Advertisements

एप्पल जूस पीने के फायदे – Benefits of Drinking Apple Juice in Hindi

एप्पल जूस पीने के फायदे

स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग में। दोस्तो, फलों का जूस पीना हर कोई पसंद करता है चाहे वह मौसमी का है, संतरे का, अनार का या मैंगो शेक मगर एक फल का जूस ऐसा है जो मीठा होने के बावजूद इसका स्वाद भाता नहीं है। हम बात कर रहे हैं एप्पल जूस की, यद्यपि एप्पल जूस विश्व स्तर पर आम फलों के जूस के समान ही पीया जाता है मगर स्वास्थ के दृष्टिकोण से ना कि स्वाद की वजह से। इसका स्वाद बेशक मीठा होता है परन्तु किसी को लुभाता नहीं है जैसे कि मैंगो शेक लुभाता है और अपनी ओर आकर्षित करता है। 

एप्पल जूस मन को भाता भी नहीं है और ना ही आनन्दित करता है। एप्पल जूस में कई विटामिन और खनिज होते हैं जो स्वास्थ के लिये लाभकारी होते हैं। यह ना केवल शारीरिक स्वास्थ को बल्कि मानसिक स्वास्थ को भी ठीक रखता है। आखिर ऐसा क्या है इस जूस में और कैसे यह लाभकारी होता है। दोस्तो, यही है हमारा आज का टॉपिक “एप्पल जूस पीने के फायदे”। 

देसी हैल्थ क्लब इस आर्टिकल के माध्यम से आपको एप्पल जूस के बारे में विस्तार से जानकारी देगा और यह भी बताएगा कि इसके फायदे क्या हैं। तो, सबसे पहले जानते हैं कि एप्पल जूस क्या है और एप्पल का उत्पादन कहां होता है। फिर, इसके बाद बाकी बिंदुओं पर जानकारी देंगे।

Advertisements

एप्पल जूस क्या है? – What is Apple Juice

एप्पल जूस, सेब नामक फल का जूस है। सेब को मसलकर या दबाकर इसका जूस निकाला जाता है। एप्पल जूस का सबसे अच्छा पहलू यह है कि इसमें पानी की मात्रा बहुत होती है, ऊर्जा की उच्च मात्रा होती है और फैट नहीं के बराबर। परन्तु इसका सबसे नगन्य पहलू यह है कि इसमें प्रोटीन नहीं होता।

एप्पल जूस को घर पर भी आसानी से निकाला जा सकता है। सेब को अच्छी तरह धोकर, काटकर जूसर में डालकर इसका जूस निकाल सकते हैं। यह शुद्ध और प्राकृतिक होता है क्यों कि इसमें कोई मिलावट नहीं होती। व्यवसाय के लिए, एप्पल जूस के स्टार्च और पेक्टिन हटाए जाते हैं। पैकिंग के लिए कांच, धातु या गत्ते आदि के कंटेनरों की गंध, सड़न आदि को रोकने के लिए, इसे पाश्च्युराइज किया जाता है। 

अथवा एप्पल जूस को निर्जलीय प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। एप्पल जूस विश्व स्तर पर पीए जाने वाला अन्य फलों के जूस के समान आम ही है। यह जूस शारीरिक और मस्तिष्क स्वास्थ के लिए अत्यंत लाभदायक होता है। इसके अतिरिक्त यह मांसपेशियों को  मजबूती प्रदान करता है। जहां तक एप्पल के उत्पादन की बात है तो इस बारे हम आगे जिक्र करेंगे।

Advertisements

ये भी पढ़ें- गाजर का जूस पीने के फायदे 

एप्पल का उत्पादन कहां होता है? – Where is Apple Produced?

1. एप्पल यानि सेब उत्पादन में विश्व में चीन का पहला स्थान है और भारत का पांचवां।

2. सेब का उत्पादन विश्व में लगभग 97 देशों में होता है। हम बता रहे हैं सेब का उत्पादन करने वाले कुछ प्रमुख देशों के नाम। ये हैं चीन, अमेरिका, पोलैंड, टर्की, भारत, ईरान, इटली, रूस, फ्रांस, चिली, उज़्बेकिस्तान, युक्रेन, ब्राजील, जर्मनी, अर्जेण्टीना, दक्षिण अफ़्रीका, उत्तरी कोरिया, दक्षिण कोरिया, जापान, मिस्र, मैक्सिको, स्पेन, पाकिस्तान, हंगरी, अल्जीरिया, ब्रिटेन, रोमानिया, सीरिया, ऑस्ट्रिया, सर्बिया, नीदरलैण्ड, ऑस्ट्रेलिया, यूनान, पुर्तगाल, अफ़्गानिस्तान, पेरू, लेबनान, इज़राइल, जॉर्जिया, जॉर्डन, बुल्गारिया, डेनमार्क, इराक़, नेपाल आदि।

3. भारत में सेब की खेती जम्मू, कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, नागालैंड, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, बिहार, पंजाब और उत्तर प्रदेश में की जाती हैं। 

एप्पल जूस के गुण – Properties of Apple Juice

  1. एप्पल जूस की तासीर ठंडी होती है।
  2. एप्पल जूस का स्वाद मीठा होता है मगर मनभावन और लुभावना नहीं होता। 
  3. एप्पल जूस में एंटीऑक्सीडेंट एंटीइन्फ्लामेट्री, एंटीकैंसर, हेप्टोप्रोटेक्टिव, एंटी-ओबेसिटी, एंटीएलर्जिक गुण होते हैं।
  4. एप्पल जूस में विटामिन-बी, सी और ई तथा प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम जैसे पोषक तत्व होते हैं। 

एप्पल जूस के पोषक तत्व (मात्रा प्रति 100 ग्राम) – Nutrients of Apple Juice (quantity per 100 grams)

  • पानी : 88.24 ग्राम
  • ऊर्जा : 46 Kcal
  • प्रोटीन : 0.1 ग्राम 
  • टोटल लिपिड (फैट) : 0.13 ग्राम
  • शुगर : 9.62 ग्राम
  • फाइबर (टोटल डायट्री) : 0.2 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट : 11.3 ग्राम
  • कैल्शियम : 8 मिलीग्राम
  • आयरन : 0.12 मिलीग्राम
  • फास्फोरस : 7 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम : 5 मिलीग्राम
  • सोडियम : 4 मिलीग्राम
  • पोटेशियम : 101 मिलीग्राम
  • जिंक : 0.02 मिलीग्राम
  • कॉपर : 0.012 मिलीग्राम
  • विटामिन-बी1 : 0.021 मिलीग्राम
  • विटामिन-बी2 : 0.017 मिलीग्राम
  • विटामिन-बी3 : 0.073 मिलीग्राम
  • विटामिन बी-6 : 0.018 मिलीग्राम
  • विटामिन-सी : 10.3 मिलीग्राम
  • विटामिन-ई : 0.01 मिलीग्राम
  • फैटी एसिड (सैचुरेटेड) : 0.022 ग्राम
  • फैटी एसिड 
  • (मोनोअनसैचुरेटेड) : 0.006 ग्राम
  • फैटी एसिड 
  • (पॉलीअनसैचुरेटेड) : 0.039 ग्राम 

एप्पल जूस पीने का सही समय – Right Time to Drink Apple Juice

एप्पल जूस पीने का सही समय क्या है इस बारे में कोई निर्धारित दिशा निर्देश नहीं है परन्तु विशेषज्ञों के अनुसार इसका सेवन सुबह नाश्ते के साथ करना चाहिए। सेब की अम्लीय प्रकृति होने के कारण इसके जूस का खाली पेट सेवन करना अवॉइड करना चाहिए। 

ये भी पढ़ें- मौसमी का जूस पीने के फायदे 

एप्पल जूस की मात्रा –  Amount of Apple Juice

एप्पल जूस कितना पीना चाहिए, इस विषय पर भी निर्धारित मात्रा की जानकारी उपलब्ध नहीं है। परन्तु विशेषज्ञों के अनुसार प्रतिदिन लगभग 100 मिलीग्राम एप्पल जूस पीया जा सकता है। 

एप्पल जूस पीने के फायदे –  Benefits of Drinking Apple Juice 

और अब बताते हैं आपको एप्पल जूस पीने के फायदे जो निम्नलिखित हैं –

1. पाचन के लिए फायदेमंद (Beneficial for Digestion)- अक्सर देखा गया है कि एप्पल का सेवन कई लोगों को रास नहीं आता मगर कई लोगों को बहुत फायदा करता है। वस्तुतः यह भोजन को पचाने में पाचन तंत्र की मदद करता है। एप्पल जूस में मौजूद डायटरी फाइबर और सोर्बिटोल नामक यौगिक पाचन तंत्र के काम में मदद करते हैं।

सोर्बिटोल, मल को ढीला और नरम करता है और प्राकृतिक रूप से पेट साफ हो जाता है। नियमित रूप से एप्पल जूस का सेवन करने पर कब्ज की समस्या से राहत मिल जाती है।

2. मेटाबोलिक सिंड्रोम के खतरे से बचाए(Protect Yourself from the Risk of Metabolic Syndrome)- जब आंतों में विषैले पदार्थों के अवशोषण को रोकने वाले बैक्टीरिया की कमी हो जाए तो इस स्थिति को मेडिकल भाषा में मेटाबोलिक एंडोटॉक्सेमिया (metabolic endotoxemia) कहा जाता है। इसी सिंड्रोम के खतरे को रोकने में एप्पल जूस मदद करता है। 

वस्तुतः एप्पल जूस में उपस्थित पॉलीफिनोल्स की उच्च मात्रा, आंतों में अच्छे बैक्टीरिया की वृद्धि में मदद करती है जिससे मेटाबोलिक सिंड्रोम के संभावित खतरे से बचाव हो जाता है। 

3. इम्यूनिटी बढ़ाए (Increase Immunity)- एप्पल जूस में पर्याप्त मात्रा में विटामिन-सी मौजूद होता है जो एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स के रूप में काम करते हुए इम्यूनिटी बूस्ट करने का काम करते हैं। इतना ही नहीं, ये एंटीऑक्सीडेंट्स मुक्त कणों को भी खत्म करते हैं और शरीर से विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालते हैं। एप्पल जूस में मौजूद फास्फोरस, पोटेशियम, मैग्नीशियम, कॉपर और ज़िंक जैसे खनिज भी इम्यूनिटी बूस्ट करने में मदद करते हैं।

ये भी पढ़ें- जीरा पानी पीने के फायदे

4. वजन कम करे (Lose Weight)- नियमित रूप से एप्पल जूस का सेवन वजन भी कम कर सकता है। इसमें मौजूद डायटरी फाइबर लंबे समय तक भूख ना लगने देने में मदद करता है। एप्पल जूस में पानी की अधिकता और पर्याप्त मात्रा में कैलोरी एनर्जी शरीर में एनर्जी बनाए रखते हैं। एक बात का ध्यान रखें कि केवल खाने पीने से वजन कम नहीं होता इसके लिए प्रतिदिन व्यायाम भी जरूरी है।

5. कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करे (Control Cholesterol)- बढ़ते हुए खराब कोलेस्ट्रॉल LDLको हृदय के लिए घातक माना जाता है क्यों कि यह रक्त धमनियों में जम जाता है। इससे रक्त प्रवाह बाधित होता है। हृदय को पंप करने लिए पर्याप्त मात्रा में रक्त नहीं मिल पाता, तो हृदय को रक्त पंप करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा बना रहता है। 

एप्पल जूस पीने से खराब कोलेस्ट्रॉल कम होता है। एप्पल जूस के एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लामेट्री गुण आर्टरी वाल पर फैट और कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकते हैं। इस प्रकार हृदय सुरक्षित रहता है।

6. मस्तिष्क के लिए फायदेमंद (Beneficial for the Brain)- एप्पल जूस, मस्तिष्क विकारों और रोगों के उपचार में सक्षम होता है। यह डिमेंशिया और अल्जाइमर रोग के लक्षणों को कम करने में मदद करता है, यह ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस, भ्रम की स्थिति, चिंता आदि को दूर करता है।

7. अस्थमा में लाभकारी (Beneficial in Asthma)- अस्थमा के मरीजों को एप्पल जूस पीने से फायदा हो सकता है। यद्यपि इसकी तासीर ठंडी होती है परन्तु इसके से एंटीएलर्जिक और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण अस्थमा के लक्षणों से मुक्ति दिलाने में मददगार होते हैं। एप्पल जूस में मौजूद पॉलीफेनोल्स अस्थमा के अटैक को रोकने में सक्रिय भूमिका निभाते हैं। अस्थमा के मरीज एप्पल जूस का नियमित रूप से सेवन कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें- अस्थमा के घरेलू उपचार

8. लिवर के लिए फायदेमंद (Beneficial for Liver) – एप्पल जूस लिवर के लिए अत्यंत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद मैलिक एसिड लिवर की कार्य प्रणाली में सुधार कर कार्य क्षमता को बढ़ाने में अपनी सक्रिय भूमिका निभाता है। एप्पल जूस में उपस्थित एल्कलाइन विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। 

यह मूत्र को भी उत्तेजित करता है जिससे लिवर के स्वास्थ में बढ़ोतरी होती है। सबसे बड़ी बात यह है कि एप्पल जूस में मौजूद फ्लोरिडजिन, जो कि फिनोलिक ग्लूकोसाइड होता है, लिवर को सुरक्षित रखने का काम करता है।

9. आंखों के लिए फायदेमंद (Beneficial for Eyes)- सेब के छिलके में विटामिन-ए होता है (एक सेब के छिलके में लगभग 8।4 मिलीग्राम) और इसका जूस छिलका समेत निकाला जाता है। यदि छिलका निकाल भी दिया जाए तो भी सेब में विटामिन-ए की मात्रा 6।4 मिलीग्राम रह जाती है। 

विटामिन-ए को आंखों का विटामिन कहा जाता है जो दृष्टि को ठीक बनाए रखता है तथा आंखों की सुरक्षा करता है। इसके अतिरिक्त विटामिन-सी, एंटीऑक्सीडेंट, ज़िंक और कॉपर जैसे खनिज भी आंखों के स्वास्थ को बनाए रखने में मदद करते हैं। इसलिए एप्पल जूस पीने से आंखों का स्वास्थ ठीक रहता है। 

10. त्वचा के लिए फायदेमंद (Beneficial for Skin)- विटामिन-ई, को त्वचा स्वास्थ के लिए आवश्यक माना जाता है। वस्तुतः विटामिन-ई, है ही त्वचा के लिए। इसीलिए अक्सर लोशन, क्रीम और जेल बनाने में विटामिन-ई का उपयोग किया जाता है। एप्पल जूस में विटामिन-ई मौजूद होता है जो एंटीएजिंग के रूप में कार्य करते हुए चेहरे की झुर्रियों और फाइनलाइंस को कम करने में मदद करता है। 

यह काले धब्बों और मुक्त कणों से राहत दिलाता है। विटामिन-ई कोलेजन बनाने वाली त्वचा कोशिकाओं की भी रक्षा करता है। फलस्वरुप त्वचा में निखार आता है। अतः एप्पल जूस का सेवन त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद है।

ये भी पढ़ें- मुंहासों से छुटकारा पाने के देसी उपाय

एप्पल जूस पीने के नुकसान – Disadvantages of Drinking Apple Juice

एप्पल जूस के फायदे जान लेने के बाद अब जानते हैं इसके नुकसान के बारे में जो निम्न प्रकार हैं –

  1. डायबिटीज के मरीजों को एप्पल जूस पीने को अवॉइड करना चाहिए क्योंकि एप्पल फल की अपेक्षा इसके जूस में शुगर की मात्रा अधिक होती है, यह उनके ग्लुकोज के लेवल को बढ़ा सकता है।
  2. जिन लोगों को एप्पल से एलर्जी है उनको भी इसके जूस से परहेज करना चाहिए क्यों कि जूस उनकी समस्या बढ़ा सकता है।
  3. एप्पल अम्लीय प्रकृति का होता है। इस वजह से इसका सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए। इस जूस का अधिक सेवन दांतों के इनेमल को प्रभावित कर इसे क्षति पहुंचा सकता है। 
  4. एप्पल जूस के अधिक सेवन से डायरिया हो सकता है।
  5. एप्पल जूस के अधिक सेवन से जठरांत्र से जुड़ी समस्या (gastrointestinal problems) हो सकती है।
  6. एप्पल जूस का अधिक सेवन गुर्दे की पथरी होने के जोखिम को बढ़ा सकता है।
  7. एप्पल जूस का अधिक सेवन वजन कम करने की अपेक्षा वजन बढ़ा सकता है।

Conclusion –

दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको एप्पल जूस के बारे में विस्तार से जानकारी दी। एप्पल जूस क्या है, एप्पल जूस का उत्पादन, एप्पल जूस के गुण, एप्पल जूस के पोषक तत्व, एप्पल जूस पीने का सही समय और एप्पल जूस की मात्रा, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस आर्टिकल के माध्यम से एप्पल जूस के बहुत सारे फायदे बताए और कुछ नुकसान भी बताए। आशा है आपको ये आर्टिकल अवश्य पसन्द आयेगा।

दोस्तो, इस आर्टिकल से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो आर्टिकल के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह आर्टिकल आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health-Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer – यह आर्टिकल केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर/लेखक उत्तरदायी नहीं है। कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

Summary
Advertisements
एप्पल जूस पीने के फायदे
Advertisements
Article Name
एप्पल जूस पीने के फायदे
Description
दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको एप्पल जूस के बारे में विस्तार से जानकारी दी। एप्पल जूस क्या है, एप्पल जूस का उत्पादन, एप्पल जूस के गुण, एप्पल जूस के पोषक तत्व, एप्पल जूस पीने का सही समय और एप्पल जूस की मात्रा, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!