Advertisements

दोस्तो, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर। दोस्तो, गर्मियां आते ही कुछ ठंडा-ठंडा पीने को मन करता है, यानी कोल्ड ड्रिंक। और जब कोल्ड ड्रिंक की बात चलती है तो कोका-कोला, पेप्सी, स्प्राइट, लिम्का, मिरिंडा आदि हमारी आंखों के सामने घूमने लगते हैं क्योंकि आज के युग में इनका क्रेज इतना बढ़ चुका है कि इनके बिना खाना-पीना, पार्टी, फंक्शन सब अधूरे लगते हैं। जंक फूड के साथ कोल्ड ड्रिंक का कॉम्बिनेशन तो इस तरह है जैसे कि चावल के साथ दाल, खिचड़ी के साथ चटनी और अचार। कोल्ड ड्रिंक का क्रेज कुछ इस तरह सिर चढ़कर बोलता है कि लोगबाग सर्दियों में भी एकदम चिल्ड कोल्ड ड्रिंक का इस्तेमाल करते हैं। क्या बच्चे और क्या बूढ़े सभी इन कोल्ड ड्रिंक के दीवाने हैं यह जानते हुऐ भी कि इनमें ना तो कोई पोषक तत्व होते हैं और ना ही कोई विटामिन जो स्वास्थ के लिये लाभकारी हों।

जानते सब हैं कि इसे पीने के कोई फायदे नहीं हैं सिवाय नुकसान के, परन्तु मानते नहीं। दोस्तो, यही है हमारा आज का टॉपिक “कोल्ड ड्रिंक पीने के नुकसान”। देसी हैल्थ क्लब इस आर्टिकल के माध्यम से आज आपको कोल्ड ड्रिंक के बारे में विस्तार से जानकारी देगा और यह भी बतायेगा कि इसे पीने के क्या नुकसान होते हैं। एक बात और कि इस आर्टिकल को लिखने का उद्देश्य किसी विशेष उत्पाद के विरुद्ध प्रचार करना नहीं है केवल पाठकों के समक्ष घातक रसायनों से होने वाली स्वास्थ की हानि के बारे तथ्य रखना है।  तो, सबसे पहले जानते हैं कि कोल्ड ड्रिंक क्या है और इसमें कौन-कौन से घातक केमिकल होते हैं। फिर इसके बाद बाकी बिन्दुओं पर जानकारी देंगे।

Advertisements
कोल्ड ड्रिंक पीने के नुकसान
Advertisements

कोल्ड ड्रिंक क्या है? What is a Cold Drink?

दोस्तो, यदि हम शाब्दिक अर्थ पर जायें तो कोल्ड ड्रिंक का अर्थ होता है शीतल पेय जैसे कि शरबत, ठंडाई, लस्सी, गन्ने का जूस, नींबू पानी, ठंडा दूध आदि। परन्तु आज के संदर्भ में कोल्ड ड्रिंक से तात्पर्य कोका-कोला, पेप्सी, स्प्राइट, लिम्का, मिरिंडा आदि से समझा जाता है यानी कोल्ड ड्रिंक इनके लिये पर्यायवाची बन चुका है। तो यह समझिये कि प्यास बुझाने के उद्देश्य से, कार्बोनेटिड वाटर, एसिड, आर्टिफिशियल कलर और कई अन्य रसायनों से बनाया हुआ, पेय पदार्थ “कोल्ड ड्रिंक” कहलाता है। दोस्तो, आपको जानकर आश्चर्य होगा कि 500 मि.ली. कोल्ड ड्रिंक का उत्पादन करने के लिए 35 लीटर पानी का उपयोग किया जाता है। यानी विश्व में “पानी बचाओ” (Save Water) का संदेश निर्रथक हो जाता है। और सबसे ज्यादा आश्चर्य की बात यह है कि इन कोल्ड ड्रिंक उत्पाद में स्वास्थ के लिये कोई विटामिन नहीं होते और ना ही खनिज पदार्थ बल्कि उल्टे इनके रसायन स्वास्थ के लिये हानिकारक होते हैं। 

Advertisements

कोल्ड ड्रिंक के घातक केमिकल Dangerous Chemicals of Cold Drinks

दोस्तो, कोल्ड ड्रिंक में कार्बोनेटिड वाटर, एसिड और आर्टिफिशियल कलर बहुत ज्यादा पाये जाते हैं जो शरीर को ठंडा करने की अपेक्षा पेट में एसिड पैदा करते हैं और शरीर में शुगर लेवल को तेजी से बढ़ा देते हैं। कोल्ड ड्रिंक में छः ऐसे केमिकल पाये जाते हैं जो स्वास्थ के लिये बेहद खतरनाक होते हैं। विवरण निम्न प्रकार है  

1. पारा (Mercury) कोल्ड ड्रिंक में कॉर्न सीरप, विषाक्त धातु और पारा की अधिक मात्रा पाई जाती है जिसकी वजह से शरीर को भविष्य में काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

2. सोडियम बेंजोएट (Sodium Benzoate) यह एक प्रिजर्वेटिव है जो कोल्ड ड्रिंक को लंबे समय तक ताजा बनाये रखने के लिये इस्तेमाल किया जाता है। इसकी वैज्ञानिक आधार पर हानिकारक होने की पुष्टि नहीं हो पाई है।  

Advertisements

3. एसपारटेम (Aspartame) यह केमिकल सोडा को मीठा बनाने के लिये डाला जाता है।। इसकी अधिक मात्रा से चक्कर और मतली महससू होती है।

4. फॉस्फोरिक एसिड (Phosphoric Acid) इसे सोडा के स्वाद को तीखा बनाने के लिये डाला जाता है। यह हड्डियों से कैल्शियम को सोख लेता है। 

ये भी पढ़े- Disadvantages of RO water

5. बिसफेनोल ए (Bisphenol A) यह रसायन ब्रेन को डैमेज करने का कारण बन सकता है, ध्यान एकाग्रचित करने में अवरोध उत्पन्न करता है। महिलाओं के लिये भी यह घातक है क्योंकि इससे उन में थायरॉइड की समस्या हो सकती है।

6. हाई फ्रुक्टोज सीरप (High Fructose Syrup) यह स्वास्थ के लिये बेहद खतरनाक होता है। इसकी बहुत अधिक मात्रा कोल्ड ड्रिंक में डाली जाती है। यह मोटापा, डायबिटीज, कैंसर और हृदय रोग का कारण बन सकता है। 

सोडा पोषण तथ्य Soda Nutrition Facts

दोस्तो, कोल्ड ड्रिंक्स सोडा का ही रूप हैं। कोका-कोला की एक 12-औंस कैन के लिये युनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ़ एग्रीकल्चर (यूएसडीए) 1 द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार सोडा पोषण तथ्य इस प्रकार हैं

कैलोरी                    140

फैट                         0 ग्राम

प्रोटीन                      0 ग्रा.

फाइबर                     0 ग्रा.

सोडियम                   43.2 ग्रा.

कार्बोहाइड्रेट              39 ग्रा.

शुगर                        39 ग्रा.

विटामिन और खनिज   0 ग्रा.

भ्रामक स्थितियां और वास्तविकता False Situations and Reality

दोस्तो, अधिकतर लोगों ने कोल्ड ड्रिंक पीने को लेकर अपने मन में भ्रम पाल रखे हैं कि इसके पीने ये, ये फायदे होते हैं जबकि वास्तविकता कुछ और होती है। हम यहां बता रहे हैं कुछ भ्रम और वास्तविकता जो निम्न प्रकार हैं

1. भ्रम मस्तिष्क तेज काम करता है लोगों को यह लगता है कि जब वे काम करते-करते थक जाते हैं तो एक गिलास कोल्ड ड्रिंक पीने से उनमें एनर्जी आ जाती है, मूड फ्रेश हो जाता है और दिमाग तेज काम करने लगता है।

वास्तविकता वास्तविकता यह है कि शरीर में हद से ज्यादा चीनी चले जाने पर ग्लूकोज लेवल बढ़ने लगता है और लोगों को लगता है कि उनमें तेजी से एनर्जी आ रही है। इसी अचानक से आई एनर्जी के कारण उनको लगने लगता है कि उनका मूड फ्रैश हो गया है और दिमाग तेज काम करने लगा है। जबकि 40 मिनट बाद उनका ब्लड प्रेशर बढ़ने लगता है और उनको शारीरिक और मानसिक थकान और ज्यादा घेर लेती है। 

2. भ्रम पेट से गैस निकलती है कई लोगों ने अपने मन में पूर्वाग्रह (prejudice) पाला हुआ है कि कोल्ड ड्रिंक पीने से पेट से गैस निकलती है। यह सबसे बड़ा भ्रम है। पेट फूलने या गैस बनने की समस्या से राहत पाने के लिये वे अन्य घरेलू विकल्प ना अपनाकर कोल्ड ड्रिंक को एक “औज़ार” के रूप में इस्तेमाल करते हैं। जब भी उनको लगा कि पेट खराब है, अफारा (फूला हुआ) है या गैस बन रही है तभी एक गिलास कोल्ड ड्रिंक पीली और जब डकार आती है तो वे समझते हैं कि पेट की गैस निकल रही है। 

वास्तविकता वास्तविकता यह है की डकार के माध्यम से निकलने वाली गैस पेट की गैस ना होकर कोल्ड ड्रिंक में घुली हुई कार्बन डाईऑक्साइड गैस होती है जिसके कारण कोल्ड ड्रिंक में बुलबुले या फिज़ बनते हैं। कोल्ड ड्रिंक पेट में पहुंचने पर घुली हुई कार्बन डाईऑक्साइड वापिस गैस के रूप में परिवर्तित हो जाती है जो डकार के जरिये बाहर निकल जाती है। डकार के जरिये कार्बन डाईऑक्साइड गैस का बाहर निकलना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है ना कि पेट की गैस का निकलना। पेट में गैस पर विस्तार से जानकारी के लिये हमारा पिछला आर्टिकल “पेट में गैस बनने का देसी इलाज” पढ़ें। 

3. भ्रम एक्सरसाइज करते हैं, मोटापा नहीं बढ़ेगा बहुत लोगों का मानना है की रोजाना कोल्ड ड्रिंक पीने से उन पर कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि वे रोजाना एक्सरसाइज करते हैं।

वास्तविकता वास्तविकता यह है रोजाना एक्सरसाइज करने वालों पर भी इसका कुप्रभाव पड़ता है। रोजाना और लंबे समय तक कोल्ड ड्रिंक पीने से शरीर में कैलोरी बहुत तेजी से वृद्धि होती है जो मोटापे का कारण बनती है, प्लस कोल्ड ड्रिंक में अधिक शुगर की मात्रा एक्सरसाइज पर भारी पड़ती है। 

कोल्ड ड्रिंक के फायदे Benefits of Drinking Cold Drinks

शून्य फायदे (Zero Profit)- दोस्तो, कोल्ड ड्रिंक में ना तो कोई विटामिन होता है और ना ही प्रोटीन या अन्य कोई खनिज जैसे फाइबर, आयरन, कॉपर, ज़िंक आदि। इसलिये स्वास्थ के लिये कोल्ड ड्रिंक पीने का कोई फायदा नहीं होता सिवाय नुकसान के। हां, इसके फायदे दूसरे कामों के लिये उपयोग करके लिये जा सकते हैं। जिनका जिक्र हम आगे करेंगे।

कोल्ड ड्रिंक के अन्य कामों में फायदे Other Benefits of Cold Drinks

1. बर्तनों पर लगी ग्रीस और चिकनाई हटाये जिस बर्तन की ग्रीस या चिकनाई हटानी हो, उसमें कोल्ड ड्रिंक डालकर हल्का सा गर्म कर लें। फिर इसे स्क्रब की मदद से साफ कर लें। 

2. जंग को साफ़ करे किसी वस्तु पर या गाढ़ी की बैट्री पर जंग लग गया है तो जंग वाले स्थान पर कोल्ड ड्रिंक डालकर छोड़ दें। थोड़ी देर बाद किसी ब्रुश या कपड़े की मदद से साफ कर लें।

3. जूलरी साफ़ करे कोल्ड ड्रिंक की मदद से जूलरी विशेषतौर पर चांदी की पाजेब आदि या पुराने सिक्के साफ़ कर सकते हैं। 

4. फर्श के दाग धब्बे हटाये कई बार घर के फर्श पर तेल गिर जाता है या चाय के धब्बे पड़ जाते हैं या तारकोल चिपक गया या चुइंग-गम नहीं छुट रही है तो फर्श पर कोल्ड ड्रिंक डालकर साफ़ कर सकते हैं। 

