Advertisements

दोस्तो, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर। आज हम आपकोलेमन टीके बारे में बतायेंगे। दोस्तो, चाय की भी अपनी एक अलग ही दुनियां है जो पूरे विश्व पर अपना राज करती चली आ रही है। चाय विश्व में पानी के बाद पीये जाने वाला दूसरा लोकप्रिय पेय पदार्थ है। सही मायने में तो इसके बिना सुबह ही नहीं होती। किसी को सुबह बिस्तर पर ही चाय चाहिये जिसे बेड-टी कहा जाता है। कोई उठकर बाद में पीता है। सबकी अपनी अलग-अलग पसंद। किसी को दूध वाली चाय पसंद है तो किसी को बिना दूध की ब्लैक टी, किसी को ग्रीन टी तो कोई लेमन टी को पसंद करता है। सबका स्वाद अलग, सबके फायदे अलग। मगर एक चाय ऐसी जिसकी खुश्बू ही आपका मन मोह लेती है और अद्भुत स्वाद से आत्मा संतुष्ट। स्वास्थ के लिये बेहद फायदेमंद जो आपको अंदर से शुद्ध कर दे, ऊर्जा प्रदान करे और आप में एक ताजगी जगाये। इस चाय का नाम है नींबू वाली चाय यानि लेमन टी। आखिर इस चाय के फायदे क्या होते हैं?। दोस्तो, यही है हमारा आज का टॉपिक “लेमन टी पीने के फायदे”

देसी हैल्थ क्लब इस आर्टिकल के माध्यम से आज आपको पहले नींबू के बारे में बेसिक जानकारी देगा और फिर लेमन टी के फायदों के बारे में विस्तार से बतायेगा। तो, सबसे पहले जानते हैं कि नींबू क्या है? और इसकी खेती कहां होती है। फिर इसके बाद बाकी बिन्दुओं पर जानकारी देंगे।

Advertisements
लेमन टी पीने के फायदे
Advertisements

नींबू क्या है ? – What is Lemon?

नींबू छोटे आकार का खट्टा फल है जिसका पेड़ भी छोटे आकार का होता है लेकिन इसकी कुछ प्रजातियां छः मीटर तक लंबी हो सकती हैं। इसकी शाखाएं कांटेदार, डंठल पतला और पत्तियां छोटी होती हैं। इसका फल यानि नींबू गोल या अंडाकार होता है और पकने के बाद इसका रंग पीले या हरापन लिये या पूरी तरह हरा होता है। बिना काटे ही इसमें से सुगंध आती है। 

इसका छिलका पतला और गूदे से चिपका हुआ होता है। गूदे में कुछ बीजों के अतिरिक्त रस ही रस भरा होता है। नींबू का उपयोग अधिकतर खाद्य पदार्थों में किया जाता है। इसके अतिरिक्त नींबू का उपयोग तेल, पेक्टिन, सिट्रिक एसिड, रस, स्क्वैश तथा सार (essence) आदि तैयार करने के लिये भी किया जाता है। नींबू में औषधीय गुण भी मौजूद होते हैं। 

ये भी पढ़े – ग्रीन टी के फायदे

Advertisements

नींबू की खेती कहां होती है? – Where is Lemon Grown?

1. नींबू कहां की पैदाइश है, इस बारे में कोई ठोस प्रमाण उपलब्ध नहीं है लोगों का मानना है कि यह मूल रूप से भारत, उत्तरी म्यांमार तथा चीन की उत्पत्ति है।

2. विश्व में नींबू का सर्वाधिक उत्पादन भारत में होता है। विश्व में नींबू के कुल उत्पादन का लगभग 16 प्रतिशत।

3. मैक्सिको, चीन, अर्जेंटीना, ब्राजील,  स्पेन, तुर्की और संयुक्त राज्य अमेरिका में नींबू का विशाल पैमाने पर उत्पादन किया जाता है। इनके अतिरिक्त जॉर्जिया, फ्रांस, ईरान, ईराक, इटली, सूडान, इजिप्ट, कोलंबिया, सीरिया, थाईलैण्ड, लेबनान, नेपाल, पाकिस्तान, बांग्लादेश, जापान, मलेशिया, श्रीलंका आदि अनेक देशों में इसकी खेती की जाती है। 

4. भारत में चैन्नई, मुंबई, पश्चिमी बंगाल, पंजाब, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र,  हैदराबाद, दिल्ली, उत्तरप्रदेश, मैसूर तथा बडोदरा में नींबू की खेती की जाती है।

नींबू/नींबू की चाय के गुण – Properties of Lemon/Lemon tea

1. नींबू की तासीर ठंडी होती है और स्वाद खट्टा होता है।

2. नींबू का एक भाग विटामिन-ए, दो भाग विटामिन-बी और तीन भाग विटामिन-सी होता है।

3. नींबू के रस में 5 प्रतिशत साइट्रिक एसिड होता है जिसका पीएच (Potential of Hydrogen – PH) 2 से 3 तक होता है।

4. विटामिन-सी से भरपूर नींबू में पोटेशियम, आयरन, सोडियम, मैगनेशियम, कॉपर, फास्फोरस और क्लोरीन तत्त्वों के अतिरिक्त प्रोटीन, फैट और कार्बोज भी पर्याप्त मात्रा में होते हैं। 

5. नींबू की चाय में एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-कैंसर आदि गुण होते हैं। 

लेमन टी के पोषक तत्व (मात्रा प्रति 100 ग्राम) – Lemon Tea Nutrients (Amount Per 100g)

एनर्जी                    25 kcal

प्रोटीन                     0.1 ग्राम

कार्बोहाइड्रेट्स          6.67 ग्राम

फाइबर                    0.2 ग्राम

कोलेस्ट्रॉल                0 मिलीग्राम

सोडियम               4 मिलीग्राम

शुगर, कुल               6.25 ग्राम

(चीनी डालने पर निर्भर)

लेमन टी बनाने की विधि – How to Make Lemon Tea 

दोस्तो, लेमन टी बनाना बहुत ही सरल है। बस एक कप पानी में थोड़ी सी चाय की पत्ती डालकर अच्छे से उबाल लीजिये। इसे छानकर इसमें आधा नींबू को निचोड़ लें। फिर इसमें आधा चम्मच शहद मिक्स कर लें। याद रखिये चीनी नहीं मिलानी। बस हो गई लेमन टी तैयार।

आप चाहें तो उबलते पानी में थोड़ी सी कुटी हुई अदरक या एक चुटकी काली मिर्च का पाउडर या दोनों ही, भी डाल सकते हैं। या पुदीना की कुछ पत्तियां भी डाल सकते हैं इससे पुदीना के गुण भी आ जायेंगे और खुश्बू भी। पुदीना पर अधिक जानकारी के लिये हमारा पिछला आर्टिकल “पुदीना के फायदे” पढ़ें। 

लेमन टी कब पिये? – When to Drink Lemon Tea?  

दोस्तो, लेमन टी आप किसी भी समय पी सकते हैं सुबह से लेकर रात तक। विशेष प्रयोजन के लिये विशेषज्ञ की सलाह ले लें। उदहारण के लिये यदि आप वजन कम करना चाहते हैं तो इसके लिये सबसे उत्तम समय सुबह का है। सुबह खाली पेट लेमन टी पीयें। 

लेमन टी कितनी पीनी चाहिये? – How Much Lemon Tea Should You Drink? 

इसका कोई मात्रा निर्धारित नहीं है परन्तु सारे दिन में तीन कप तक लेमन टी पीना ही श्रेयकर होगा क्योंकि अधिक मात्रा में सेवन करने से इसमें मौजूद सिट्रिक एसिड निश्चित रूप से आपको नुकसान पहुंचायेगा। 

लेमन टी किसको नहीं पीना चाहिए? – Who Should not Drink Lemon Tea?

1. गर्भवती महिलाओं को कोई भी चाय कॉफी अधिक मात्रा में पीने की सलाह नहीं दी जाती क्योंकि 200 मिलीग्राम से अधिक कैफीन की मात्रा नुकसानदायक हो सकती है। लेमन टी में भी कैफीन होता है इसलिये यह चाय भी ना पीने की सलाह दी जाती है। इससे गर्भस्थ शिशु का वजन कम हो सकता है या गर्भपात की संभावना बन सकती है।

2. शिशुओं को स्तनपान कराने वाली माताओं को भी लेमन टी से बचना चाहिये क्यों कि यह शिशुओं के लिये हानिकारक हो सकती है। 

3. लेमन टी का सेवन बच्चों को भी नहीं करना चाहिये क्यों कि कैफीन बच्चों के स्वास्थ के लिये ठीक नहीं होता।

4. जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती है, उनको भी लेमन टी का सेवन नहीं करना चाहिये क्यों कि यह हाई ब्लड बढ़ा सकती है।

5. किसी भी प्रकार की यदि दवा ले रहे हैं तो लेमन टी का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह ले लें क्यों कि यह अपना साइड इफैक्ट दिखा सकती है। 

लेमन टी पीने के फायदे – Benefits of Drinking Lemon Tea

दोस्तो, अब बताते हैं आपको लेमन टी पीने के फायदे जो निम्न प्रकार हैं –

1. विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाले (Flush Out Toxins)- दोस्तो, लेमन टी पीने का सबसे बड़ा और मुख्य फायदा यह शरीर को डिटॉक्सिफाई करती है अर्थात् शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालती है। इन्हीं पदार्थों के कारण अनेक प्रकार की बीमारियां बनती हैं और संक्रमण भी होता है। लेमन टी को एक उत्तम डिटॉक्सिफ़ाइर कहा जा सकता है जो शरीर का शुद्धिकरण करता है।

2. इम्युनिटी बढ़ाये (Boost Immunity)-  विटामिन-सी होने के कारण खट्टे फल इम्युनिटी बूस्ट करने में मदद करते हैं। नींबू तो विटामिन-सी का खजाना है और यह अपने आप में शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट के रूप में कार्य करता है। इसके अतिरिक्त नींबू में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। ये दोनों गुण इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करते हैं जिससे हम रोगों से और संक्रमण के कारण होने वाले रोगों से लड़ पाने में समर्थ होते हैं। 

अतः लेमन टी के नियमित सेवन से रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है। इसका सशक्त उदहारण COVID-19 के दौरान देखने को मिला जब डॉक्टरों ने कोरोना से बचाव के लिये इम्युनिटी बढ़ाने को नींबू का सेवन करने की सलाह दी। परिणामस्वरूप नींबू के भाव आसमान पर चढ़ गये थे।

3. कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोके (Inhibit the Growth of Cancer Cells)- नींबू को यदि एंटी-कैंसर एजेंट कहा जाये तो गलत नहीं होगा क्यों कि इसके के एंटी-ऑक्सीडेंट गुण शरीर में कैंसर की कोशिकाओं के विकास को रोकते हैं। शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाते हैं और खराब कोशिकाओं को बाहर निकालते हैं। लेमन टी त्वचा के कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं। नींबू में पाये जाने वाला लिम्नोओड्स नामक यौगिक मुंह के कैंसर, फेफड़े और पेट के कैंसर से लड़ने में सक्षम होता है। अतः लेमन टी के सेवन से संभावित कैंसर से बचा जा सकता है।

ये भी पढ़े – ब्लड कैंसर से बचाव के उपाय

4. पाचन को सुधारे (Improve Digestion)- लेमन टी के नियमित सेवन से पाचन प्रक्रिया में सुधार होता है। लेमन टी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के साथ-साथ अपशिष्ट पदार्थों (waste material) को भी समाप्त करती है परिणामस्वरूप शरीर लाभकारी पदार्थों को अवशोषित करने में अधिक समर्थ होता है। लेमन टी में मौजूद साइट्रिक एसिड पाचन प्रक्रिया के सुधार में मदद करता है। लेमन टी शरीर को शांत करती है यह गुण भी पाचन को सही रखने में मदद करता है। 

5. मानसिक स्वास्थ्य के लिये फायदेमंद  (Beneficial to Mental Health)- शरीर से विषाक्त पदार्थों के बाहर निकलने और अपशिष्ट पदार्थों के समाप्त होने के कारण शरीर अधिक चुस्त-दुरुस्त और एक्टिव रहता है। कमजोरी और थकावट खत्म होती हो। रक्त भी साफ़ होता है। शरीर के स्वस्थ रहने का प्रभाव मानसिक स्वास्थ पर भी पड़ता है। लेमन टी के सेवन से तनाव, सिरदर्द दूर होता है। मस्तिष्क तरो-ताजा रहता है। इस प्रकार लेमन टी पीने से मानसिक स्वास्थ सही बना रहता है। 

6. हृदय को स्वस्थ रखे (Keep Heart Healthy)- लेमन टी के नियमित सेवन से हृदय भी सुरक्षित रहता है। लेमन टी में मौजूद फ्लेवोनोइड लिपिड को कंट्रोल कर खराब कोलेस्ट्रॉल LDL को बढ़ने से रोकते हैं और सूजन को कम करते हैं। फैट को काटता है जिससे धमनियों में प्लॉक नहीं जमता जिससे रक्त प्रवाह निर्बाध गति से हृदय तक और हृदय से शरीर के सभी अंगों में पहुंचता है।  लेमन टी के सेवन से रक्त वाहिकाओं में रक्त के थक्के बनने की भी संभावना कम हो जाती है। इस प्रकार लेमन टी हृदय को स्वस्थ बनाये रखता है। 

7. एडिमा के उपचार में फायदेमंद  (Beneficial in the Treatment of Edema)- सर्जरी के बाद सूजन हो जाना एक आम समस्या है जिसे सर्जिकल स्वेलिंग या एडिमा कहा जाता है। ऐसी स्थिति इंजेक्शन, फैट की मृत कोशिकाओं और रक्त में तरल पदार्थ जमा होने की वजह से बनती है। शरीर के ऊतकों के बीच तरल पदार्थ जमा होने से दर्द बन जाता है। लेमन टी के सेवन से यह सर्जिकल स्वेलिंग की समस्या से छुटकारा मिलता है और साथ ही अनेस्थेसिया का विषाक्त प्रभाव भी खत्म हो जाता है। 

8. सर्दी, जुकाम से राहत दिलाए  (Relieve from Cold, Cold)- लेमन टी बनाने के लिये, पानी उबालते समय पानी में थोड़ी सी अदरक और काली मिर्च पाउडर डाल देना चाहिये। इस चाय को दिन में 3-4 बार पीयें। इससे सर्दी, जुकाम, फ्लू , गला खराब जैसी समस्या में तुरन्त राहत मिलेगी। सर्दी के मौसम में ये आपको सर्दी से भी बचायेगी। गले की खराश दूर होगी, खांसी, बलगम से भी राहत मिलेगी।

ये भी पढ़े – खांसी जुकाम का देसी इलाज

9. वजन कम करे (Lose Weight)- जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उनके लिये पेट नींबू पानी के अतिरिक्त लेमन टी एक बेहतरीन विकल्प है। लेमन टी में कैलोरी की मात्रा बहुत ही कम होती है जो वजन कम करने में मदद करती है। इसके लिये सुबह खाली पेट एक कप लेमन टी पीयें और घूमने निकल जायें, व्यायाम आदि करें। यह शरीर से फैट को कम करती है। पीएच लेवल को संतुलित करती है, चयापचय को बढ़ाती है, विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालती है और अपशिष्ट पदार्थों को खत्म करती है। 

10. त्वचा के लिये फायदेमंद (Beneficial for Skin)- लेमन टी में मौजूद विटामिन-सी के लाभ त्वचा को मिलते हैं। नियमित रूप से लेमन टी पीने से त्वचा का रूखापन दूर होता है, त्वचा में निखार आता है और नई कोशिकाओं के निर्माण में मदद मिलती है। नींबू में मौजूद एस्ट्रिंजेंट गुण मुंहासे, चकत्ते, त्‍वचा की सूजन तथा अन्य प्रकार के त्वचा की समस्याओं से राहत दिलाते हैं। लेमन टी के एंटी-ऑक्सीडेंट बढ़ती उम्र के प्रभाव की गति को कम करने में मदद करते हैं और सूरज की हानिकारक यूवी किरणों से भी बचाती हैं। 

लेमन टी पीने के नुकसान – Side Effects of Drinking Lemon Tea

लेमन टी अधिक मात्रा में पीने से हो सकते हैं निम्नलिखित नुकसान –

1. दस्त लग सकते हैं। 

2. यह इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम का कारण बन सकती है।

3. खाली पेट लेमन टी पीने से पेट में गैस बन सकती है।

4. सिट्रिक एसिड होने के कारण यह दांतों में सेंसिटिविटी बढ़ा सकती है, इससे दांतों को नुकसान हो सकता है।

5. सर्दियों में कोल्ड लेमन टी का सेवन करने से सर्दी, जुकाम की समस्या बन सकती है। 

Conclusion – 

दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने लेमन टी पीने के फायदे के बारे में विस्तार से जानकारी दी। नींबू क्या है, नींबू की खेती कहां होती है, नींबू/नींबू की चाय के गुण, लेमन टी के पोषक तत्व, लेमन टी बनाने की विधि, लेमन टी कब पीयें, लेमन टी कितनी पीनी चाहिये और लेमन टी किनको नहीं पीनी चाहिये, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस आर्टिकल के माध्यम से लेमन टी पीने के फायदे बताये और कुछ नुकसान भी बताये। आशा है आपको ये आर्टिकल अवश्य पसन्द आयेगा। 

दोस्तो, इस आर्टिकल से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो आर्टिकल के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह आर्टिकल आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health-Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Summary
लेमन टी पीने के फायदे
Article Name
लेमन टी पीने के फायदे
Description
दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने लेमन टी पीने के फायदे के बारे में विस्तार से जानकारी दी। नींबू क्या है, नींबू की खेती कहां होती है, नींबू/नींबू की चाय के गुण, लेमन टी के पोषक तत्व, लेमन टी बनाने की विधि, लेमन टी कब पीयें, लेमन टी कितनी पीनी चाहिये और लेमन टी किनको नहीं पीनी चाहिये, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया है।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo

1 Comment

Shiv Kumar Kardam · October 20, 2022 at 6:24 pm

Basic information on Lemon is attractive part of this Article. However, lemon tea is best for health. So nice Article.

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *