Advertisements

हरे सेब खाने के फायदे – Benefits of Eating Green Apple in Hindi

हरे सेब खाने के फायदे

दोस्तो, सेब के बारे में हम सभी जानते हैं कि यह कहावत प्रसिद्ध है कि एक सेब रोजाना खाइए और बीमारी को दूर भगाइए। इसके पीछे का लॉजिक है इसमें मौजूद विटामिन और खनिज जो हमारे स्वास्थ के लिए लाभदायक होते हैं। यह सामान्य सेब की बात है परन्तु एक विशेष सेब होता है जिसके स्वाद में खटास होने के कारण इसे खट्टा सेब कहा जाता है।

यह सेब साधारण सेब की तरह लाल नहीं होता बल्कि हरा होता है, इस कारण इसे हरा सेब कहा जाता है। हरा सेब, सेब की दो प्रजातियों मालस स्लीवेस्टेरस (Malus Sylvestris) और मालस डोमेस्टिकस (Malus Domestica) के संयोजन से विकसित हुआ है। यह अन्य सेब की तुलना में स्वास्थ के लिए अधिक फायदेमंद होता है। आखिर ऐसा क्या है इस हरे सेब में और कैसे यह लाभकारी होता है। दोस्तो, यही है हमारा आज का टॉपिक “हरे सेब खाने के फायदे”। 

देसी हैल्थ क्लब इस आर्टिकल के माध्यम से आपको हरे सेब के बारे में विस्तार से जानकारी देगा और यह भी बताएगा कि इसके फायदे क्या हैं। तो, सबसे पहले जानते हैं कि हरा सेब क्या है और हरे की खेती कहां होती है? फिर, इसके बाद बाकी बिंदुओं पर जानकारी देंगे।

Advertisements

हरा सेब क्या है? –  What is a Green Apple

हरा सेब, सेब की ही प्रजाति का संकर (Hybrid) फल है जिसे सेब की दो प्रजातियों मालस स्लीवेस्टेरस (Malus sylvestris) और मालस डोमेस्टिकस (Malus domestica) के संयोजन से विकसित किया गया है। माना जाता है कि सन् 1868 में ऑस्ट्रेलियाई महिला मारिया एन स्मिथ ने एक आकस्मिक अंकुर से सेब की इस प्रजाति का प्रचार किया था।

इसीलिए हरे सेब को ग्रैनी स्मिथ सेब के नाम से भी जाना जाता है। चूंकि इस हरे सेब के स्वाद में खट्टापन भी होता है इसलिए इसे खट्टा सेब भी कहा जाता है। हरे सेब के पेड़ की ऊंचाई 12-14 फीट और चौड़ाई लगभग 14-16 फीट तक होती है। यह लगभग तीन से पांच साल में फल देने लगता है, यह निर्भर करता है हरे सेब की किस्म पर।

हरे सेब की त्वचा चमकीले हरे रंग की, चिकनी और सख्त होती है। हरा सेब मध्यम आकार का होता है और यह गोलाकार या शंकुआकार का होता है। किसी अन्य प्रकार के सेब की तुलना में हरे सेब में बायोएक्टिव यौगिक और फ्लेवोनोइड उच्च मात्रा में होते हैं।

Advertisements

ये भी पढ़े – संतरा खाने के फायदे

हरे सेब की खेती कहां होती है? – Where is the Green Apple Cultivated?

1. हरे सेब का जन्मस्थली ऑस्ट्रेलिया है। ऑस्ट्रेलिया के अतिरिक्त हरे सेब की खेती चीन और भारत सहित कई देशों में की जाती है।

2. भारत के जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तरांचल, उत्तर प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्र, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, पंजाब और सिक्किम राज्यों में की जाती है।

हरे सेब के गुण –  Properties of Green Apple

1. हरे सेब की तासीर ठंडी होती है।

2. हरे सेब के स्वाद में खट्टापन भी होता है।

3. हरे सेब में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-माइक्रोबियल, एंटीपायरेटिक, एंटी-ओबेसिटी एंटीइंफ्लामेटरी आदि गुण मौजूद होते हैं।

4. किसी अन्य सेब की तुलना में हरे सेब में बायोएक्टिव यौगिक और फ्लेवोनोइड उच्च मात्रा में होते हैं।

5.  हरे सेब में विटामिन-ए, ई, के और बी कॉम्लेक्स तथा प्रोटीन, कार्ब्स, फाइबर, कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, मैगनीशियम, कॉपर, ज़िंक जैसे खनिज उपलब्ध होते हैं।

हरे सेब के पोषक तत्व (मूल्य प्रति 100 ग्राम) – Nutrients of Green Apple (Value per 100 grams)

  • पानी : 85.46 ग्राम
  • एनर्जी : 50 Kcal 
  • प्रोटीन : 0.44 ग्राम 
  • टोटल फैट : 0.19 ग्राम 
  • शुगर : 9.59 ग्राम 
  • कार्बोहाइड्रेट : 13.6 ग्राम 
  • फाइबर : 20.8 ग्राम 
  • कैल्शियम : 5 मिलीग्राम 
  • पोटैशियम : 120 मिलीग्राम 
  • सोडियम : 1 मिलीग्राम 
  • फास्फोरस : 12 मिलीग्राम 
  • आयरन : 0.15 मिलीग्राम 
  • मैगनीशियम : 5 मिलीग्राम
  • मैंगनीज : 0.044 मिग्रा 
  • सिलेनियम : 0.1 माइक्रोग्राम
  • कॉपर : 0.031 मिलीग्राम
  • ज़िंक : 0.04 मिलीग्राम 
  • विटामिन-ए : 5 माइक्रोग्राम 
  • विटामिन-ई : 0.18 मिलीग्राम 
  • विटामिन-के : 3.2 माइक्रोग्राम 
  • विटामिन-बी1
  • (थायमिन) : 0.019 मिलीग्राम 
  • विटामिन-बी2 
  • (राइबोफ्लेविन) : 0.025 मिलीग्राम 
  • विटामिन-बी3 
  • (नियासिन) : 0.126 मिलीग्राम 
  • विटामिन-बी5 
  • (पैंटोथैनिक एसिड) : 0.056 मिलीग्राम
  • विटामिन-बी6 : 0.037 मिलीग्राम 
  • विटामिन-बी9 (फोलेट) : 3 माइक्रोग्राम 
  • कोलीन : 3.4 मिलीग्राम
  • कैरोटीन, बीटा : 59 माइक्रोग्राम

हरे सेब के उपयोग – Uses of Green Apple

हरे सेब के उपयोग निम्न प्रकार से किए जा सकते हैं –

  1. हरे सेब को ऐसे ही फल के रूप में खाया जा सकता है।
  2. हरे सेब का जूस निकाल कर पीया जा सकता है।
  3. हरे सेब का उपयोग जूस, जेली, साइडर तथा प्यूरी के लिए किया जा सकता है।
  4. सॉस, टार्ट, स्लाइस, पाई, केक, कैंडी और पेस्ट्री बनाने के लिए हरे सेब का उपयोग किया जाता है। 
  5. हरे सेब का उपयोग वाइन, साइडर और ब्रांडी बनाने लिए भी किया जाता है।
  6. हरे सेब का सिरका भी बनाया जाता है।
  7. हरे सेब के छिलके और इसके गूदे का उपयोग फेस पैक बनाकर औषधी के रूप में किया जा सकता है।

ये भी पढ़े – गुलकंद खाने के फायदे

हरा सेब खाने का सही समय – Right Time to Eat Green Apple

हरा सेब खाने का कोई विशेष समय निर्धारित नहीं है। इसे आप कभी भी खा सकते हैं। परन्तु खट्टा फल होने के कारण इसका सेवन सुबह और रात में नहीं करना चाहिए। इससे गैस या एसिडिटी की समस्या हो सकती  है। 

हरा सेब कितना खाना चाहिए? – How much Green Apple Should one Eat?

1. चूंकि हरे सेब में फाइबर की बहुत अधिक मात्रा होती है इसलिये एक दिन में केवल एक ही हरा सेब खाना चाहिए। पेट में फाइबर की अधिक मात्रा जाने से पेट से जुड़ी समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

हरा सेब खाने के फायदे – Benefits of Eating Green Apple

और अब जनते हैं हरे सेब खाने के फायदे जो निम्नलिखित हैं –

1. कैंसर की संभावना को कम करे (Reduce the Chances of Cancer)- कई अध्ययन बताते हैं कि हरा स्तन, कोलन और त्वचा में कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने में सक्षम हो सकता है। इतना ही नहीं हरे सेब में मौजूद फ्लेवोनोइड्स फेफड़े, अग्नाशय और पेट के कैंसर के विकास को रोक कर कैंसर होने की संभावना को खत्म करने में मदद कर सकते हैं। 

2. कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करे (Control Cholesterol and Blood Pressure)- कई अध्ययन यह बताते हैं कि हरे सेब में मौजूद घुलनशील फाइबर, कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करते हुए इसका स्तर सामान्य बनाए रखता है। 

हरा सेब खुद भी कोलेस्ट्रॉल फ्री होता है और खराब वाले कोलेस्ट्रॉल LDL को कम करने में मदद करता है। इसी प्रकार यह हाई बल्ड प्रेशर को कम करके बल्ड प्रेशर का सामान्य स्तर बनाए रखने में मदद करता है। हरे सेब में पोटेशियम की उच्च मात्रा होती है और सोडियम की मात्रा बेहद कम। यह स्थिति ब्लड प्रेशर के लिए अच्छी मानी जाती है।

3. लिवर के लिए फायदेमंद (Beneficial for Liver)- हरे सेब में क्वेरसेटिन नामक फाइटोकेमिकल एक प्रभावशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है। यह लिवर को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाने का काम करता है। हरे सेब के छिलके में मौजूद विशेष एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। इसलिये इसे छिलके सहित ही खाना चाहिए। 

इसके विशेष एंटीऑक्सीडेंट्स हेपेटिक स्थितियों से लिवर को बचाते हैं। हरा सेब प्राकृतिक डिटॉक्सिफाइंग एजेंट के रूप में कार्य करते हुए आंत की सफाई करता है और मल त्याग को आसान बनाता है जिससे पाचन तंत्र ठीक रहता है। पाचन से संबंधित समस्या से छुटकारा पाने के लिए हरे सेब को उबालकर खाना चाहिए। 

4. फेफड़ों के लिए फायदेमंद (Beneficial for Lungs)- हरे सेब खाने से फेफड़ों को फायदा होता है। इससे फेफड़े स्वस्थ रहते हैं और अस्थमा से भी राहत मिलती है। कई अध्ययन बताते हैं कि हरे सेब के सेवन से फेफड़ों से जुड़े रोगों के खतरे को 23 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है तथा महिलाओं में फेफड़ों के कैंसर के खतरे को 21 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है। 

यह भी पढ़ें- हार्ट फेलियर क्या है?

5. वजन कम करे (Lose Weight)- वजन को कंट्रोल करने के लिए डॉक्टर उच्च फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने  की सलाह देते हैं। इस कड़ी में हरे सेब को प्राथमिकता दी जाती है क्योंकि हरे सेब में डाइटरी फाइबर की उच्च मात्रा होती है। 

डाइटरी फाइबर वजन को कम करने में मदद करता है विशेषकर मध्यम आयु वर्ग की मोटापे से पीड़ित महिलाओं की। हरे सेब में मौजूद पॉलीफेनोल्स एंटीओबेसिटी गुण को प्रदर्शित करते हुए शरीर से फ्री रेडिकल्स और फैट टिश्यू को कम करने का काम करते हैं। वैसे भी हरे सेब में फैट बहुत कम होता है। 

6. मस्तिष्क स्वास्थ के लिए फायदेमंद (Beneficial for Brain Health)- हरे सेब खाने के फायदे मस्तिष्क स्वास्थ के लिए भी देखे जा सकते हैं। हरे सेब का रस मस्तिष्क को होने वाली क्षति  को रोक कर मस्तिष्क की रक्षा करता है। हरे सेब में मौजूद उच्च फाइबर, मस्तिष्क से जुड़े रोगों के विरुद्ध लड़कर मस्तिष्क का बचाव करता है।

हरा सेब अल्जाइमर और पार्किंसंस जैसे रोगों के लक्षणों को रोकने का काम करता है। हरे सेब के रस में मौजूद विटामिन-के, मस्तिष्क की चोट में रक्त के थक्के जमने और जमाव में अपनी सक्रिय भूमिका निभाता है। यह  घाव के उपचार के लिए आवश्यक और महत्वपूर्ण प्रक्रिया है। 

7. डायबिटीज में फायदेमंद (Beneficial in Diabetes)- हरा सेब डायबिटीज के मरीजों के लिए भी फायदेमंद है विशेषकर टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों के लिए। सेब में मौजूद घुलनशील फाइबर ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद करता है। इसके अतिरिक्त हरे सेब के छिलके में उपस्थित प्राथमिक बायोएक्टिव यौगिक डायबिटीज के जोखिम को कम करने में मदद करता है। इसके लिए हरे सेब के जूस का सेवन किया जा सकता है।

8. आंखों के लिए फायदेमंद (Beneficial for Eyes)- विटामिन-ए को आंखों का विटामिन माना जाता है जो नेत्र स्वास्थ को स्वस्थ रखता है। हरे सेब में विटामिन-ए की पर्याप्त मात्रा होती है। विटामिन-ए आंखों की दृष्टि को बढ़ाता है और मोतियाबिंद होने के जोखिम को दूर करता है। इसके अतिरिक्त हरे सेब में मौजूद बीटा कैरोटिन एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करते हुए आंखों के ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करके आंखों को आराम दिलाता है और आंखों की दृष्टि बढ़ाने में भी मदद करता है। 

9. हड्डियों के लिए फायदेमंद (Beneficial for Bones)- अस्थि खनिज घनत्व (Bone Mineral Density – BMD) हड्डियों के विकास और मजबूती का आधार होता है। यदि अस्थि खनिज घनत्व का स्तर सही है तो हड्डियां अपने आप मजबूत हो जाएंगी और अस्थि रोग होने की संभावना भी नहीं रहेगी। हरे सेब में फास्फोरस, पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन, ज़िंक, कॉपर जैसे खनिज और विटामिन-बी कॉम्प्लेक्स पर्याप्त मात्रा में मौजूद होते हैं जो अस्थि खनिज घनत्व का स्तर बनाए रखते हैं जिससे हड्डियों को मजबूती मिलती है।

यह भी पढ़ें- यूरिक एसिड के घरेलू उपाय

10. त्वचा स्वास्थ के लिए फायदेमंद (Beneficial for Skin Health)– हरे सेब खाने के फायदे त्वचा के लिए भी देखे जा सकते हैं। कच्चे हरे सेब में मौजूद टैनिन एक अच्छे एंटीऑक्सीडेंट और एसट्रिनजेंट के रूप में काम करता है। एसट्रिनजेंट, त्वचा के रोम छिद्रों को छोटा करने का काम करते हैं। हरे सेब का छिलका त्वचा से सीबम के स्राव को कंट्रोल करने का काम करता है। त्वचा स्वास्थ के लिए हरे सेब का उपयोग निम्न प्रकार से किया जा सकता है –

(i) हरे सेब के छिलकों को धूप में सुखाकर पाउडर बना लें। इस पाउडर में थोड़ी सी छाछ मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर छोड़ दें। लगभग 20 मिनट बाद चेहरा ठंडे पानी से धो लें। 

(ii) हरे सेब को काट कर ब्लेंडर में डाल कर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट में एक चम्मच दही और आधा चम्मच शहद डालकर अच्छे से मिला लें। इस पेस्ट को पेस्ट को चेहरे पर लगाकर छोड़ दें। लगभग 20 मिनट बाद चेहरा गुनगुने पानी से धो लें। फिर चेहरा पोंछकर मॉइस्चराइजर लगा लें। 

हरे सेब के नुकसान – Disadvantages of Green Apple

हरा सेब अधिक खाने के हो सकते हैं निम्नलिखित नुकसान – 

1. हरे में फाइबर की उच्च मात्रा होती है। इसलिये इसे अधिक खाने से पेट में अधिक फाइबर जाएगा जिससे पेट से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं जैसे कि पेट में गैस बनना, पेट में दर्द होना या पेट में ऐंठन।

2. मितली, उल्टी या दस्त लगना।

3. एसिड की वजह से सीने में जलन हो सकती है।

4. हरा सेब अम्लीय (Acidic) होता है। अम्लीय फल दांतों की सेंसिटिविटी को बढ़ा सकते हैं विशेषकर उन लोगों के जिनके दांत अधिक सेंसिटिव होते हैं।

5. हरे सेब में मौजूद एसिड सामान्य लोगों के दांतों की एनेमल परत को नुकसान पहुंचा सकता है। 

Conclusion – 

दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको हरे सेब के बारे में विस्तार से जानकारी दी। हरा सेब क्या है?, हरे सेब की खेती कहां होती है, हरे सेब के गुण, हरे सेब के पोषक तत्व, हरे सेब के उपयोग, हरा सेब खाने का सही समय और हरा सेब कितना खाना चाहिए, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस आर्टिकल के माध्यम से हरा सेब खाने के बहुत सारे फायदे बताए और हरे सेब के कुछ नुकसान भी बताए। आशा है आपको ये आर्टिकल अवश्य पसन्द आयेगा।

Disclaimer – यह आर्टिकल केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर/लेखक उत्तरदायी नहीं है। कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

Summary
Advertisements
हरे सेब खाने के फायदे
Advertisements
Article Name
हरे सेब खाने के फायदे
Description
आज के आर्टिकल में हमने आपको हरे सेब के बारे में विस्तार से जानकारी दी। हरा सेब क्या है?, हरे सेब की खेती कहां होती है, हरे सेब के गुण, हरे सेब के पोषक तत्व, हरे सेब के उपयोग, हरा सेब खाने का सही समय और हरा सेब कितना खाना चाहिए, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *