Advertisements

पेट साफ करने के घरेलू उपाय – Home Remedies to Clean Stomach in Hindi

पेट साफ करने के घरेलू उपाय

स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर। दोस्तो, आज हम लेकर आये हैं एक ऐसा टॉपिक जो दिनचर्या की शुरुआत का पहला और सबसे मुख्य हिस्सा है अर्थात् “पेट साफ” होना। सीधी-सादी भाषा में कहा जाये तो सरलता से मल त्याग होना। यह वास्तविकता है कि सुबह-सुबह जिसका पेट साफ हो गया तो समझो कि वह इस काम से सारे दिन के लिये फ्री हो गया। जिसका पेट साफ नहीं हुआ, वह परेशान ही रहता है ना जाने कब वक्त-बेवक्त इस काम के लिये जाना पड़ जाये। कई बार समय इजाजत नहीं देता तो कभी समुचित जगह नहीं मिलती। वैसे भी इस कारण उसको कभी डकारें आती हैं तो कभी गैस पास करता है, ऐसी हालत में पब्लिक प्लेस में वह तमाशा बन जाता है और शर्मिंदगी उठानी पड़ती है। आखिर ऐसा क्या किया जाये जिससे रोजाना पेट साफ रहे। दोस्तो, यही है हमारा आज का टॉपिक “पेट साफ करने के घरेलू उपाय”।

देसी हैल्थ क्लब इस आर्टिकल के माध्यम से आपको पेट के बारे में विस्तार से जानकारी देगा और यह भी बताएगा कि पेट साफ करने के घरेलू उपाय क्या हैं?। तो, सबसे पहले जानते हैं कि पेट क्या है और पेट साफ होना क्या होता है? फिर इसके बाद बाकी बिंदुओं पर जानकारी देंगे।

Advertisements
पेट साफ करने के घरेलू उपाय
Advertisements

पेट क्या है?- What is Stomach

पेट जिसे आयुर्वेद में उदर के नाम से जाना जाता है, मानव और कुछ अन्य रीढ़ की हड्डी वाले प्राणियों में शरीर का अत्यंत यहत्वपूर्ण हिस्सा है। यह छाती और कूल्हा के बीच में स्थित होता है। पेट की दीवार मांसपेशियों की तीन परतों से निर्मित होती है। पेट के अंदर छोटी आंत, बड़ी आंत, लिवर, किडनी, गॉलब्लैडर, अग्न्याशय (Pancreas), तिल्ली (Spleen), प्लीहा, मूत्राशय जैसे अंग होते हैं। गर्भाशय, फैलोपियन ट्यूब और अंडाशय को महिला के श्रोणि पेट के अंग के रूप में स्थित होते हैं।

Advertisements

पेट साफ होना क्या होता है ?- What is a clean stomach?

प्रतिदिन सुबह-सुबह बिना जोर लगाए, प्राकृतिक रूप से, सरलता सेमल त्याग हो जाना ही पेट साफ होना कहलाता है। इसके लिये कोई उपाय ना अपनाने की जरूरत ना पड़े, जैसे गुनगुना पानी पीना या चूर्ण आदि लेना, तो यह बहुत ही अच्छी बात है। क्योंकि सुबह पेट साफ हो जाने पर, गैस बनना, पेट में दर्द या पेट फूलना, खट्टी डकार आना, कब्ज आदि की समस्या नहीं होती जब तक कि अनुचित और असंतुलित भोजन ना किया जाये।  परन्तु यदि कुछ लेकर भी यदि पेट साफ होता है तो भी ठीक है लेकिन प्रतिदिन कुछ लेने की आदत नहीं पड़नी चाहिये। आपका पेट कैसे साफ़ रह सकता है, इस बारे में उपायों का जिक्र हम आगे करेंगे। 

ये भी पढ़ें- कब्ज के घरेलू उपाय

पेट साफ न होने के कारण – Cause of Poor Digestion

पेट साफ ना रहने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं –

Advertisements

1. कब्ज की समस्या होना।

2. पानी कम पीना।

3. अनुचित खानपान

4. खाने में फाइबर की कमी

5. समय पर और तसल्ली में खाना ना खाना

6. जंक फूड, तला भुना, तीखा तेज मसालेदार ऑयली भोजन का अधिक सेवन करना

7. रात को खाने के बाद एकदम सो जाना

8. समय पर मल त्याग ना करना, दबा के रखना

9. धूम्रपान, अल्कोहल का अधिक सेवन करना

10. चाय, कॉफी का अधिक सेवन करना। विशेषकर रात को खाना खाने के बाद चाय, कॉफी पीना

11. ठीक से सो नहीं पाना। नींद पूरी ना होना। 

12. दर्द निवारक गोलियों का सेवन करना

13. तनाव में रहना

14. व्यायाम ना करना

पेट साफ ना होने के लक्षण – Symptoms of Indigestion

पेट साफ ना रहने से निम्नलिखित लक्षण प्रकट हो सकते हैं –

1. पेट फूलना, जिसे अफारा भी कहते हैं

2. पेट में गैस बनना

3. पाचन तंत्र कमजोर हो जाना, भोजन सही से ना पच पाना

4. मल का सूख कर कठोर हो जाना। सरलता से मल त्याग ना हो पाना

5. सिर दर्द होना

6. मुंह से बदबू आना

7. भूख ना लगना

8. मन अशांत रहना

पेट साफ ना रहने के जोखिम – Risks of not Having a Clean Stomach

लंबे समय तक यदि पेट खराब रहता है तो निम्नलिखित जोखिम पैदा हो सकते हैं –

1. बवासीर की समस्या बन सकती है। 

2. डिहाइड्रेशन की समस्या

3. इलेक्ट्रोलाइट्स का असंतुलन

4. पेट में गैस हद से ज्यादा परेशान कर सकती है। यदि यह गैस छाती पर आ जाये तो हार्ट अटैक का खतरा हो सकता है।

5. गैस दिमाग में चढ़ जाए तो भयंकर सिर दर्द हो सकता है।

6. पेट साफ ना रहने से लंबे समय तक बदहजमी बनी रह सकती है।

7. मुंह में छाले की समस्या हो सकती है।

8. गंभीर दस्त हो सकते हैं।

9. बेहोशी भी छा सकती है।

10. थकान और कमजोरी लंबे समय तक बने रह सकते हैं। 

ये भी पढ़ें- दस्त रोकने के घरेलू उपाय

पेट साफ रखने के लिए क्या अवॉइड करें?? – What to Avoid to Keep the Stomach Clean?

दोस्तो, यदि आप चाहते हैं कि आपका पेट हमेशा ठीक रहे और साफ रहे तो निम्नलिखित खाद्य/पेय पदार्थों को अवॉइड करें –

1. रात को सादा और हल्का खाना खाएं, यह पचने में आसान होता है। 

2. रात में सोने से पहले चाय या कॉफी ना पीएं, इससे पाचन क्रिया पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।

3. रात को जंक फूड, पैक्ड फूड और मैदा उत्पाद खाद्य पदार्थ बिल्कुल भी ना खाएं। ये पचने में सख्त होते हैं और पचने में अधिक समय लेते हैं। 

4. तीखे तेज मिर्च-मसाले वाले, तले भुने और ऑयली खाद्य पदार्थों को अवॉइड करें। 

5. शक्कर युक्त पेय पदार्थों से परहेज करें जैसे कोल्ड ड्रिक्स और चीनी से बने शरबत आदि।  

6. अल्कोहल से दूर रहें क्योंकि शराब आदि अल्कोहल युक्त पेय पदार्थ पाचन तंत्र को और बिगाड़ सकते हैं। 

7. धूम्रपान – धूम्रपान सबसे अधिक खतरनाक है। इसका सीधा प्रभाव छोटी और बड़ी आंत पर पड़ता है जिससे बदहजमी की समस्या बन सकती है। 

8. डॉक्टर की सलाह पर ही आयरन या कैल्शियम के सप्लीमेंट्स लें, अपनी मर्जी से नहीं। 

पेट साफ करने के घरेलू उपाय  – Home Remedies to Clean Stomach

दोस्तो, अब बताते हैं आपको कुछ निम्नलिखित घरेलू उपाय जिनके द्वारा आप अपने पेट को साफ रख सकते हैं –

1. पर्याप्त मात्रा में पानी पीना (Drinking Enough Water)- दोस्तो, पानी सबसे सरल और सर्वोत्तम उपाय है पेट साफ करने का। सुबह उठकर सबसे पहले दो गिलास पानी पीयें। सर्दियों में गुनगुना और गर्मियों में सामान्य तापमान वाला पानी। थोड़ी देर बाद ही प्राकृतिक रूप से मोशन बन जाएगा और त्यागने में भी आसानी रहेगी। कई लोग रात को तांबे के बर्तन में पानी भरकर रख देते हैं और सुबह उठकर पीते हैं, यह और भी अच्छा है।

इससे शरीर के विषाक्त पदार्थ निकल जाते हैं। वैसे भी पूरे दिन में पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए जितना आप आसानी से पी सकते हैं। हां, एक बात का ध्यान रखना चाहिये कि कभी खाना खाकर तुरंत पानी नहीं पीना चाहिये क्योंकि इससे पेट में गैस के साथ-साथ अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं। 

ये भी पढ़ें- गर्म पानी पीने के फायदे और नुकसान

2. नींबू (Lemon)- जब पानी की बात चली है तो नींबू पानी के बिना यह यह बात आधी अधूरी लगती है। विटामिन-सी से भरपूर नींबू पाचन तंत्र को उत्तेजित करता है। सुबह उठ कर खाली पेट एक गिलास पानी में नींबू का रस, हल्का सा काला नमक या सेंधा नमक या साधारण नमक मिलाकर रोजाना पीयें।

इससे पेट साफ हो जाएगा। आप चाहें तो इसमें आधा चम्मच शहद मिला सकते हैं। नींबू और शहद का संगम, सोने पर सुहागे का काम करता है। सुबह के अतिरिक्त यह नींबू पानी शाम के समय भी ले सकते हैं। 

3. शहद (Honey)- शहद को आयुर्वेद में अनेक बीमारियों के उपचार में अत्यंत लाभदायक औषधी माना गया है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल तथा एंटीइंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं। शहद हल्के रेचक के रूप में कार्य करता है इसलिये यह मल को ढीला करने में मदद करता है। रात को सोने से पहले एक चम्मच शहद को एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाकर पीयें। सुबह उठकर भी खाली पेट के साथ एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाकर एक चम्मच शहद मिलाकर पीयें। पेट साफ रहेगा।

4. गुनगुना दूध (Lukewarm Milk)- दूध शारीरिक और मानसिक स्वास्थ के लिये अत्यंत लाभदायक होता है। इससे शरीर को कैल्शियम और विटामिन-डी मिल जाते हैं। यह पेट की समस्याओं से भी राहत दिलाता है। रात को सोने से पहले रोजाना एक गिलास गर्म दूध पीयें। इसमें आप एक चम्मच शहद भी मिला सकते हैं। सुबह मोशन में कोई दिक्कत नहीं होगी। यदि गाय का दूध हो तो और भी अच्छा है। यह प्राकृतिक रुप से पेट को साफ रखेगा। 

5. त्रिफला (Triphala)- हरड़, बहेडा और आँवला के मेल से बनने वाला चूर्ण एक आयुर्वेदिक औषधी है जिसका उपयोग उदर रोग में प्राचीन काल से होता चला आ रहा है। सुबह उठकर खाली पेट, त्रिफला चूर्ण  को 3-5 ग्रा। की मात्रा में गुनगुने पानी से लें। रात को भी सोने से पहले त्रिफला चूर्ण को गरम पानी से लें। 

इससे पाचन क्रिया में सुधार होता है। भोजन आसानी से पच जाएगा और सुबह बिना हील-हुज्जत के मोशन आ जाएगा। इस तरह आपका पेट साफ रहेगा। त्रिफला को आयुर्वेदिक चिकित्सा में अत्यंत प्रभावशाली औषधी माना गया है। इसमें मौजूद लैक्सेटिव गुण मल को निकालने में मदद करते हैं। त्रिफला बड़ी आंत से विषाक्त पदार्थों को निकालने के लिए एक क्लीनर के रूप में कार्य करता है। 

6. ईसबगोल (Isabgol)- पेट की समस्याओं से राहत पाने के लिये ईसबगोल की भूसी का उपयोग भी प्राचीन काल से होता चला आ रहा है। यह पेट साफ करने का रामबाण उपाय माना जाता है। इससे कोलन की सफाई होती है। रात को सोने से पहले गुनगुने पानी या दूध के साथ एक या दो चम्मच ईसबगोल की भूसी का सेवन करें। सुबह मोशन आने में कोई दिक्कत नहीं होगी। 

7. किशमिश (Raisin)- किशमिश में पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है जो पाचन क्रिया में सक्रिय भूमिका निभाता है। भोजन को रसदार बनाता है ताकि पचने में आसान हो जाये। इसके अतिरिक्त मल को ढीला करता है ताकि त्यागने में दिक्कत ना हो। इससे आपका पेट सुबह-सुबह साफ हो जाएगा। इसके लिये रात को 10-12 किशमिश पानी में भीगने के लिये रख दें और अगले दिन खाली पेट ये भीगी हुई किशमिश खायें और किशमिश का पानी भी पी लें। आप भीगी हुई किशमिश, गर्म दूध के साथ भी खा सकते हैं। 

8. अंजीर (Fig)- अंजीर में पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है जो अंजीर में बहुत अधिक फाइबर होता है जो मल को नरम बनाता है। इससे वह त्यागने में आसान हो जाता है। पेट की समस्याओं में अंजीर फल और सूखा अंजीर दोनों को ही खाया जा सकता है। अंजीर फल को छिलका सहित खाने में अधिक फायदा होगा क्योंकि छिलके में अधिक फाइबर और कैल्शियम होता है।

सूखे अंजीर का सेवन करने के लिये दो-तीन बादाम और सूखे अंजीर को कुछ घंटों के लिये पानी में भिगोकर रख दें। इनके अच्छी तरह फूलने पर बादाम का छिलका उतार लें और अंजीर के साथ पीसकर पेस्ट बना लें। रात को सोने से पहले इस पेस्ट को शहद के साथ खाएं। या रात को दो, तीन सूखे अंजीर पानी में भिगोकर रख दें और अगले दिन सुबह खाली पेट इनको ऐसे ही या शहद के साथ खाएं।

ये भी पढ़ें- अंजीर खाने के फायदे

9. अंगूर (Grape)- अंगूर को पेट साफ रखने का एक उत्तम विकल्प माना जाता है।  इसमें पाये जाने वाला अघुलनशील फाइबर नियमित रूप से मल त्याग को आसान बनाने का काम करता है। इसके लिये रोजाना आधा गिलास अंगूर का जूस पीएं या रात को सोने से पहले 10-12 बिना बीज के सूखे अंगूर दूध में उबाल कर पीएं। यह विशेष रूप से बच्चों के लिये फायदेमंद है जो भविष्य में उनको पेट की समस्याओं से बचाएगा।

10. कीवी (Kiwi)- पेट को साफ रखने का एक और अनूठा  हल्के खट्टे और मीठे स्वाद वाला रसीला फल, जिसका नाम है कीवी। इसमें फाइबर की भरपूर मात्रा होती है। इसके अतिरिक्त इसमें कई विटामिन और खनिज होते हैं। कीवी फल में लैक्सेटिव नामक प्राकृतिक पदार्थ पाया जाता है जो मल त्याग को उत्तेजित करने और सरलता से निकालने में मदद करता है। कीवी बाउल मूवमेंट को बढ़ावा देता है। 

11. पपीता (Papaya)- पपीता में हाइमोपैपेन और पैपेन नामक कंपाउंड होते हैं जो पाचन संबंधी समस्याओं को खत्म करने में मदद करते हैं। पैपेन प्रोटीन को भी तेजी से पचाने में मदद करता है। पपीता में पाये जाने वाला फाइबर मल को मुलायम कर पेट को साफ करने का काम करता है। पपीता शरीर को अंदर से भी डिटॉक्स करता है। पेट की समस्या से छुटकारा पाने के लिए पपीता को अपने भोजन में सम्मलित करें।  

12. पालक (Spinach)- पालक, पाचन तंत्र के लिए एक बेहतरीन विकल्प माना जाता है। पालक में फाइबर और पानी की पर्याप्त मात्रा होती है। फाइबर भोजन को पचाने का कार्य करता है। कच्चे पालक के अनेक घटक आंत्र मार्ग को साफ करने और फिर से संगठित करने का काम करते हैं। पालक को आप सब्जी, सलाद, सूप और जूस के रूप में सेवन कर सकते हैं। यदि पालक का जूस पीना है तो आधा गिलास जूस में आधा गिलास पानी मिलाकर पीयें। इसे दिन में दो बार पी सकते हैं। पेट मुलायम और साफ रहेगा। 

13.  ब्रोकली (Broccoli)- ब्रोकली, विटामिन सी और फाइबर का बेहतरीन स्रोत है। ब्रोकली में मौजूद फाइबर पाचन प्रक्रिया में सुधार के साथ-साथ आंत को भी स्वस्थ बनाये रखने में मदद करते है। ब्रोकली का सेवन आप सब्जी, सलाद, सूप आदि के रूप में कर सकते हैं। पेट साफ रखने का यह एक बेहतरीन उपाय है। 

ये भी पढ़ें- ब्रोकली खाने के फायदे

14. अरंडी का तेल (Castor oil)- पेट की सफाई करने के लिये अरंडी के तेल को बहुत अच्छा माना जाता है। अरंडी का तेल एक उत्तेजक रेचक होने की वजह से यह छोटी और बड़ी आंत को उत्तेजित करता है तथा मल त्याग को आसान बनाता है। रोजाना रात को एक या दो चम्मच अरंडी के तेल गुनगुने दूध में मिलाकर पीएं, इससे पेट साफ होगा और पेट की अन्य समस्याओं से भी मुक्ति मिल जाएगी। अरंडी के तेल को फलों के जूस में मिलाकर भी ले सकते हैं। 

Conclusion – 

दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको पेट साफ करने के घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी। पेट क्या है, पेट साफ होना क्या होता है, पेट साफ ना रहने के कारण, पेट साफ ना होने के लक्षण, पेट साफ ना रहने के जोखिम और पेट साफ रखने के लिये क्या अवॉइड करें, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस आर्टिकल के माध्यम से पेट साफ करने के बहुत सारे घरेलू उपाय भी बताये। आशा है आपको ये आर्टिकल अवश्य पसन्द आयेगा। 

दोस्तो, इस आर्टिकल से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो आर्टिकल के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह आर्टिकल आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health-Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer – यह आर्टिकल केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर/लेखक उत्तरदायी नहीं है। कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

Summary
पेट साफ करने के घरेलू उपाय
Article Name
पेट साफ करने के घरेलू उपाय
Description
दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको पेट साफ करने के घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी। पेट क्या है, पेट साफ होना क्या होता है, पेट साफ ना रहने के कारण, पेट साफ ना होने के लक्षण, पेट साफ ना रहने के जोखिम और पेट साफ रखने के लिये क्या अवॉइड करें, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया है।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo

One thought on “पेट साफ करने के घरेलू उपाय – Home Remedies to Clean Stomach in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *