है?।

अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के उपाय

अंडरआर्म्स किसे कहते हैं – What are Underarms

दोनों बाजू यानी बांहों के ऊपर की तरफ, कंधे से जुड़ाव के नीचे वाले हिस्से को बगल या अंडरआर्म्स कहा जाता है। यहां की त्वचा अति संवेदनशील और मुलायम होती है। इस क्षेत्र को रैशेस, पिगमेंटेशन, संक्रमण, पिम्पल्स आदि से बचाना बहुत जरूरी होता है। 

अंडरआर्म्स का कालापन क्या होता है – What is Dark Underarms

दोस्तो, हमने पिछले लेख में बताया था कि प्राइवेट पार्ट की त्वचा शरीर की सामान्य त्वचा से थोड़ा डार्क होती है। परन्तु अंडरआर्म्स की त्वचा के साथ ऐसा नहीं है। अंडरआर्म्स की त्वचा का रंग शरीर के अन्य हिस्सों की त्वचा के रंग के समान ही होता है। इनमें कोई अंतर नहीं होता, किन्तु विभिन्न कारणों से अंडरआर्म्स की त्वचा का रंग जब डार्क हो जाये तो इसे अंडरआर्म्स का कालापन कहा जाता है। 

ये भी पढ़ें- प्राइवेट पार्ट का कालापन दूर करने के उपाय

अंडरआर्म्स में कालापन होने के कारण – Causes of Dark Underarms

अंडरआर्म्स में कालापन होने के सकते हैं निम्नलिखित कारण :-

1. अंडरआर्म्स के बालों को रिमूव करने के लिये रेजर का इस्तेमाल करने से यहां की त्वचा काली पड़ जाती है और बाल भी सख्त हो जाते हैं। 

2. निम्न कोटि (Low quality) की हेयर रिमूवल क्रीम इस्तेमाल करना। इनमें पाये जाने वाले हानिकारक रसायन से अंडरआर्म्स की त्वचा काली पड़ जाती  है। या अच्छी वाली क्रीम का भी बहुत अधिक उपयोग। 

3. नहाते समय ठीक से सफाई ना करना। 

4. डियोडरेंट्स (Deodorants) का अधिक इस्तेमाल करना। 

5. मोटापे के कारण बगल शरीर से कुछ अधिक ही रगड़ा खाती है क्योंकि चलने में बाजुओं की मूवमेंट तो होती ही है। इस वजह से उस एरिया में लाल चकत्ते जैसे निशान बन जाते हैं जो बाद में कालेपन में बदल जाते हैं। और जब पसीना भी आया हुआ हो तो और भी अधिक ये निशान बनने की संभावना रहती है। 

6. एकोन्थोसिस निगरिकैन्स (Acanthosis nigricans) नामक रोग की वजह से अंडरआर्म, गर्दन आदि की त्वचा का रंग काला पड़ जाता है।

7. विशेष दवाओं के कारण जैसे इंसुलिन, कॉरटीकोस्टेरॉयड, ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन, बर्थ कंट्रोल पिल्स, नियासिन (Niacin) की उच्च मात्रा से भी अंडरआर्म्स की त्वचा काली पड़ सकती है। 

8. हार्मोन्स् में असंतुलन।

देसी हैल्थ् क्लब की सलाह – Desi Health Club Advice

देसी हैल्थ् क्लब यह सलाह देता है कि अंडरआर्म्स के बालों को रिमूव करने के लिये देसी उपायों का उपयोग करें। हम जल्द ही इस बारे में लेख (Article) ले के आयेंगे।

अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के उपाय – How to Remove Blackness of Underarms

1. आलू (Potato)- आलू प्राकृतिक ब्लीच है। अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के लिये बहुत उत्तम उपाय है। इसमें मौजूद केटाकोलिस नाम का एंजाइम कालेपन से राहत दिलाने में मदद करता है। आलू का रस निकाल कर रूई की मदद से अंडरआर्म्स पर लगाकर 10-15 मिनट तक मालिश करें और बाद में धो लें। या नहाने से पहले इसके पतले स्लाइस काट कर भी इनसे अंडरआर्म्स पर 10 मिनट तक अच्छी तरह रगड़िये। रोजाना ऐसा करने से बहुत जल्दी अंडरआर्म्स का कालापन दूर हो जायेगा। आलू में एंटी-इरिटैंट के गुण भी होते हैं। पिगमेंटेशन के कारण त्वचा के दाग और खुजली की समस्या भी आलू के उपयोग से खत्म हो जाती है। 

ये भी पढ़ें- गोरा होने का घरेलू उपाय

2. टमाटर (Tomatoes)- टमाटर में प्राकृतिक एंटीऑक्‍सीडेंट्स होते हैं। आलू की तरह, टमाटर के भी पतले स्लाइस काटिये और अंडरआर्म्स पर अच्‍छी तरह रगड़ें और छोड़ दें। 10-15 मिनट बाद अंडरआर्म्स एरिया को पानी से धो लें। प्रतिदिन ऐसा करने से बहुत ही जल्दी कालापन खत्म हो जायेगा और त्वचा का रंग सामान्य हो में जायेगा।

3. ककड़ी (Cucumber)- त्वचा में निखार लाने का ककड़ी अच्छा विकल्प है। इसे अत्यन्त प्रभावशाली उपाय माना जाता है। ककड़ी के स्लाइस काटकर अंडरआर्म्स एरिया पर खूब अच्छी तरह रगड़ें और सूखने दें। सूखने के बाद इस पर शहद लगायें और इसे दुबारा फिर सूखने दें। सूखने जाने पर इसे पानी से धो लें।

4. खीरा (Cucumber)- ककड़ी के समान ही खीरा भी त्वचा का कालापन दूर करने का अत्यन्त शक्तिशाली उपाय माना जाता है। खीरा के छोटे-छोटे टुकड़े काट कर, पीस कर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट में आधा चम्मच शहद मिलाकर अंडरआर्म्स  में लगायें और सूखने दें। सूख जाने पर पानी से धो लें। खीरा का उपयोग अधिकतर आंखों को शीतलता देने और आंखों के नीचे झाईयां, कालापन दूर करने के लिये किया जाता है। इसमें त्वचा को नखारने के यही गुण आंखों की तरह समान रूप से अंडरआर्म्स का कालापन भी दूर करता है। 

ये भी पढ़ें- खीरा खाने के फायदे

5. संतरे का छिलका (Orange Peel)- संतरे के छिल्‍कों को पाउडर त्वचा को निखारने के लिये बहुत लाभकारी है। दोस्तो, देसी हैल्थ क्लब ने अपने पिछले Article प्राइवेट पार्ट का कालापन दूर करने के उपाय में, संतरे के छिल्‍कों का पाउडर बनाने के बारे में बताया था। इस पाउडर का उपयोग अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के लिये भी किया जा सकता है। संतरे के छिल्‍कों के पाउडर में आधा चम्मच हल्दी पाउडर और आधा चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह पेस्ट बनाकर अंडरआर्म्स एरिया पर लगाकर 10-15 मिनट के लिये छोड़ दें फिर बाद में पानी से धो लें। या संतरे के छिल्‍कों के पाउडर में एक-एक चम्मच गुलाब जल और दूध मिलाकर पेस्ट बनाकर अंडरआर्म्स में लगाकर स्क्रब करें और छोड़ दें। इसके सूखने पर पानी से धो लें। 

6. एलोवेरा (Aloe Vera)- एलोवेरा प्राकृतिक रूप से एंटीबैक्टीरियल गुणों से समृद्ध होता है जो इरिटेटेड त्वचा से आराम दिलाते हैं और त्वचा की सूजन को कम करते हैं। एलोवेरा में पाये जाने वाला एलोसीन एक टाएरोसिनेस इन्हिबिटर (Tyrosinase inhibitor) है जो एक प्रकार का एंजाइम (Enzyme) है। यह त्वचा पर पिगमेंटेशन  (Pigmentation) का कारक माना जाता है। एलोवेरा जैल इस एंजाइम (Enzyme) की गतिविधियों को बाधित कर त्वचा कालेपन को दूर करने में मदद करता है। एलोवेरा के ताजा पत्ते का जैल निकाल कर अंडरआर्म्स में लगाकर हल्के-हल्के मालिश करें और इसे लगा रहने दें। 10-15 मिनट बाद पानी से धो लें। हफ्ते में तीन दिन अवश्य करें। 

ये भी पढ़ें- एलोवेरा के फायदे

7. नींबू (Lemon)- नींबू भी आलू की तरह एक प्राकृतिक ब्लीच है। इसमें पाये जाने वाला सिट्रिक एसिड में प्राकृतिक एक्सफोलिएंट और ब्लीच करने के गुण होते हैं। ये गुण अंडरआर्म्स पर बहुत अच्छे तरीके से ब्लीच करने में मदद करते हैं। त्वचा के रंग को हल्का कर त्वचा को निखारने का काम करते हैं। नींबू के टुकड़े काटकर अंडरआर्म्स पर लगाकर 5-7 मिनट तक अच्छे से स्क्रब करें और इसे लगा रहने दें। 10 मिनट बाद पानी से धो लें। हफ्ते में तीन दिन अवश्य करें। 

8. हल्दी (Turmeric)- हल्दी एक सम्पूर्ण औषधी मानी जाती है। यह एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टेरियल गुणों से समृद्ध होती है और त्वचा रोग व चोट आदि में रामबाण उपाय। एक चम्मच हल्दी पाउडर में एक-एक चम्मच दूध और शहद मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को अंडरआर्म्स में लगाकर छोड़ दें। लगभग 10-15 मिनट बाद धो लें। रोजाना इस पैक को लगाने से त्वचा का कालापन हल्का पड़ने लगेगा।  दूध और शहद के बजाय, हल्दी पाउडर में बेसन, दही, नींबू का रस भी मिलाकर पेस्ट तैयार किया जा सकता है। 

9. गुलाब जल और सोडा (Rose Water and Soda)- गुलाब जल का उपयोग त्वचा के सौन्दर्यकरण (Beautification) के लिये किया जाता है। गुलाब जल में त्वचा का PH स्तर संतुलित करने के और परिसंचरण को उत्तेजित करने के (to stimulate circulation) गुण होते हैं और साथ ही ये गुण त्वचा को निखारने और मॉइस्चराइज़ करने का काम करते हैं। बेकिंग सोडा एक्फोलिएंट के रूप में काम करता है जो त्वचा से मृत कोशिकाओं (Dead cells) को हटाने का काम करता है। बेकिंग सोडा में  गुलाब जल डालकर गाढ़ा पेस्ट तैयार करें, फिर इस पेस्ट को अंडरआर्म्स में लगाकर छोड़ दें। थोड़ी देर बाद, इसके सूख जाने पर  पानी से धो लें। 

10. सेब का सिरका (Apple Vinegar)- सेब के सिरके का एसिड डिसइंफेक्टैन्ट (Disinfectant) के रूप में काम करता है साथ ही मृत कोशिकाओं को त्वचा से हटाकर कालापन दूर करता है। दो चम्मच सेब के सिरके में दो चम्मच बेकिंग सोडा डालकर अच्छी तरह मिलायें। इसमें से जब बुलबुले निकलने बंद हो जायें तब रुई की मदद से इसे अंडरआर्म्स में लगाकर छोड़ दें। जब यह सुख जाये तब पानी से धो लें। इसे हफ्ते में दिन बार अवश्य लगायें। 

11. मुल्तानी मिट्टी (Multani Mitti)- मुल्तानी मिट्टी को त्वचा रोग में  प्राकृतिक उपचार और सौंदर्यीकरण का उत्तम विकल्प माना जाता है। औषधीय गुणों के कारण मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल त्वचा, बालों के स्वास्थ, शारीरिक स्वास्थ और  सौंदर्य के लिये किया जाता है। इसमें, सफाई, तैल अवशोषण और एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं। एक-एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी पाउडर, चंदन पाउडर और एक चौथाई (1/4) चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर अंडरआर्म्स में लगायें। थोड़ी देर बाद इसके सूख जाने पर बहुत हल्के गुनगुने पानी से धो लें। मुल्तानी मिट्टी पाउडर में नींबू का रस मिलाकर भी पेस्ट बनाकर लगाया जा सकता है। 

ये भी पढ़ें- मुल्तानी मिट्टी के फायदे

12. फिटकरी (Alum)- हानिकारक माइक्रोब्स खुजली और पसीने का कारण होते हैं परिणामस्वरूप अंडरआर्म्स में कालापन आने लगता है। इसे दूर करने के लिये फिटकरी को पीसकर पाउडर बना लें। इसमें बहुत हल्का सा पानी मिला लें। इस मिश्रण को अंडरआर्म्स में लगायें। थोड़ी देर बाद इसके सूख जाने पर पानी से धो लें। इसे हफ्ते में तीन दिन करें। 

13. बादाम का तेल (Badam Oil)- बादाम में भी आलू, टमाटर की तरह प्राकृतिक ब्लीचिंग गुण होते हैं। बादाम का तेल अंडरआर्म्स के कालेपन को दूर करने में मदद करता है। यह बहुत ही सरल तरीका है। रोजाना बादाम तेल की कुछ बूंदें अंडरआर्म्स में लगाकर 10-15 मिनट तक मालिश करें। इसके फाइटोकेमिकल्स कालापन को दूर करेंगे और विटामिन-ई त्वचा को मुलायम बनाये रखेगा। 

14. जैतून का तेल (Olive oil) – जैतून का तेल बहुत पौष्टिक होता है। यह त्वचा को हाइड्रेट रखता है। और यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है। अंडरआर्म्स के कालेपन को दूर करने के लिये दो चम्मच जैतून के तेल में  दो चम्मच ब्राउन शुगर अच्छी तरह मिला लें। अब अंडरआर्म्स को पानी से हल्का सा गीला करके इस मिश्रण को अंडरआर्म्स में लगायें और थोड़ी देर मालिश करके छोड़ दें। 5-7 मिनट बाद हल्के गुनगुने पानी से धो लें। 

15. सुरजमूखी का तेल (Sunflower Oil) – सुरजमूखी का तेल विटामिन ई से भरपूर होता है जो त्वचा को मुलायम बनाये रखता है और त्वचा की रंगत निखारने में मदद करता है। अंडरआर्म्स के कालेपन को दूर करने के लिये सूरजमुखी के तेल की कुछ बूंदें अंडरआर्म्स पर लगाकर अच्छे से मालिश करें। फिर 10-15 मिनट बाद, हल्के गुनगुने पानी से धो लें। यह प्रक्रिया दिन में दो बार दोहराई जा सकती है।  

ये भी पढ़ें- मस्से हटाने के घरेलू उपाय

16. अरंडी का तेल (Castor Oil) – अरंडी के तेल की यह खासियत है कि यह त्वचा की अशुद्धियों को अवशोषित (Absorb) करने और रोमछिद्रों को साफ़ करने में मदद करता है। यह त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटा देता है, जिसके कारण अंडरआर्म्स का कालेपन दूर हो जाता है औरर त्वचा फिर से सामान्य रंग की होने लगती है। केवल आपको इतना करना है कि नहाने से पहले इस तेल की कुछ बूंदें अंडरआर्म्स पर लगाकर अच्छे से मालिश करनी है। 

Conclusion – 

दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के उपाय के बारे में जानकारी दी। अंडरआर्म्स किसे कहते हैं। इसका कालापन क्या होता है और इसके कालेपन के कारण क्या होते हैं, इन सबके बारे में भी विस्तारपूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस लेख के माध्यम से अंडरआर्म्स के कालेपन को दूर करने के बहुत सारे देसी उपाय भी बताये। आशा है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा। 

दोस्तो, इस लेख से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो लेख के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह लेख आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और  सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health- Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer – यह लेख केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर उत्तरदायी नहीं है।  कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

Summary
अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के उपाय
Article Name
अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के उपाय
Description
दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको अंडरआर्म्स के कालेपन के बारे में जानकारी दी। अंडरआर्म्स किसे कहते हैं। इसका कालापन क्या होता है और इसके कालेपन के कारण क्या होते हैं, इन सबके बारे में भी विस्तारपूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस लेख के माध्यम से अंडरआर्म्स के कालेपन को दूर करने के बहुत सारे देसी उपाय भी बताये। आशा है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo
error: Content is protected !!