ये भी पढ़े- सुबह गर्म पानी पीने के फायदे और नुकसान

कोल्ड ड्रिंक पीने के नुकसान Side Effects of Drinking Cold Drinks

दोस्तो, अब बताते हैं आपको कोक, पेप्सी, स्प्राईट, मिरिंडा, आदि कोल्ड ड्रिंक पीने के नुकसान जो निम्नलिखित हैं

1. मोटापा बढ़े (Increase Obesity)- कोल्ड ड्रिंक में हाई फ्रुक्टोज कॉर्न सिरिप का इस्तेमाल किया जाता है जो स्टार्च से बनती है। फ्रुक्टोज से उच्च कैलोरी मिलती है। इसके अतिरिक्त कोल्ड ड्रिंक में शुगर की भी बहुत अधिक मात्रा होती है। उच्च कैलोरी और हाई शुगर मिलके वजन बढ़ाने का काम करते हैं जिससे शरीर मोटा होने लगता है। एक अध्ययन से पता चलता है कि प्रतिदिन कोल्ड ड्रिंक पीने से में मोटापे का खतरा 60 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। 

2. बच्चों की भूख कम करने और मोटापा बढ़ाएं (Reduce Children’s Appetite and Increase Obesity)- दोस्तो, यहां हम बताना चाहेंगे कि कोल्ड ड्रिंक बच्चों को अधिक प्रभावित करता है क्योंकि उनमें कोल्ड ड्रिंक का क्रेज बड़ों से कहीं अधिक होता है। कोल्ड ड्रिंक में पाये जाने वाला कैफीन बच्चों के लिये अधिक घातक होता है। इसीलिये बच्चों को विशेषकर छोटे बच्चों को चाय या कॉफी नहीं दी जाती है क्योंकि चाय, कॉफी में भी कैफीन की मात्रा होती है। कोल्ड ड्रिंक्स में पाये जाने वाला कैफीन, दूध तथा अन्य पोषक तत्वों का स्थान लेकर (to replace milk & nutrients) बच्चों की प्राकृतिक भूख को धीरे-धीरे कम कर देता है। परिणामस्वरूप रोजाना कोल्ड ड्रिंक्स पीने वाले बच्चों की भूख खत्म होने के साथ-साथ उनमें  मोटापा तेजी से बढ़ने लगता है। इसलिये बच्चों के आहार में कोल्ड ड्रिंक्स को शामिल ना करें। 

3. लिवर के लिये नुकसानदायक (Harmful to the Liver)- जैसा कि हमने ऊपर बताया कि कोल्ड ड्रिंक्स में हाई फ्रुक्टोज कॉर्न सीरप का उपयोग किया जाता है जिसे स्टार्च द्वारा बनाया जाता है। फ्रुक्टोज को तोड़ने और पचाने के लिये लिवर को अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती है। इससे लिवर पर सूजन आने की संभावना रहती है। रोजाना और लंबे समय तक कोल्ड ड्रिंक पीने से नॉन अल्कोहलिक फेटी लिवर रोग होने का जोखिम रहता है। लिवर पर विस्तृत जानकारी के लिये हमारा पिछला आर्टिकल “फैटी लीवर को ठीक करने के उपाय” पढ़ें। 

4. हृदय के लिये घातक (Fatal to Heart)- कोल्ड ड्रिंक हृदय स्वास्थ के लिये पूरी तरह घातक है। रोजाना और लंबे समय तक पीने से कोलेस्ट्रोल बढ़ता है जिससे हृदय धमनियों पर प्लाक जमता है और रक्त संचार बाधित होता है। यह हृदय के लिये गंभीर और खतरनाक स्थिति होती है जिससे हार्ट अटैक, स्ट्रोक की संभावना रहती है। कोलेस्ट्रोल बढ़ने के साथ-साथ इसके पीने से ब्लड शुगर, रक्तचाप और वजन में बढ़ोत्तरी, हृदय स्वास्थ के लिये ठीक नहीं हैं। हृदय से जुड़ी कोई भी बीमारी हो सकती है। जिनको पहले कभी अटैक आया हो या कोई हृदय से जुड़ी कोई समस्या रही है, उनको तो कोल्ड ड्रिंक अवॉइड ही करना चाहिये।

5. डायबिटीज का खतरा (Risk of Diabetes)- कोल्ड ड्रिंक में मौजूद शुगर की उच्च मात्रा रक्त में ग्लुकोज़ के स्तर को बढ़ाने का काम करती है जबकि इससे पेट भी नहीं भरता। इससे थकान महसूस होती है और यह नकारात्मक परिणाम आप में टाइप-2 डायबिटीज होने की संभावना को उत्पन्न करता है। प्रतिदिन एक कोल्ड ड्रिंक पीने से महिलाओं में वजन बढ़ने और टाइप-2 डायबिटीज होने की संभावना बढ़ जाती है और पुरूषों में टाइप-2 डायबिटीज तथा मेटाबोलिक सिंड्रोम का जोखिम बढ़ जाता है। 100 मि.ली से 350 मि.ली. कोल्ड ड्रिंक की बोतल में  35 से 45 ग्राम शुगर होती है। एक गिलास  कोल्ड ड्रिंक पीने पर शुरुआत में ही 5 से 10 मिनट में ही 10 बड़ी चम्मच चीनी पेट में चली जाती है जोकि शरीर में ग्लूकोज की सारे दिन की जरूरत के बराबर मात्रा बढ़ा देती हैं। कोल्ड ड्रिंक पीने को 20 मिनट बाद शरीर में शुगर की मात्रा तेजी से बढ़ने लगती है जोकि किसी भी दृष्टि से ठीक नहीं है।

6. रक्तचाप बढ़ाये (Raise Blood Pressure)-  कोल्ड ड्रिंक में उच्च मात्रा में सोडियम होता है जो रक्तचाप को बढ़ाने का काम करता है। कोल्ड ड्रिंक पीने के 40 मिनट बाद रक्तचाप बढ़ना शुरु हो जाता है। शरीर में इसके पीने से जब पानी की कमी होने लगती है तो ब्लड वेसेल्स को नुकसान होता जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ने लगता है। अतः जिन लोगों को हाई ब्ल्ड प्रेशर की शिकायत रहती है, उनको कोल्ड ड्रिंक पीना अवॉइड ही करना चाहिये।

ये भी पढ़े- लो ब्लड प्रेशर के घरेलू उपाय

7. हड्डियां और मांसपेशियां कमजोर हों (Weak Bones and Muscles)- कोल्ड ड्रिंक में कैफीन और फास्फोरिक एसिड अधिक मात्रा में होने के कारण कैल्शियम, मैग्नीशियम और ज़िंक जैसे पोषक तत्वों की कमी हो जाती है क्योंकि ये मूत्र विसर्जन से शरीर से बाहर निकल जाते हैं (इसकी जानकारी हम आगे देंगे)। परिणामस्वरूप हमारी हड्डियां और मांसपेशियां तेजी से कमजोर होने लगती हैं। वैसे भी कैफीन और फास्फोरिक एसिड हड्डियों से कैल्शियम को सोखने का काम करते हैं जिससे हड्डियों का कमजोर हो जाना स्वाभाविक है। हड्डियों के कमजोर हो जाने से ऑस्टियोपोरोसिस जैसे अस्थि रोग होने की संभावना रहती है। 

8. दांतों के लिये हानिकारक  (Harmful to Teeth )- कोल्ड ड्रिंक को बनाने में कई प्रकार के एसिड का उपयोग किया जाता है इसीलिए ये हमारे एसिड दांतो में बीमारियां उत्पन्न करने के काम करते हैं। इनसे दांतों में कैविटी हो जाती है। कोल्ड ड्रिंक को बनाने के लिये उपयोग में लाये जाने वाले एसिड दांतों को क्षति पहुंचाकर दांतों में बीमारियों का कारण बनते हैं, विशेषतौर पर सिट्रिक एसिड। यह सिट्रिक एसिड दांतों के एनामेल को प्रत्यक्ष तौर पर नुकसान पहुंचाता है।

9. शरीर को डिहाइड्रेट करे और प्यास बढ़ाये (Dehydrates the Body and Increases Thirst)- कोल्ड ड्रिंक पीने के एक घंटे बाद कोल्ड ड्रिंक में मौजूद फास्फोरिक एसिड अपना प्रभाव दिखाना शुरु कर देता है। शरीर में मौजूद कैल्शियम, मैग्नीशियम और ज़िंक जैसे पोषक तत्वों को यह छोटी आंत में भेजने लगता है। इस कारण हमें मूत्र विसर्जन के लिये जाना ही पड़ता है। इस प्रकार हमारे शरीर का पानी और कोल्ड ड्रिंक का पानी हमारे शरीर से बाहर निकल जाता है और इस तरह हमारे शरीर में पानी की कमी होने लगती है और प्यास बढ़ने लगती है। परिणामस्वरूप हमारा शरीर डिहाइड्रेट हो जाता है और शरीर का तापमान बढ़ने लगता है।

10. त्वचा के लिये हानिकारक (Harmful to the Skin)- जिस प्रकार धूम्रपान से त्वचा को नुकसान होता है वैसे ही लंबे समय तक कोल्ड ड्रिंक का सेवन त्वचा पर कुप्रभाव डालता है। इसमें मौजूद शुगर की अधिक मात्रा से त्वचा शुष्क होकर बेजान और समय से पहले बूढ़ी होने लगती है। त्वचा पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं, त्वचा पर लालिमा और सूजन आने लगती है, एक्जिमा, खुजली, त्वचा में नमी की कमी मुंहासे आदि की समस्या होने लगती है।

11. कैंसर होने का खतरा (Cancer Risk)- कोल्ड ड्रिंक को अधिक समय तक सुरक्षित रखने के लिये इसमें कई केमिकल प्रिजर्वेटिव डालने पड़ते हैं और आर्टिफीशियल कलर भी मिलाना पड़ता है। उदाहरण के लिये ब्राउन कलर के लिये 4-मिथाइलिमिडाज़ोल (4-methylimidazole) केमिकल का उपयोग किया जाता है। इसके बारे में  चूहों पर किये गये शोध से पता चला कि यह केमिकल फेफड़ों, थायरायड कैंसर और लिवर कैंसर का प्रमुख कारक है। यह केमिकल शरीर में कोशिकाओं के बनने की प्रक्रिया में रुकावट बनता है और अंगों के संक्रमण को बढ़ा देता है। परिणामस्वरूप अंगों में कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है।

12. विटामिन की कमी (Vitamin Deficiency)- जैसा कि हमने ऊपर बताया कि कोल्ड ड्रिंक पीने बाद हमें मूत्र विसर्जन के लिये जाना ही पड़ता है जिससे शरीर में मौजूद कैल्शियम, मैग्नीशियम और ज़िंक जैसे पोषक तत्व शरीर से बाहर निकल जाते हैं। इसी प्रकार मूत्र विसर्जन के माध्यम से हमारे शरीर के विटामिन भी बाहर निकलते रहते हैं। यदि यह सिलसिला लंबा चलता है तो टैस्ट कराने पर पता चलता है कि हमारे शरीर में कौन-कौन से विटामिन की कमी हो गयी है। फिर हमें विटामिन के सप्लीमेंट लेने पड़ते हैं। 

Conclusion  

दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको कोल्ड ड्रिंक  के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कोल्ड ड्रिंक क्या है, कोल्ड ड्रिंक के घातक केमिकल, सोडा पोषण तथ्य, भ्रामक स्थितियां और वास्तविकता, कोल्ड ड्रिंक के फायदे और कोल्ड ड्रिंक के अन्य कामों में फायदे, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस आर्टिकल के माध्यम से कोल्ड ड्रिंक पीने के बहुत सारे नुकसान विस्तारपूर्वक बताये।

दोस्तो, इस आर्टिकल से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो आर्टिकल के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह आर्टिकल आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सगे सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health-Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer यह आर्टिकल केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर/लेखक उत्तरदायी नहीं है। कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

Summary
कोल्ड ड्रिंक पीने के नुकसान
Article Name
कोल्ड ड्रिंक पीने के नुकसान
Description
दोस्तो, आज के आर्टिकल में हमने आपको कोल्ड ड्रिंक पीने के नुकसान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कोल्ड ड्रिंक क्या है, कोल्ड ड्रिंक के घातक केमिकल, सोडा पोषण तथ्य, भ्रामक स्थितियां और वास्तविकता, कोल्ड ड्रिंक के फायदे और कोल्ड ड्रिंक के अन्य कामों में फायदे, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo

1 Comment

Shiv Kumar Kardam · April 12, 2022 at 10:50 am

Outstanding Article

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!