एक तरफ लोग पहले ही कोरोना वायरस के चलते काफी परेशान है।  वही अब डेंगू जैसे खतरनाक  बीमारी भी आने लगी है। corona Virus के साथ-साथ Dengue भी तेजी से बढ़ रहा है। बता दें, डेंगू वायरस Aedes मच्छर के काटने से होता है। Corona Virus और Dengue में अंतर कुछ ख़ास नहीं है। दोनों के ही शुरूआती लक्षण बुखार से शुरू होते हैं। इन दोनों में अंतर देखकर आपको चिकित्सीय मदद लेनी चाहिए।

बारिश का मौसम आते ही तमाम बीमारियाँ भी आना शुरू हो जाती हैं। जहाँ लोग कोरोना (Corona) से डर रहे थे।  वही अब डेंगू (Dengue)भी किसी वायरस से कम नहीं है। आज हम आपकी परेशानी को दूर करने के लिए Corona Virus और Dengue में क्या अंतर है।  उसके बारे में बात करेंगे और कुछ घरेलु उपाए भी बताएँगे जिससे आप खुद को बचा सकेंगे।

Corona Virus और Dengue में अंतर है

डेंगू के लक्षण (Symptoms of Dengue):-

1. बुखार के साथ चक्कर आना

2. बार-बार उलटी आना

3. तेज सिर दर्द होना

4. थकान महसूस होना

5. धड़कने तेज होना

6. साँस लेने में तकलीफ होना

7. पेट दर्द और गड़बड़ी होना

8. घबराहट होना

9. शरीर पर रैशेज पड़ना

10. मसूड़ों में खून आने के साथ खून की उलटी आना

Read more:- मेथी दाने के फायदे

कोरोना वायरस  के लक्षण (Symptoms of Coronavirus):-

1. तेज बुखार आना

2. साँस लेने में दिक्कत के साथ बलगम वाली खांसी आना

3. पेट ख़राब होना

4. स्वाद ना आना

5. सुगंध ना आना

6. स्किन एलर्जी होना

7. हाथ और पैर की उंगलियों में सूजन आना

Corona Virus और Dengue के घरेलु उपचार

आपके जानकारी के लिए बता दूँ। क़ि दोनों बीमारियों में आपको बचने के लिए अपनी इम्यूनिटी सिस्टम को ठीक रखना ही होगा। इस लिए अपनी डाइट चार्ट में इम्यूनिटी बूस्ट करने वाली चीजों को शामिल करे। साथ में योग और मॉर्निंग वाक भी करे। इससे आपकी हेअल्थ भी ठीक रहेगा और आपमें कई बीमारियों से लड़ने क़ि ताकत भी आजायेगी। तो चलिए आगे देखते है की हम Corona virus और Dengue को को किन घरेलु उपायों से ठीक कर सकते है।

गिलोय जूस (Giloy Juice)

Dengue के बुखार से बचने के लिए गिलोय जूस को कारगार माना गया है। गिलोय जूस मेटाबोलिज्म बेहतर करने के साथ-साथ इम्युनिटी भी स्ट्रांग करता है। स्ट्रांग इम्युनिटी Dengueके बुखार से लड़ने में शरीर की मदद करती है। इससे प्लेटलेट काउंट बढ़ता है और रोगी को बेहतर लगता है। एक गिलास पानी में दो छोटे गिलोय के तनों को उबाल लें और इस पानी को गुनगुना होने पर पी लें। इसे दिन में दो बार से अधिक न पिएं।

हल्दी वाला दूध (Turmeric Milk)

हल्दी वाला दूध हेल्थ के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। यह आपको बहुत से बीमारीए से बचाता है। इसे आप रात में सोने से पहले और एक गिलास और सुबह एक गिलास दूध में हल्दी दाल कर पिए।

पपीते के पत्ते का जूस (Papaya Leaf Juice)

डेंगू (Dengue) के मरीजों में प्लेटलेट काउंट कम हो जाता है, इन्हें बढ़ाने के लिए पपीते की पत्तियां बहुत कारगर सिद्ध होती हैं। पपीते के पत्तों के जूस से इम्युनिटी भी बढ़ती है और प्लेटलेट काउंट भी बढ़ता है। डेंगू से पीड़ित मरीज को चाहिए कि वह या उसके परिजन पपीते की पत्तियां लें और इन्हें धोकर क्रश कर दें। इसके बाद अच्छे से इनका जूस निकाल लें। अब अच्छे परिणाम के लिए इस जूस को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में दिन में दो बार पिएं।

conclusion

आपके जानकारी के लिए बता दूँ। दोनों ही बीमारियों में कुछ लक्षण एक जैसे तो कुछ अलग हैं, लेकिन दोनों ही बीमारियों में डॉक्टर से जांच कराना बेहद जरूरी है।
यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी है ,तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के बता सकते है। आप अपने किसी दोस्त या परिजनों के साथ शेयर भी कर सकते है ताकि उन्हें भी कुछ लाभ मिल सके धन्यवाद।


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *