Advertisements

ब्रोकली खाने के फायदे – Benefits of Eating Broccoli in Hindi

ब्रोकली खाने के फायदे

स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर। सब्जियों में हरी सब्जियों का नाम सबसे पहले आता है क्योंकि ये पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं। डॉक्टर भी हरी सब्जियों को खाने की सलाह दी जाती है। भारत में सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली और सबसे ज्यादा बिकने वाली सब्जी फूलगोभी है। इस फूलगोभी के परिवार से एक और गोभी निकली है जो धीरे-धीरे अपनी लोकप्रियता की ओर बढ़ रही है। इसका नाम है ब्रोकली। ब्रोकली एक ऐसी हरी सब्जी है जिसमें अन्य सब्जियों की तुलना में अधिक पोषक तत्व होते हैं। प्रोटीन और फाइबर से भरपूर ब्रोकली, जिम जाने वाले लोगों के बीच अधिक लोकप्रिय है। यह अन्य सब्जियों की तुलना में अधिक मंहगी बिकती है। ब्रोकली खाने के स्वास्थ के लिये अनेक फायदे होते हैं, इसीलिये आज हमने इसको चुना है और यही है हमारा आज का टॉपिक “ब्रोकली खाने के फायदे”

देसी हैल्थ क्लब इस आर्टिकल के माध्यम से आपको ब्रोकली के बारे में विस्तार से जानकारी देगा और यह भी बताएगा कि इसे खाने के क्या फायदे हैं। तो, सबसे पहले जानते हैं कि ब्रोकली क्या है और ब्रोकली की किस्में। फिर, इसके बाद बाकी बिंदुओं पर जानकारी देंगे।

Advertisements
ब्रोकली खाने के फायदे
Advertisements

ब्रोकली क्या है? – What is Broccoli?

ब्रोकली, पोषक तत्वों से समृद्ध हरी सब्जी है जिसका संबंध गोभी परिवार (परिवार ब्रैसिसेकी, जीनस ब्रैसिका ) से है। इसके बड़े फूल वाले सिर, डंठल और छोटे जुड़े पत्तियों को सब्जी के रूप में खाया जाता है। इसकी फसल के लिए ठंडी जलवायु (18 से 23 डिग्री के बीच का तापमान) तथा बलुई दोमट मिट्टी को अच्छा माना जाता है इसे और सितम्बर महीने के मध्य से फरवरी तक उगाया जा सकता है।

Advertisements

ब्रोकली पौधे का तना मोटा तना होता है जो पत्तियों से घिरा हुआ होता है। इसके ऊपर हरे रंग का फूल कलिकाओं का गुच्छा उगता है जिसे फूल खिलने से पहले पौधों से तोड़ लिया जाता है और इसी को खाया जाता है। ब्रोकली का वज़न 0.350 किलोग्राम से 0.5 किलोग्राम तक हो सकता है। ब्रोकली का वैज्ञानिक नाम ब्रैसिका ओलेरासिया वार। इटैलिका (Brassica oleracea var। italica) है।

ब्रोकली की किस्में –  Varieties of Broccoli

ब्रोकली की मुख्यत रूप से तीन किस्में होती हैं – सफेद, हरी और बैंगनी। इनमें से हरे रंग की गंठी हुई शीर्ष वाली किस्म को लोगों द्वारा सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है।  ब्रोकली की नाइन स्टार, पेरिनियल, इटैलियन ग्रीन स्प्राउटिंग या केलेब्रस, बाथम 29 तथा ग्रीन हेड प्रमुख किस्में हैं। इसके अतिरिक्त इसकी संकर किस्मों में पाईरेट पेक में, प्रिमिय क्रॉप, क्लीपर, क्रुसेर, स्टिक व ग्रीन सर्फ़ मुख्य रूप से सम्मलित हैं। 

ये भी पढ़े- ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे

Advertisements

ब्रोकली की खेती कहां होती है? – Where is Broccoli Cultivated?

1. माना जाता है कि ब्रोकली लगभग छठी शताब्दी ईसा पूर्व में ब्रैसिका फसलों के प्रजनन के फलस्वरूप उत्तरी भूमध्यसागरीय क्षेत्र में उत्पन्न हुई थी। ग्रीक और रोमनवासी ब्रोकोली का नियमित रूप से सेवन करते थे। 16वीं शताब्दी के समय इटली के लोग यूरोप में ब्रोकोली लाये जो कि 18वीं शताब्दी तक यह उत्तरी यूरोप में फैल चुकी गई थी। 19वीं शताब्दी में इटली के प्रवासियों द्वारा ब्रोकोली, उत्तरी अमेरिका में लाई गई। 

2. ब्रोकली उत्पादक में चीन का विश्व में प्रथम स्थान है।

3. चीन के अतिरिक्त, संयुक्त राज्य अमेरिका, स्पेन और मैक्सिको में ब्रोकली की खेती होती है।

4. उत्तरी भारत के मैदानी क्षेत्रों में ब्रोकली की खेती की जाती है। हिमाचल प्रदेश, उत्तरांचल, जम्मू और कश्मीर में खेती के साथ-साथ इसके बीज भी तैयार किये जाते हैं।

ब्रोकली के गुण – Property of Broccoli

1. ब्रोकली की तासीर गर्म होती है।

2. ब्रोकली के स्वाद में हल्की सी कड़वाहट होती है जो कि ग्लूकोसाइनोलेट्स और उनके हाइड्रोलिसिस उत्पादों, विशेषकर आइसोथियोसाइनेट्स और अन्य सल्फर युक्त यौगिकों के परिणामस्वरूप हो सकती है।

3. ब्रोकली में गैस्ट्रोप्रोटेक्टिव, एंटीमाइक्रोबियल, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीकैंसर, हेपाटोप्रोटेक्टीव, कार्डियोप्रोटेक्टिव, एंटीओबेसिटी, एंटीडायबिटीक, एंटीइंफ्लेमेटरी आदि गुण होते हैं।

4. ब्रोकली पोषक तत्वों से भरपूर होती है। इसमें विटामिन-ए, ई, बी, सी, के और प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, आयरन, फास्फोरस आदि कई खनिज उपस्थित होते हैं। 

ब्रोकली के पोषक तत्व (मूल्य प्रति ग्राम 100 ग्राम) :-

पानी                        89.30 ग्राम

ऊर्जा                         34 Kcal

प्रोटीन                 2.82 ग्रा

फैट                           0.37 ग्रा

शुगर कुल                   1.7 ग्रा

फाइबर टोटल डाइटरी 2.6 ग्रा

कार्बोहाइड्रेट         6.64 ग्रा

कैल्शियम                 47 मि.ग्रा

फास्फोरस                 66 मि.ग्रा

आयरन                 0.73 मि.ग्रा

मैग्नीशियम                 21 मि।ग्रा

सोडियम                 33 मि.ग्रा

पोटेशियम                 316 मि.ग्रा

ज़िंक                          0.41 मि.ग्रा

कॉपर                 0.049 मि.ग्रा

सेलेनियम                 2.5 माइक्रोग्राम

विटामिन-सी 

(टोटल एस्कॉर्बिक एसिड)89.2 मि.ग्रा

थियामिन                   0. 071 मि.ग्रा

राइबोफ्लेविन           0.117 मि.ग्रा

नियासिन                   0.639 मि.ग्रा

विटामिन-बी6           0.175 मि.ग्रा

फोलेट                   63 माइक्रोग्राम

कॉलिन                   18.7 मि.ग्रा

विटामिन-ए (RAE)   31 माइक्रोग्राम

बीटा कैरोटीन           361 माइक्रोग्राम

ल्यूटिन + जियाजैंथिन   1403 माइक्रोग्राम

विटामिन-ई

(अल्फा-टोकोफेरोल )   0.78 मि.ग्रा

विटामिन-के 

(फाइलोकिनने)           101.6 माइक्रोग्राम

फैटी एसिड 

(टोटल सैचुरेटेड)           0.114 ग्रा

फैटी एसिड 

(टोटल मोनोअनसैचुरेटेड  0.031 ग्रा

फैटी एसिड)

(टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड) 0.112 ग्रा

ये भी पढ़े- विटामिन K क्या है?

ब्रोकली का उपयोग – Uses of Broccoli 

ब्रोकली का उपयोग निम्न प्रकार से किया जा सकता है।

1. ब्रोकली की सब्जी बनाकर खा सकते हैं, फूलगोभी की तरह।

2. इसकी करी बनाकर भी सेवन किया जा सकता है।

3. इसका सूप भी बनाया जा सकता है।

4. ब्रोकली का सलाद बना कर भी खाया जा सकता है। जिम जाने वाले लोग अधिकतर इसको सलाद के रूप में ही खाते हैं।

5. ब्रोकली को उबालकर भी खाया जाता है।

6. इसका रायता भी बना सकते हैं।

7. इसे पास्ता और नूडल्स में मिलाने पर स्वाद बढ़ जाता है।

8. मांसाहारी लोग ब्रोकली को चिकन और अंडे में मिलाकर सेवन कर सकते हैं।

9. अंडे का आमलेट बनाते समय ब्रोकली के छोटे-छोटे टुकड़े काटकर डाल सकते हैं।

10. कुछ लोग ब्रोकली के फूल और डंठल भी खाना पसंद करते हैं।

ब्रोकली खाने के फायदे – Benefits of Eating Broccoli

दोस्तो, अब बताते हैं आपको ब्रोकली खाने के फायदे जो निम्न प्रकार हैं –

1. प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाए (Boost Immune System)- हरी सब्जियों का लाभ हर मौसम में होता है। ये मौसम के बदलाव से होने वाली बीमारियों के विरुद्ध लड़ने के लिये प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार करती हैं। ब्रोकली एक ऐसी ही हरी सब्जी है जिसमें कई विटामिन, आयरन, मैग्नीशियम, सेलेनियम, फास्फोरस, ज़िंक, कॉपर आदि कई खनिज मौजूद होते हैं। इनके अतिरिक्त विटामिन-सी और सल्फोराफेन (Sulforaphane) पाए जाते हैं। ये सभी इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करते हैं। 

2. पाचन तंत्र में सुधार करे (Improve Digestive System)- ब्रोकली में विटामिन-ए और फाइबर पर्याप्त मात्रा में मौजूद होते हैं जो पाचन तंत्र में सुधार का काम करते हैं। इसके साथ ही ये आंत के स्वास्थ को भी सही बनाये रखने में मदद करते हैं। इसमें मौजूद फाइबर भोजन को रसदार बनाकर पचाने में मदद करता है और मल को ढीला करता है ताकि मल त्याग में आसानी रहे। इस प्रकार पेट की समस्याओं जैसे कब्ज, गैस आदि से भी राहत दिलाता है। इसके अतिरिक्त ब्रोकली के सेवन से पेट में बनने वाले अल्सर के बैक्टीरिया (H। pylori bacteria) से भी बचा जा सकता है। 

ये भी पढ़े- पाचन तंत्र को मजबूत करने के उपाय

3. मस्तिष्क स्वास्थ के लिए फायदेमंद (Beneficial for Brain Health)- ब्रोकली के फायदे मस्तिष्क स्वास्थ के लिये भी देखे जा सकते हैं। ब्रोकली में मौजूद अल्फा लिपोइक एसिड (Alpha lipoic acid) को मस्तिष्क कोशिकाओं के विकास के लिये महत्वपूर्ण माना जाता है। यह संज्ञानात्मक कार्य और अच्छी स्मृति के लिए जरूरी है। ब्रोकली स्मृति में वृद्धि करती है।

अल्जाइमर के मरीजों के उपचार में यह अपनी सक्रिय भूमिका निभा सकती है। इसमें मौजूद कई विटामिन-बी मानसिक सहनशक्ति को बढ़ाने में मदद करते हैं। ब्रोकली में फॉलिक एसिड भी होता है जो मस्तिस्क स्वास्थ के लिये महत्वपूर्ण पोषक तत्व है। ब्रोकली के सेवन से मानसिक थकावट खत्म होती है और डिप्रेशन से भी राहत मिलती है।

4. तनाव को दूर करे (Stress)- जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि ब्रोकली के फायदे मस्तिष्क स्वास्थ के लिये भी देखे जा सकते हैं, यह मानसिक थकान को दूर करती है। ब्रोकली में सल्फोराफेन नामक यौगिक मौजूद होता है जिसे न्यूरोप्रोटेक्टिव गुण कहा जाता है यह मस्तिष्क को स्वस्थ और सुरक्षित रखने वाले प्रभाव छोड़ता है। ब्रोकली को एंटीडिप्रसेंट फूड माना जाता है। ब्रोकली के सेवन से तनाव से राहत मिलती है और मूड अच्छा बनता है। तनाव की स्थिति में ब्रोकली का सेवन एक बहुत अच्छा विकल्प है।

5. विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाले (Flush out Toxins)- ब्रोकली का यह बहुत महत्वपूर्ण कार्य है कि यह शरीर को डिटॉक्सीफाई (detoxify) करती है। हम जो भी खाते हैं, विशेषकर बाहर का खाना चाहे मजबूरी में चाहे शौक में, शरीर में विषैले तत्व जमा होने लगते हैं। शरीर से इनका बाहर निकलना बेहद जरूरी होता है अन्यथा ये विषैले तत्व कई बीमारियों का कारण बनते हैं। ब्रोकली एंटीऑक्सीडेंट गुणों से समृद्ध होती है। यही गुण शरीर में एंजाइम्स का स्तर बढ़ाते हैं। यही एंटीऑक्सीडेंट गुण और एंजाइम शरीर को डिटॉक्सीफाई करने का काम करते हैं।  

6. कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करे (Control Cholesterol)- शरीर में खराब वाले कोलेस्ट्रॉल LDL का स्तर बढ़ जाना खतरनाक होता है। यह हृदय की आर्टरीज़ को नुकसान पहुंचाता है। हृदय की आर्टरीज़ को नुकसान पहुंचने का मतलब है कि हृदय स्वस्थ नहीं है, कभी भी हृदय संबंधी जोखिम भरी समस्या हो सकती है जैसे स्ट्रोक, हार्ट अटैक आदि। 

इसलिये LDL का अपनी सीमा में रहना बहुत जरूरी है। ब्रोकली में मौजूद ग्लूकोराफैनिन (Glucoraphanin), फाइबर और एस-मिथाइल सिसटिन सल्फोक्साइड (S-methyl cysteine sulphoxide) LDL को कम कर, इसे कंट्रोल करने में मदद करते हैं। अतः कोलेस्ट्रॉल LDL बढ़ने की स्थिति में ब्रोकली का सेवन करें।

ये भी पढ़े- कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय

7.  हाई ब्लड प्रेशर को कम करें (Reduce High Blood Pressure)- ओएचएसयू (OHSU) स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने अपनी शोध में पता लगाया कि ब्रोकोली हाई ब्लड प्रेशर को कम कर, इसे कंट्रोल में मदद करती है।  ब्रोकली में मौजूद कार्बनिक सल्फर यौगिक (Sulforaphane) बेहतर डीएनए मेथिलिकेशन में अपनी सक्रिय और महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह सामान्य सेलुलर कार्यों और उचित ज़ीन के लिए भी अत्यंत महत्वपूर्ण है। 

इसके अतिरिक्त ब्रोकली में मौजूद मैग्नीशियम, कैल्शियम और पोटेशियम भी हाई ब्लड प्रेशर को कम कर इसके स्तर को कंट्रोल को करने में मदद करते हैं। हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को चार, पांच बार ब्रोकली का सेवन करना चाहिये। 

8. डायबिटीज में फायदेमंद (Beneficial in Diabetes) – डायबिटीज के मरीजों के लिये ब्रोकली का सेवन अत्यंत लाभदायक है। ब्रोकली में एंटीआक्सीडेंट और एंटीडायबिटिक गुण मौजूद होते हैं जो शुगर लेवल को कम करने और इसे नियंत्रित करने में मदद करते हैं। ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस से शुगर लेवल में बढ़ोतरी होती है। ब्रोकली के एंटीआक्सीडेंट गुण ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं। डायबिटीज के मरीज ब्रोकली को अपने भोजन में शामिल करें। 

9. हृदय को स्वस्थ रखे (Keep Heart Healthy)- खराब कोलेस्ट्रॉल LDL, हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज हृदय स्वास्थ के लिये जोखिम भरे कारण होते हैं। ब्रोकली के सेवन से इन तीनों को ही कंट्रोल किया जा सकता है। यह हमने ऊपर बताया भी है। इन तीनों का लेवल सही होने पर हृदय अपने आप सुरक्षित हो जाता है।

वैसे भी ब्रोकली में कार्डियोप्रोटेक्टिव Cardioprotective) गुण मौजूद होते हैं जो हृदय को स्वस्थ रखते हैं। ब्रोकली में मौजूद पोटेशियम और विटामिन-सी हृदय धमनियों की ब्लड-पम्पिंग करने की क्षमता में सुधार करते हैं। सेलेनियम (Selenium) और ग्लूकोसिनोलेट्स (Glucosinolates) जैसे तत्व हृदय को स्वस्थ रखने वाले प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाने में मदद करते हैं ताकि हृदय स्वस्थ रहे।

10. कैंसर से बचाव करें (Prevent Cancer)- यद्यपि कैंसर जैसी गंभीर और खतरनाक बीमारी का डॉक्टरी उपचार ही होता है परन्तु कुछ घरेलू उपाय इससे काफी हद तक बचाव कर सकते हैं। इनमें ब्रोकली भी एक उपाय है। ब्रोकली में मौजूद सेलेनियम में एंटीकैंसर गुण होते हैं जो कैंसर से बचाव करने में मदद करते हैं। इसके अतिरिक्त इसमें सल्फोराफेन नामक एक प्राकृतिक यौगिक होता है जो लिवर को स्वस्थ रखने, अल्जाइमर, हृदय रोग आदि के खतरे को कम करने में मदद करता है। 

ब्रोकली के सेवन से ब्रेस्ट, स्किन, प्रोस्टेट और सर्वाइकल कैंसर से बचा जा सकता है। इसीलिए हर किसी को कम से कम एक या आधा कप ब्रोकोली, दो या तीन बार हर सप्ताह खाने की सलाह दी जाती है। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी में किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि ब्रोकली ट्यूमर के विकास को 60 प्रतिशत तक रोकने तथा ट्यूमर के आकार को 75 प्रतिशत तक कम करने में मदद कर सकती है। 

11. आंखों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद (Beneficial for Eye Health)- ब्रोकली को आंखों के स्वास्थ के लिए उत्तम आहार माना जाता है क्योंकि इसमें ल्यूटिन और जियाजैंथिन जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं। ये आंखों के लिये महत्वपूर्ण और जरूरी पोषक तत्व होते हैं। ये आंखों की दृष्टि को कम होने से बचाते हैं। ब्रोकली के सेवन से उम्र से संबंधित धब्बेदार अध: पतन (Age-Related Macular Degeneration) के जोखिम, जैसे धीरे-धीरे दृष्टि का कमजोर होना, मोतियाबिंद आदि, से बचा जा सकता है।

12. हड्डियों और दांतों के लिए फायदेमंद (Beneficial for Bones and Teeth)- हड्डियों के विकास और मजबूती के लिये तथा दांतों के स्वास्थ के लिये, कैल्शियम की आवश्यकता होती है। ब्रोकली में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मौजूद होता है। शरीर, हड्डियों और दांतों में 99 प्रतिशत से अधिक कैल्शियम का भंडारण करके, इन्हें मजबूत बनाता है। इसलिये कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए ब्रोकली का सेवन करना चाहिए। 

13. गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद (Beneficial for Pregnant Women)- यहां हम स्पष्ट कर दें कि गर्भवती महिला को ब्रोकली का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले लेनी चाहिए क्योंकि गर्भावस्था में हर गर्भवती महिला का स्वास्थ एक जैसा नहीं होता। गर्भावस्था में महिला को अतिरिक्त पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है।

कैल्शियम भी ऐसा ही एक पोषक तत्व है जो गर्भस्थ शिशु के विकास, उसके स्वास्थ और उसकी हड्डियों की मजबूती के लिये बेहद जरूरी होता है। ब्रोकली के सेवन से गर्भवती महिला को पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मिल जाता है। इसके अतिरिक्त ब्रोकली खाने से गर्भवती महिला में फोलेट, विटामिन-के और विटामिन-सी की भी कमी पूरी हो जाती है। 

ये भी पढ़े- मॉर्निंग सिकनेस क्या है?

14. त्वचा के लिए फायदेमंद (Beneficial for Skin)- ब्रोकली के सेवन से त्वचा को फायदा मिलता है। इसमें पाए जाने वाले बीटा कैरोटीन और विटामिन-ई और कुछ विटामिन-बी, त्वचा को स्वास्थ बनाए रखने का कार्य करते हैं। ये त्वचा को युवा बनाये रखते हैं और नेचुरल ग्लो प्रदान करते हैं।

ब्रोकली एंटीएजिंग प्रभाव छोड़ते हुए बढ़ती उम्र की गति को कम करने में मदद करती है। चेहरे की झुर्रियां, फाइन लाइन्स जैसे लक्षणों को कम करती है। यह चेहरे के दाग धब्बों को भी दूर करती है। यह सूरज की हानिकारक यूवी किरणों से बचाने के लिए प्राकृतिक सनस्क्रीन के तौर पर कार्य करती है। 

15. बालों के स्वास्थ्य के लिये लाभकारी (Beneficial for Hair Health)- ब्रोकली में मौजूद मैग्नीशियम, पोटेशियम, कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन-सी जैसे पोषक तत्व बालों के विकास में मदद करते हैं और इनको स्वस्थ रखते हैं। ब्रोकली में मौजूद विटामिन-सी, विटामिन-ए और विटामिन-बी6 सीबम के उत्पादन को उत्तेजित करते हैं। सीबम बालों के रोम छिद्रों द्वारा स्रावित एक द्रव है जो बालों के लिए एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र और कंडीशनर के तौर पर कार्य करते हुए बालों को शुष्क नहीं होने देता और फ्रिज़ी होने से भी रोकता है। 

ये विटामिन बालों की जड़ों को मजबूत बनाते हैं। ब्रोकली में उपस्थित कैल्शियम बालों के फॉलिकल्स को मजबूती प्रदान करते हुए बालों को झड़ने से बचाता है। अतः बालों के विकास और स्वास्थ्य के लिए विशेषज्ञ, सप्ताह में तीन या चार बार कच्ची ब्रोकली खाने की सलाह देते हैं।

ब्रोकली खाने के नुकसान – Side Effects of Eating Broccoli  

यद्यपि ब्रोकली खाने के कोई नुकसान नुकसान नहीं हैं परन्तु अधिक मात्रा में खाने से हो सकते हैं ये नुकसान –

1. ब्रोकली में फाइबर अधिक होने के कारण पेट में गैस बन सकती है।

2. पेट फूल सकता है, दस्त लग सकते हैं।

3. आंतों में जलन हो सकती है  

4. कई लोगों को ब्रोकली खाने से एलर्जी हो सकती है। यदि कोई समस्या होती है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

5. जो लोग रक्त को पतला करने की दवाई ले रहे हैं उनको ब्रोकली कम मात्रा में खाने की सलाह दी जाती है। 

6. थाइरॉइड की समस्या वाले लोगों को भी ब्रोकली कम मात्रा में खानी चाहिए। 

Conclusion – 

दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको ब्रोकली खाने के फायदे के बारे में विस्तार से जानकारी दी। ब्रोकली क्या है?, ब्रोकली की किस्में, ब्रोकली की खेती कहां होती है?, ब्रोकली के गुण, ब्रोकली के पोषक तत्व और ब्रोकली का उपयोग, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस आर्टिकल के माध्यम से ब्रोकली खाने के बहुत सारे फायदे बताये और कुछ नुकसान भी बताये। आशा है आपको ये आर्टिकल अवश्य पसन्द आयेगा। 

दोस्तो, इस आर्टिकल से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो आर्टिकल के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह आर्टिकल आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health-Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer – यह आर्टिकल केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर/लेखक उत्तरदायी नहीं है। कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

Summary
ब्रोकली खाने के फायदे
Article Name
ब्रोकली खाने के फायदे
Description
दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको ब्रोकली खाने के फायदे के बारे में विस्तार से जानकारी दी। ब्रोकली क्या है?, ब्रोकली की किस्में, ब्रोकली की खेती कहां होती है?, ब्रोकली के गुण, ब्रोकली के पोषक तत्व और ब्रोकली का उपयोग, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo

One thought on “ब्रोकली खाने के फायदे – Benefits of Eating Broccoli in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *