दोस्तों आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव हुए चिंता से हर व्यक्ति पीड़ित है, इसके साथ घबराहट, चिंता, दिल का जोर से धड़कना, ऐसी Problem होती रहती हैं। तनाव और मानसिक अशांति में योग रामबाण साबित होता है, योग कोर्टिसोल और एड्रनलिन हार्मोन्स, जिसके बजह से हम तनाव महसूस कराता है। योग से शरीर को Energy तो मिलती ही है साथ साथ मन को भी शांत कर पाते हैं। यहां हम आपके साथ कुछ बातें शेयर करने जा रहे है, कि yoga से Anxiety कैसे दूर करें 

Yoga से Anxiety कैसे दूर करें

एंग्जायटी के लक्षण (Symptoms of Anxiety)

Anxiety के बहुत से कारण हो सकते है, हम आपको बताएँगे कि yoga से Anxiety को कैसे दूर करें और Anxiety के क्या -क्या लक्षण होते है। जैसे:-

1.असामान्य रूप से घबराहट या बेचैनी महसूस करना तथा किसी प्रकार का भय प्रतीत होना |

2. किसी तरह की घटना घटित हो जाने पर उससे सम्बंधित विचारों का बार बार याद आना |

3. रात में सोते समय बुरे सपने देख लेने की वजह से जाग जाना|

4. अनिद्रा से परेशान रहना

5. दिल की धड़कन का बार बार बढ़ जाना|

6.असामान्य रूप से हाथ पेरो में पसीना आना

Yoga से Anxiety कैसे दूर करें (Yoga for Anxiety)

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार चिंता, भय और तनाव से मुक्त होने का सबसे असरदार, आसान और बेहतरीन तरीका योग है। इससे शरीर स्वस्थ होता है, बल्कि तनाव सम्बंधित हॉर्मोन्स (Hormones) भी नियंत्रित रहते है। उनके अनुसार, योग आहार सम्बन्धी समस्या जैसे मधुमेह (Diabetes), उच्चरक्तचाप (High Blood Pressure), कोलेस्ट्रोल (Cholesterol)और मोटापा आदि को दूर करने में बहुत प्रभावी भूमिका निभाता है। आइये जानते है yoga से Anxiety कैसे दूर करें। तो चलिए हम आपको बताते है कौन से योग से  Anxiety को दूर कर सकते है।

1 अनुलोम विलोम(Anulom Antonyms)

इस आसान को करने से ऑक्सिजन की पर्याप्त मात्रा मस्तिष्क में पहुँचती है। जिससे मन शांत और तनाव दूर होता है। इस प्राणायाम को करने से साइनासाइटिस का कष्ट तथा मानसिक तनाव का स्तर कम होता है। तो आगे देखते है इस आसान को कैसे करे। सबसे पहले सुखासन या पद्मासन की अवस्था में बैठ जाये ओर आँखों को बंद कर लें। फिर अपने दायें हाथ अंगूठे से दायी हाथ की नाक छिद्र को बंद करें फिर साँस को बायें छिद्र से अंदर लें। अब बायें छिद्र को अंगूठे के पास वाली दो उंगलियो से बंद कर लें और दायें छिद्र से अंगूठा हटाकर साँस को छोड़े। अब इस प्रक्रिया को बायें छिद्र के साथ दोहराये। यह प्रक्रिया आपको कम से कम 10 बार दोनों छिद्रो से प्रतिदिन 7-10 बार जरूर करें। 

ये भी पढ़े:- योगा से Back Pain कैसे दूर करें

अनुलोम विलोम Yoga से Anxiety कैसे दूर करें

2 उष्ट्रासन (Ustrasana) 

उष्ट्रासन में आप अपने दोनों हाथों को कमर पर रखे। फिर एड़िया  ऊंची उठाये उसके बाद पंजे खड़े करे। ध्यान से आपके शरीर से पैरो का आधा-पौने फिट का फ़ासला होना चाहिए। उसके बाद अपने हाथों को एंडी पर रखे, ऐसा 4-5 मिनट रहे।  इससे आपको  तनाव और चिंता (Stress and Anxiety) दोनों में फायदा होगा। जिन लोगो से ये उष्ट्रासन पूरा नहीं हो पता हो वो लोग कोई ज़बरदस्ती ना करे। जितना हो सके उतना ही करे, और जिन लोगो को ज्यादा चक्कर आते है या हाई ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम है वो लोग ना करे।  यह आसन मांसपेशियों को आराम पहुंचाने का काम करता है।  साथ ही यह मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने का काम भी कर सकता है,  जिसका सकारात्मक असर चिंता जैसी मानसिक समस्या को दूर करने में बहुत ही मदद करता हैं।

 उष्ट्रासन Yoga से Anxiety कैसे दूर करें

 3  बितिलासन मुद्रा (Bitilasana Currency)

यह मुद्रा भी तनाव और मानसिक समस्याओं के निदान हेतु प्रभावकारी है इसे Cow Pose भी कहा जाता है। इस योग को करते समय आपकी शारीरिक मुद्रा गाय की तरह हो जाती है। बितिलासन मुद्रा में अपने दोनों घुटनों के बल पर खड़े हो जाएँ और अपने दोनों हाथों को भी जमीन पर सट्टा कर रखें, ध्यान रहे की आपके दोनों घुटने आपके कूल्हों (Hips) के नीचे होने चाहिए, और आपकी कलाई आपके कंधों के नीचे एक ही पंक्ति में होना चाहिए। उसके बाद अपने सिर को ढीला छोड़ दें और धीरे धीरे नीचे देखें। अब साँस लेते हुए अपने नितंबों (Bum) को ऊपर की ओर उठाए और पेट को नीचे की ओर और साथ ही सर को ऊपर जितना उठा सकें उठाए, फिर, फिर धीरे धीरे सामान्य स्थिति में आ जाएँ।

बितिलासन मुद्रा Yoga से Anxiety कैसे दूर करें

4. पश्चिमोत्तानासन(Paschimottanasan)

पश्चिमोत्तानासन मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने, शरीर को आराम देने और तनाव को दूर करने में मदद कर सकता है। इस आसन के ये लाभ चिंता को दूर करने में मदद कर सकते हैं। योग मैट पर अपने पैरों को सामने की ओर सीधे फैलाकर बैठ जाएं। इस दौरान पीठ और गर्दन सीधी होनी चाहिए। अब आराम-आराम से सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं। फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए, जितना हो सके आगे की ओर झुकें। अपने सिर को घुटनों का स्पर्श कराने की कोशिश करें और हाथों से पैरों के अंगूठे पकड़ने का प्रयास करें। जब तक संभव हो इस स्थिति में बने रहें। फिर सांस लेते हुए वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं। थोड़ी देर आराम करें और वापस से इस क्रिया को करें। जिन्हें गंभीर पीठ दर्द की समस्या हो, वो इस आसन को न करें। गर्भवती महिलाएं भी इस आसन को करने की कोशिश न करें। इस आसान से उन्हें बहुत परेशान हो सकती हैं। 

पश्चिमोत्तानासन Yoga से Anxiety कैसे दूर करें

5. उत्थित त्रिकोणासन (Raised Trikonasana)

इस आसान में आप खड़े होकर अपने पैरों को एक समान दूरी पर फैलाएं फिर अपने दोनों पैरों के बीच में कम से कम दो फुट का फासला रखें। अपने दाएं पैर को 90 डिग्री तक बाहर की ओर और बाएं पैर को 45 डिग्री तक अंदर की ओर घुमाएं। फिर  कंधे की ऊंचाई तक अपनी दोनों भुजाओं को फैलाएं। इसके बाद लंबी गहरी सांस लें और फिर सांस छोड़ते हुए अपने शरीर को दाईं ओर मोड़ें। अपने दाएं हाथ से दाएं पंजे के पास जमीन पर रखने का प्रयास करें और बाएं हाथ को ऊपर की ओर ले जाएं। इस मुद्रा में अपने बाएं हाथ की उंगलियों को देखने का प्रयास करें। इस स्थिति में कुछ सेकंड तक रहें और सामान्य गति से सांस लेते रहें। फिर सांस लेते हुए ऊपर उठें और सामान्य अवस्था में आ जाएं। इसके बाद यही प्रक्रिया दूसरी ओर से भी करें। ये आसन न सिर्फ दो प्रतिरोधी बलों को नियंत्रित करने के साथ ही दोनों बलों के बीच एक संतुलन भी स्थापित करता है। इस आसन में टिवस्ट के साथ ही स्ट्रेच को शामिल किया जाता है। उत्थित त्रिकोणासन न सिर्फ रीढ़ की हड्डी को खोलने में मदद करता है बल्कि एंग्जाइटी को दूर करने में भी मदद करता है।

उत्थित त्रिकोणासन Yoga से Anxiety कैसे दूर करें

ये भी पढ़े:- मेडिटेशन के 8 चमत्कारी फायदे 

6. शवासन (Embalming)

शवासन, Anxiety  और Depression को दूर करने के लिए किए जाने वाले योगासनों में से सबसे बेहतर है। शवासन न सिर्फ शरीर बल्कि दिमाग को जबरदस्त आराम देता है। कठिन वर्कआउट में आमतौर पर स्ट्रेचिंग(Stretching), ट्विस्टिंग(Twisting), कांट्रैक्टिंग(Contracting)और मसल्स की इवर्टिंग शामिल होती है। ऐसे Workout के बाद शरीर को Recharge करने के लिए आराम देना बहुत जरूरी हो जाता है।  ये शरीर की ऐसी Muscles को भी राहत देता है, जिनकी आमतौर पर हम अनदेखी कर बैठते हैं। महज 5-10 मिनट शवासन का अभ्यास करने से ही पूरे शरीर को काफी एनर्जी मिल जाती है। शवासन शरीर में उन सूचनाओं को समाहित करने और दिमाग को शांत करने में मदद करता है। 

शवासन Yoga से Anxiety कैसे दूर करें

7. दंडासन(Dandasana)

 दंडासन हृदय गति को सामान्य कर रक्तचाप नियंत्रित करने का काम कर सकता है। साथ ही यह आसन रीढ़ के साथ-साथ हाथ-पैरों की मासपेशियों में खिंचाव पैदा कर उन्हें आराम पहुंचाने में मदद कर सकता है। इसलिए, ऐसा माना जा सकता है कि इन सभी फायदों का सकारात्मक असर चिंता को दूर करने में मद्दत मिलती हैं।  दंडासन को करने के लिए आप मैट पर अपने पैरों को आगे की तरफ सीधा फैलाकर बैठ जाएं। इस दौरान पैरों की उंगलियां आपकी ओर थोड़ी मुड़ी होनी चाहिए। उसके बाद अपने सिर, पीठ और गर्दन को सीधा रखें। अपनी रीढ़ को सहारा देने के लिए हथेलियों को अपने कूल्हों के पास जमीन पर रखें। फिर कुछ सेकंड तक इस मुद्रा में रहें और फिर सामान्य हो जाएं। 

दंडासन Yoga से Anxiety कैसे दूर करें

8. धनुरासन (Dhanurasan)

यह आसन कंधों, छाती और गर्दन में खिंचाव लाता है और इन्हें बेहतर स्थिति प्रदान करता है। साथ ही यह पेट और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इस आसान को करने के लिए आप सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं। फिर सांस छोड़ते हुए घुटनों को मोड़ें और अपने हाथों से एड़ियों को पकड़ें। सांस लें और फिर पैर, सिर व छाती को जितना हो सके ऊपर की ओर उठाने का प्रयास करें। पेट के निचले हिस्से पर शरीर का वजन बनाए रखने की कोशिश करें। ऊपर की ओर देखें और सामान्य रूप से सांस लेते रहें। जब तक आपको अच्छा लगे कुछ देर इस आसन में बने रहें। अब धीरे-धीरे प्रारंभिक अवस्था में आ जाएं। ध्यान दे जो लोग हृदय रोग, रक्तचाप, हर्निया और पेट के अल्सर से पीड़ित हैं, वे इस आसन से दूर रहें। और कोई भी आसान भोजन कर के ना करे। 

धनुरासन Yoga से Anxiety कैसे दूर करें

Conclusion

योगा एक ऐसी विद्या है , जिसे करने से बहुत से रोग से निजाद मिल सकता है। तो आज हमने आपको इस Article में हमने आपको बताया है , कि yoga से Anxiety कैसे दूर करें । अगर आपको हमारी ये Article अच्छी लगी तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ Share करना न भूल ताकि उन्हें भी इन योगासन से बहुत से लाभ मिल सके। आप हमें कमेंट करके जरूर बताये आपको ये पोस्ट कैसी लगी।


2 Comments

Ram Mohan Haldia · October 2, 2020 at 7:03 am

Very useful information given in this page
Appreciable

Shivkumarkardam · October 2, 2020 at 7:06 am

Good

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *