Advertisements

स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर। अब तक हम फ्लू/वायरस के अजीब-अजीब नाम सुनते आये हैं जैसे बर्ड ब्लू, जीका वायरस, मंकीपॉक्स आदि पर अभी एकदम नये फ्लू ने आगमन कर दहशत का माहौल बना दिया है। इस नये फ्लू का नाम है “टोमेटो फ्लू” जिसका टमाटर के साथ कुछ लेना देना नहीं है। टोमेटो फ्लू एक वायरल है। यह एक बुरी खबर है कि यह छोटे बच्चों को अपना शिकार बनाकर संक्रमित कर रहा है जो खुद अपना ध्यान नहीं रख सकते और राहत वाली बात यह है कि एक्सपर्ट्स के मुताबिक यह फ्लू जानलेवा नहीं है। इस फ्लू से संक्रमित होने पर बच्चों के शरीर पर चकत्ते, छाले, फफोले उभर रहे हैं जो देखने में टमाटर की तरह लाल नज़र आते हैं, बुखार भी हो जाता है। आज हमने इसी टॉपिक को चुना है और हमारे आज के आर्टिकल का नाम है “टोमेटो फ्लू क्या है”। देसी हैल्थ क्लब इस आर्टिकल के माध्यम से आपको टोमेटो फ्लू के बारे में जानकारी देगा और यह भी बतायेगा कि इससे बचाव के उपाय क्या हैं?। तो, सबसे पहले जानते हैं कि टोमेटो फ्लू क्या है, लेंसेट की चेतावनी और भारत में टोमेटो फ्लू की स्थिति। फिर, इसके बाद बाकी बिंदुओं पर जानकारी देंगे। 

Advertisements
टोमेटो फ्लू क्या है?
Advertisements

टोमेटो फ्लू क्या है? – What is Tomato Flu

टोमेटो फ्लू एक वायरल रोग है जो छोटे बच्चों और स्कूल जाने वाले बच्चों को अपना शिकार बना रहा है। मेडिकल टर्मिनोलॉजी में यह टोमेटो फ्लू या टोमेटो फीवर एक प्रकार की ‘हैंड, फुट एंड माउथ’ बीमारी है अर्थात् इसका प्रभाव प्रमुख रूप से हाथ, पैर और मुंह पर दिखाई देता है। केंद्र ने अभी हाल ही में एक अधिसूचना जारी की है। इस अधिसूचना के अनुसार टोमेटो फ्लू हैंड फूट एंड माउथ डिजीज (Hand foot and mouth disease) का क्लीनिकल वैरिएंट है।

Advertisements

इस वायरल संक्रमण से बच्चों में निर्जलीकरण की समस्याएं देखी गई हैं। बच्चों के शरीर पर दाने, चकत्ते, फफोले बन रहे हैं और त्वचा में जलन भी होती है। यह वायरल रोग अधिकतर पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों में होता है। कुछ एक्‍सपर्ट्स इसे दुर्लभ संक्रमण मान रहे हैं तो कुछ का मानना है कि यह डेंगू या चिकुनगुनिया का साइड इफेक्‍ट भी हो सकता है। माना जा रहा है कि टोमेटो फ्लू का सोर्स कोई वायरस है जिसके बारे में कोई जानकारी अभी हासिल नहीं हुई है, इस पर रिसर्च वर्क चल रहा है। फिलहाल टोमेटो फ्लू को वायरल संक्रमण का रूप माना जा रहा है। 

लैंसेट की चेतावनी – Lancet’s warning

एल्सेवियर (यूनाइटेड किंगडम) से प्रकाशित दि लेंसेट रेस्पिरेटरी मेडिसिन (The Lancet Respiratory Medicine) पत्रिका ने 17 अगस्त को चेतावनी देते हुए छापा है कि ‘‘बच्चों को टोमेटो फ्लू होने का अधिक खतरा है, क्योंकि इस आयु वर्ग में वायरल संक्रमण सामान्य बात है और करीबी संपर्क से यह फैल सकता है। छोटे बच्चों को नैपी के इस्तेमाल, गंदी सतहों को छूने और चीजें सीधे मुंह में डालने से भी संक्रमण का खतरा है। अगर बच्चों में टोमेटो फ्लू के प्रकोप को नियंत्रित नहीं किया जाता तो वयस्कों में भी संक्रमण फैल सकता है और गंभीर परिणाम आ सकते हैं।’’

ये भी पढ़े – Omicron BA.5 Symptoms

Advertisements

भारत में टोमेटो फ्लू की स्थिति –  Tomato flu Status in India 

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के अनुसार टोमेटो फ्लू का सबसे पहले पता केरल के कोलम जिले में 6 मई को चला। फिर यह पूरे क्षेत्र में फैल गया। केरल में मई से लेकर अब तक टोमेटो फ्लू के 82 मरीज मिल हैं जिनकी सभी की आयु 5 वर्ष से कम है। उड़ीसा से भी अब तक टॉमेटो फ्लू के 26 मामले रिपोर्ट हुए हैं। इन मरीजों की आयु 1 से 9 वर्ष है। यह चिंता का विषय है। स्वास्थ्य मंत्रालय इसे लेकर गंभीर चिंतित है। अतः कई राज्यों को अलर्ट पर रखा गया है। 

टोमेटो फ्लू का टमाटर से संबंध – Tomato flu Related to Tomatoes 

हम ऊपर बता चुके हैं कि टोमेटो फ्लू का टमाटर के साथ कुछ लेना देना नहीं है। इनका आपस में कोई संबंध नहीं है। टोमेटो फ्लू से पीड़ित मरीज के शरीर पर लाल रंग के निशान हो जाते हैं और बड़े-बड़े फफोले नुमा दाने दिखाई देने लगते हैं जो टमाटर की तरह दिखने लगते हैं। इसी वजह से इसे टोमेटो फ्लू कहा जाता है। 

टोमेटो फ्लू कैसे फैलता है? – How Does Tomato flu Spread?

टोमेटो फ्लू निम्न प्रकार से फैल सकता है –

1. अन्य फ्लू की तरह टोमेटो फ्लू भी संक्रामक है और अत्यंत संक्रामक है। यह एक छूत की बीमारी है जो छूने से फैलती है। 

2. संक्रमित बच्चे के कपड़े छूने से, उसके खिलौने छूने से, शेयर करने से, 

3. संक्रमित बच्चे का खाना खाने से। 

4. उसकी किसी भी वस्तु को छूने या शेयर करने से।

5. छोटे बच्चों की आदत के अनुसार हर वस्तु को मुंह में लेने से। 

6. संक्रमित बच्चे के बाहर घूमने फिरने से। अन्य बच्चों के साथ खेलने से। 

टोमेटो फ्लू कितना खतरनाक है? – How Dangerous is Tomato Flu?

हैल्थ एक्सपर्ट टोमेटो फ्लू को एक दुर्लभ संक्रमण मानते हैं और यह भी मानते हैं कि यह अत्यंत संक्रामक है और बहुत तेजी से फैलता है परन्तु यह घातक नहीं है यानि कि यह जानलेवा नहीं है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने भी भरोसा दिया है कि यह घातक नहीं है, इसका इलाज किया जा सकता है। कोई चिंता वाली बात नहीं है। हां, संक्रमित बच्चे के साथ नजदीकी से बचना जरूरी है। 

टोमेटो फ्लू के कारण – Cause of Tomato Flu

टोमेटो फ्लू के प्रमाणिक कारण अज्ञात हैं। इसको फिलहाल वायरल संक्रमण माना जा रहा है। कई एक्सपर्ट इसकी वजह डेंगू या चिकुनगुनिया का साइड इफेक्‍ट को मान रहे हैं। परन्तु इसके पीछे कौन सा वायरस है, इस बारे में रिसर्च जारी है। 

टोमेटो फ्लू के लक्षण – Symptoms of Tomato Flu

अब तक टोमेटो फ्लू के जो मामले सामने आये हैं उनमें निम्नलिखित लक्षण देखने को मिले हैं –

1. शुरुआत में बुखार आना, भोजन करने का मन ना करना। फिर बाद में –

2. गले में सूजन और छाले होना।

ये भी पढ़े – मुंह में छालों का देसी इलाज

3. छाले जीभ, मसूड़े, गाल, हथेली और तलवों पर भी हो सकते हैं। 

4. त्वचा पर लाल रंग के फफोले टाइप दाने हो जाना, चकत्ते बन जाना जो बड़े होकर टमाटर जैसे दिखने लगते हैं। इन में दर्द होना।

5. शरीर में पानी की कमी होना।

6. शरीर में दर्द होना, जोड़ों में सूजन आ जाना।

7. हाथों, घुटनों और नितंबों की त्वचा का रंग बिगड़ जाना।  

8. जी मिचलाना, उल्टी होना।

9. पेट में ऐंठन।

10. सामान्य से अधिक खांसी उठना।

11. छींकें आना।

12. शरीर में थकावट और कमजोरी होना।

टोमेटो फ्लू का निदान – Tomato Flu Diagnosis

1. टोमेटो फ्लू का कोई विशेष निदान नहीं है। जीका वायरस, चिकनगुनिया और डेंगू के जो लक्षण हैं, ऐसे लक्षणों वाले मरीजों के आणविक और सीरोलॉजिकल परीक्षण (molecular and serological tests) किये जा सकते हैं। 

2. श्वसन और मल के नमूनों  (Respiratory & Fecal Samples) के द्वारा टोमेटो फ्लू के बारे में पता लगाया जा सकता है। परन्तु ये सभी सेंपल लक्षणों के आधार पर संक्रमित होने का संदेह होने पर 48 घंटे के अंदर ही देने होंगे।  

टोमेटो फ्लू का उपचार – Tomato Flu Treatment

टोमेटो फ्लू का कोई विशेष उपचार उपलब्ध नहीं है। इसके लक्षणों को जानकर सामान्य इलाज किया जा सकता है। डॉक्टर बुखार के लिये पैरासिटामोल सीरिप/गोली दे सकते हैं, पूरा आराम करने की सलाह दी जाती है, तरल पेय पदार्थ पीने को कहा जा सकता है ताकि शरीर में पानी की कमी ना होने पाये। साथ ही डॉक्टर, बच्चे को एक सप्ताह के लिये क्वारंटीन करने की सलाह दे सकते हैं। 

टोमेटो फ्लू के घरेलू उपाय – Home Remedies for Tomato Flu

देसी हैल्थ क्लब यहां स्पष्ट करता है कि टोमेटो फ्लू का कोई घरेलू उपाय नहीं है। बिना डॉक्टर या विशेषज्ञ की सलाह के, उपचार के लिये कोई भी कदम उठाना, भारी पड़ सकता है। 

बच्चे को टोमेटो फ्लू होने पर क्या करें ? – What to do if Baby has Tomato Flu

बच्चे को टोमेटो फ्लू होने की स्थिति में निम्नलिखित कार्यवाही करें –

1. टोमेटो फ्लू के लक्षण जो हमने ऊपर बताये हैं यदि वे आप अपने बच्चे में देखते हैं तो तुरन्त अपने बच्चे को लेकर डॉक्टर के पास जायें और उनकी सलाह के अनुसार कार्य करें। 

2. बच्चे को त्वचा खुजाने ना दें और ना ही दानों को खुरचने/फोड़ने दें।

3. बच्चे को हो सके तो गुनगुना पानी पिलायें ताकि शरीर में पानी की कमी ना होने पाये, नारियल पानी, फलों का जूस भी पिलायें।

4. बच्चे को गुनगुने पानी से निहलायें।

5. बच्चे की साफ़-सफाई का विशेष ध्यान रखें। 

6. बच्चे के कपड़े, खिलौने, बर्तन और उसके उपयोग के अन्य सामान को भी अलग रखें और इनकी नियमित रूप से सफाई करें। 

7. बच्चे को एक सप्ताह तक घर से बाहर ना जाने दें। एक प्रकार से उसे क्वारंटीन करें।

ये भी पढ़े – डी पी टी वैक्सीन क्या है?

टोमेटो फ्लू से बचाव – Tomato Flu Prevention 

अब बताते हैं आपको कुछ उपाय जिनको अपनाकर अपना और बच्चे का टोमाटो फ्लू से बचाव कर सकते हैं –

1. यदि यह पता चल जाता है की अमुक जगह पर टोमाटो फ्लू से कोई संक्रमित है तो वहां जाने से बचें। 

2. यदि जाना ही पड़ जाये तो, मुंह पर मास्क लगाकर जायें और हाथों में ग्लब्स पहनें और मरीज से दो गज की दूरी बनाकर रखें, ठीक उसी प्रकार जैसे कि कोरोना के समय किया था।

3. यदि घर में बच्चा संक्रमित है तो खुद को बचाने के लिये कोशिश करें कि बच्चे को ना छुएं। यदि बच्चा बहुत छोटा है तो उसकी देखभाल के लिये अपने मुंह पर मास्क लगाकर रखें और हाथों में ग्लब्स पहनें। 

4. यदि बच्चा बड़ा है तो उससे दूरी बनाई जा सकती है। उससे दूरी बनाकर रखें। उसे घर में मास्क लगाकर रहने के लिये कहें क्योंकि वह लगा सकता है।

5. सेनीटाईजार का उपयोग करें या हाथों को समय-समय पर धोते रहना चाहिये।

6. संक्रमित बच्चे और उसके आसपास की सफाई का विशेष ध्यान रखें। 

7. घर में किसी के संक्रमित होने पर दोस्तों, पड़ोसियों, रिश्तेदारों को घर ना बुलायें और ना ही उनके घर जायें।

8. संक्रमित मरीज को घर पर क्वारंटीन करें, खुद भी इस टोमाटो फ्लू से बचें तथा औरों को भी बचायें। 

Conclusion – 

दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको टोमाटो फ्लू  के बारे में विस्तार से जानकारी दी। टोमेटो फ्लू क्या है, लेंसेट की चेतावनी, भारत में टोमेटो फ्लू की स्थिति, टोमेटो फ्लू का टमाटर से संबंध, टोमेटो फ्लू कैसे फैलता है, टोमेटो फ्लू कितना खतरनाक है, टोमेटो फ्लू के कारण, टोमेटो फ्लू के लक्षण, टोमेटो फ्लू का निदान, टोमेटो फ्लू का उपचार, टोमेटो फ्लू के घरेलू उपाय और बच्चे को टोमेटो फ्लू होने पर क्या करें, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस आर्टिकल के माध्यम से टोमाटो फ्लू से बचाव के बहुत सारे उपाय भी बताये। आशा है आपको ये आर्टिकल अवश्य पसन्द आयेगा। 

दोस्तो, इस आर्टिकल से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो आर्टिकल के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह आर्टिकल आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health-Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer – यह आर्टिकल केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर/लेखक उत्तरदायी नहीं है। कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

Summary
टोमेटो फ्लू क्या है?
Article Name
टोमेटो फ्लू क्या है?
Description
दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको टोमाटो फ्लू  के बारे में विस्तार से जानकारी दी। टोमेटो फ्लू क्या है, लेंसेट की चेतावनी, भारत में टोमेटो फ्लू की स्थिति, टोमेटो फ्लू का टमाटर से संबंध, टोमेटो फ्लू कैसे फैलता है, टोमेटो फ्लू कितना खतरनाक है, टोमेटो फ्लू के कारण, टोमेटो फ्लू के लक्षण, टोमेटो फ्लू का निदान, टोमेटो फ्लू का उपचार, टोमेटो फ्लू के घरेलू उपाय और बच्चे को टोमेटो फ्लू होने पर क्या करें, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo