Advertisements

दोस्तो, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर। दोस्तो, आज हम बात करेंगे एक ऐसे विषय पर जो ना तो कोई रोग है और ना ही कोई विकार बल्कि त्वचा से संबंधित एक छोटी सी समस्या है जो सर्दी के मौसम में अक्सर हो जाया करती है जोकि एक आम समस्या है। सर्दी का मौसम त्वचा स्वास्थ के लिये अच्छा नहीं माना जाता। यद्यपि इस मौसम में गर्मियों और बरसात के मौसम की तुलना में त्वचा के रोग नहीं होते परन्तु इस समस्या से परेशान जरूर होते हैं। और यदि इस समस्या को अनदेखा कर दिया और इसकी परवाह नहीं की तो यह समस्या बीमारी का रूप भी ले सकती है। इस समस्या का नाम है होंठों का फटना जो सर्दी के मौसम में फटते हैं। आखिर इस समस्या से कैसे राहत पाई जाये। दोस्तो, यही है हमारा आज का टॉपिक “सर्दियों में फटे होंठ के घरेलू उपाय”। देसी हैल्थ क्लब इस लेख के माध्यम से आज आपको सर्दियों में होंठ फटने के बारे में विस्तार जानकारी देगा और यह भी बतायेगा कि इससे छुटकारा पाने के क्या घरेलू उपाय हैं। तो, सबसे पहले जानते हैं कि होंठ फटना क्या है और होंठ फटने के क्या कारण होते हैं। इसके बाद फिर बाकी बिन्दुओं पर जानकारी देंगे। 

Advertisements
सर्दियों में फटे होंठ के घरेलू उपाय
Advertisements

होंठ फटना क्या है? – What are Chapped Lips?

दोस्तो, होंठ मानव चेहरे की सुंदारता का महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं। ये प्रेम प्रदर्शन, प्रेमालाप के लिये और ध्वनियों के उच्चारण के लिये आवश्यक माध्यम होते हैं। इनमें पसीने की ग्रन्थियां नहीं होतीं इसीलिये इन पर पसीना नहीं आता, शारीरिक तैलिय सुरक्षा भी नहीं मिल पाती जिससे कि इनका तापमान नियंत्रित रह सके, इनको चिकनाई मिल सके और संक्रमण से बचाव हो सके। होंठों की लाल त्वचा को वर्मिलियन ज़ोन कहते हैं जो मुंह के अन्दर की श्लेष्मी झिल्ली और शरीर के ऊपर की त्वचा के बीच का परिवर्तन क्षेत्र है। प्यास लगने पर और शरीर में पानी की कमी होने पर सबसे पहले इसी पर प्रभाव पड़ता है, होंठ सूखने लगते हैं और कट फट जाते हैं विशेष तौर पर सर्दियों के मौसम में। सर्दियों के मौसम में वातावरण में नमी की कमी होती है ऊपर से हम पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं पीते। नतीजा ड्राईनेस यानी सूखापन। इस ड्राईनेस की वजह से त्वचा पर डैड सेल जमने लगते हैं। होंठों की त्वचा अत्यंत संवेदनशील होने के कारण इन पर डैड सेल्स की पपड़ी सबसे पहले जम जाती है। फिर ठंडी हवा के सीधे संपर्क में आने से ये फटने लगते हैं, इनमें दरार पड़ने लगती है, कई बार खून भी आ जाता है। इसी को सर्दियों में होंठ फटना कहा जाता है।  

Advertisements

होंठ फटने के कारण – Cause of Dry Lips

दोस्तो, सर्दियों में होंठ फटने के कारण अनेक कारण होते हैं जो निम्न प्रकार हैं :-

1. दोस्तो, सर्दियों का मौसम ही होंठ फटने का सबसे प्रमुख कारण है क्योंकि इस मौसम में वातावरण में नमी बहुत कम हो जाती है और जब नमी की कमी होती है तो होंठों के फटने की प्रक्रिया आरंभ हो जाती है।

2. होंठों पर पपड़ी जमना, दोस्तो, पपड़ी होंठों के स्किन सेल्स होते हैं ये नमी की कमी के कारण मृत हो जाते हैं। इसे मृत त्वचा कहा जाता है। होंठों की त्वचा बहुत कोमल होने के कारण अन्य जगह की त्वचा की अपेक्षा, मृत त्वचा होंठों पर बहुत जल्दी जमती है। होठों के फटने का यह भी बहुत बड़ा कारण है। 

Advertisements

ये भी पढ़े- होठ गुलाबी करने के उपाय

3. धूल मिट्टी के कणों के होंठों पर जमना, जिससे होंठ फटने लगते हैं।

4. होंठ फटने पर उनको बार-बार छेड़ना, मृत त्चचा को खींचना। ऐसा करने से होंठ और ज्यादा फटने लगते हैं।

5.  बार-बार होंठों पर जीभ फेरना।

6. धूप में अधिक देर तक रहना/बैठे रहना।

7. होंठों पर बिना लिप बाम लगाये शुष्क और सर्द वातावरण में जाना। 

8. सर्दियों में पानी कम पीना जिससे त्वचा हाइड्रेट नहीं हो पाती।

9. विटामिन-सी और बी12 की कमी। 

10. धूम्रपान करना।

11. अल्कोहल का सेवन करना।

12. कुछ दवाओं का रिएक्शन।

13. कोई एलर्जिक रिएक्शन।

14. सोरायसिस की समस्या। 

होंठ फटने के लक्षण – Symptoms of Dry lips

होंठ फटने पर निम्नलिखित लक्षण प्रकट होते  हैं – 

1. होंठों का सूखना, रूखापन, लालिमा। 

2. कई बार होंठों पर सूजन भी आ जाती है। 

3. होंठों पर मृत त्वचा की वजह से पपड़ी बन जाना।

4. होंठों का दुखना, चीस लगना।

5. फटी दरारों में खून झलकना।

6. दबाने पर होंठों से खून निकलना।

7. बोलने और खाने में दिक्कत होना। 

8. नमकीन खाद्य पदार्थों के छू जाने से होंठों में दर्द हो जाना। 

सर्दियों में फटे होंठ के घरेलू उपाय – Home Remedies for Dry Lips in Winter

दोस्तो, सबसे पहले देसी हैल्थ क्लब यह स्पष्ट करता है कि यदि आप स्मोकिंग करते हैं या अल्कोहल का सेवन करते हैं तो फटे होंठों से राहत पाने के लिये यह सब बंद कर दीजिये क्योंकि इनके चलते कोई भी उपाय कामयाब नहीं है। अब बताते हैं आपको सर्दियों में होंठ फट जाने पर इससे राहत पाने के कुछ घरेलू उपाय जो निम्न प्रकार हैं –

1. मृत त्वचा हटायें (Remove Dead Skin)- फटे होंठों से राहत पाने के लिये सबसे पहले अपने होंठों की मृत त्वचा को हटायें। इसके लिये बहुत सरल तरीका है कि आप गुलाबजल,  ग्लिसरीन और रुई की बॉल। गुलाबजल में ग्लिसरीन अच्छी तरह मिला लें। अब रुई की बॉल को इसमें भिगोकर रख दें। कुछ समय तक रखे रहने दें। दिन में दो बार और रात को सोने से पहले करें। इस प्रक्रिया से होंठों की मृत त्वचा हट जायेगी और होंठ नरम हो जायेंगे।

2. अपने को हाइड्रेट रखें(Keep Yourself Hydrated) – माना कि सर्दियों में प्यास कम लगती है परन्तु इसका तात्पर्य यह नहीं कि सर्दियों में पानी बहुत कम पीया जाये। हमने ऊपर बताया है कि नमी की कमी के कारण होंठ फटते हैं। इसलिये शरीर में नमी बनाये रखने के लिये पर्याप्त मात्रा में पानी पीना जरूरी है। इससे होंठों में नमी बनी रहेगी और फटेंगे नहीं।

ये भी पढ़े- फटी एड़ियों से छुटकारा पाने का घरेलू उपाय

3. सरसों का तेल (Mustard Oil)- फटे होंठों से राहत पाने के लिये एक और सरल उपाय है सरसों का तेल। रोजाना रात को सोते समय नाभि में सरसों का तेल लगायें, इसी प्रकार दिन में नहाने के बाद भी नाभि में सरसों का तेल लगायें। ऐसा करने से कभी होंठ नहीं फटेंगे और मुलायम भी रहेंगे। नाभि हमारे शरीर की केन्द्र बिंदु होती है।

4. नारियल तेल (Coconut Oil)- भारत में फटे होंठों के उपचार के लिये नारियल तेल का इस्तेमाल में प्राचीन काल से किया जाता रहा है। इसमें मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं। यह होंठों को मॉइस्चराइज करने के साथ-साथ घाव को भी कम करता है। होंठों में चिकनाई को लौटाता है, कोमल और मुलायम बनाता है। नारियल के तेल में अंगूर के बीज के तेल या नीम के तेल की मिलाकर दिन में दो, तीन बार होंठों पर लगायें और रात को भी सोने से पहले लगायें। यह होंठों पर पड़ी दरार को भरने में अत्यंत लाभकारी है। 

5. अरंडी का तेल (Castor oil)- अरंडी का तेल होंठों की मृत त्वचा को हटाने और उनको कोमल तथा मुलायम बनाने में मदद करता है। एक चम्मच अरंडी के तेल में एक चम्मच ग्लिसरीन और दो, तीन बूंद नींबू का रस अच्छी तरह मिलाकर रात को सोते समय होंठों पर लगायें। अगले दिन गुनगुने पानी में कोई साफ़ कपड़ा भिगोकर होंठों को साफ़ कर लें। यह प्रक्रिया तब तक करें जब तक कि होंठ कोमल और मुलायम ना हो जायें। 

6. नींबू और बादाम का तेल (Lemon and Almond Oil)- बादाम के तेल में मौजूद एमोलिएंट गुण त्वचा में अंदर तक नमी पहुंचाकर होंठों को प्राकृतिक रूप से कोमल और मुलायम बनाये रखने का काम करता है। साथ ही यह त्वचा की रंगत निखार कर गहरे काले होंठों को भी गुलाबी बनाने की क्षमता रखता है। रात को सोते समय होंठों पर बादाम का तेल लगायें। या बादाम के तेल में दो, तीन बूंद नींबू का रस अच्छी तरह मिलाकर होंठों पर लगाकर छोड़ दें। दस मिनट के बाद होंठों को गुनगुने पानी से धो लें। नींबू प्राकृतिक ब्लीच और एक्सफोलिएंट के रूप में काम करता है। 

7. गुलाब की पंखुड़ियां और कच्चा दूध (Rose Petals and Raw Milk)- गुलाब की पंखुड़ियों में मौजूद विटामिन-ई त्वचा का पोषण करता है और प्राकृतिक रंग को बनाये रखने में सक्रिय भूमिका निभाता है।  दूध में पाये जाने वाला लैक्टिक एसिड होंठों की परत से मृत कोशिकाओं को हटाने का काम करता है। दूध में मौजूद आवश्यक वसा, विटामिन और खनिज होंठों को हाइड्रेट कर पोषण देने का काम हैं। फटे होंठों से राहत पाने के लिये कच्चे दूध में चार, पांच गुलाब की पंखुड़ियां दो से तीन घंटे के लिये भिगो दें। इनके अच्छी तरह फूल जाने पर दूध में ही मसल कर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को होंठों पर लगाकर छोड़ दें। लगभग 20 मिनट के बाद होंठों को ठंडे पानी से साफ़ कर लें। इस प्रक्रिया को रोजाना करें। 

8. वैसलीन (Vaseline)- वैसलीन या पेट्रोलियम जैली त्वचा को शुष्क होने से बचाती है, इसमें मॉइस्चर बनाये रखती है। सर्दियों में वैसलीन का उपयोग लगभग सभी करते हैं इसीलिये यह हर घर में मिल जाती है। सामान्य स्थिति में भी रोजाना रात को सोने से पहले होंठों पर वैसलीन लगायें, इससे होंठ मुलायम रहेंगे और फटेंगे नहीं। यदि फटे हुऐ भी हैं तो ठीक हो जायेंगे। 

9. कच्चा शहद और वैसलीन (Raw Honey and Vaseline)- वैसलीन के बारे में तो हमने बता ही दिया कि यह त्वचा को शुष्क होने से बचाती है, इसमें मॉइस्चर बनाये रखती है। शहद में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो संक्रमण से त्वचा की रक्षा करते हैं और प्राकृतिक उपचार में सहायक होते हैं। शहद हुमेक्टैंट के रूप में कार्य करता है अर्थात् नमी को संरक्षित कर बनाये रखना। शहद और वैसलीन के मिल जाने से त्वचा में मॉइस्चर बना रहता है और कोमलता आती है। फटे होंठों के लिये, सबसे पहले शहद की एक परत (Layer) होंठों पर चढ़ा लें और फिर इस पर वैसलीन लगाकर छोड़ दें। 15 मिनट के बाद गीले कपड़े की मदद से होंठों से परत हटा दें। रोजाना एक हफ्ते तक यह प्रक्रिया दोहरायें। 

10. क्रीम या मलाई (Cream or Sour Cream)- हाइड्रेशन और डिपिग्मेंटेशन के लिये क्रीम और मलाई बेहतरीन श्रोत हैं। यह उपाय सबसे सस्ता और सरल है। क्रीम नहीं तो दूध हर घर में होता है। होंठों के लिये क्रीम या मलाई लेकर (दही की मलाई भी ले सकते हैं), रात को सोने से पहले होंठों पर लगाकर हल्के-हल्के मसाज करें। क्रीम या मलाई की जगह देसी घी से भी होंठों की मसाज कर सकते हैं। आप चाहें तो क्रीम या मलाई में चुटकी भर हल्दी पाउडर भी मिक्स कर सकते हैं। 

11. हल्दी दूध का उपयोग करें (Use Turmeric Milk)- यदि होंठ बुरी तरह फटे हुऐ हैं, दरारों से खून बहने की स्थिति है तो इसके लिये हल्दी और दूध का उपयोग करें। हल्दी में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो घाव को जल्दी भरने का काम करते हैं। रात को सोने से पहले एक चौथाई चम्मच दूध में दो चुटकी हल्दी मिक्स करके होंठों पर लगा लें। सुबह गुनगुने पानी से साफ़ कर लें। यह प्रक्रिया रोजाना दोहरायें। इससे होठों की दरारें भर जायेंगी और होंठ भी कोमल, मुलायम और गुलाबी हो जायेंगे। 

12. बटर, घी, दही, घी या छाछ (Butter, Ghee, Curd, Ghee or Buttermilk)- बटर कोई भी हो जैसे शिया, कोकोआ, पीनट बटर आदि, या दही हो या छाछ फटे होंठों के उपचार में सभी उपयोगी हैं। इनमें आवश्यक फैटी एसिड होता है जो त्वचा के पोषण के लिये जरूरी है। यदि शिया, कोकोआ बटर या घी का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो रात को सोने से पहले होंठों पर लगायें और सुबह साफ़ कर लें। ये सब प्राकृतिक एमोलिएंट और मॉइस्चराइजर हैं जो त्वचा को मुलायम और कोमल बनाये रखते हैं। यदि आप पीनट बटर, दही और छाछ लगा रहे हैं तो 10-15 मिनट बाद होंठों को पानी से साफ़ कर लें।

13. एलोवेरा जैल (Aloe Vera Gel)- एलोवेरा में प्राकृतिक रूप से त्वचा में  नमी बनाये रखने के गुण होते हैं। यह होंठों से मृत त्वचा को हटाने का काम करते हैं और इनको कोमल व मुलायम बनाते हैं। एलोवेरा की एक पत्ती काट कर, छीलकर जैल निकाल लें और रात को सोने से पहले होंठों पर लगायें और सुबह धो लें। यह प्रक्रिया रोजाना दोहरायें। 

ये भी पढ़े- एलोवेरा के फायदे

14. ग्रीन टी (Green Tea)- ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स और टेनिन्स त्वचा के रूखेपन को दूर कर हाइड्रेटेड करने का काम करते हैं। इससे सूखे होंठों से होने वाली जलन में भी आराम मिलत है। एक कप गर्म पानी में एक ग्रीन टी बैग डाल दें। दो, तीन मिनट के बाद यह बैग निकाल कर रख लें और चाय पी लें। गुनगुन ग्रीन टी बैग से अपने होंठों रख लें और कुछ देर बाद इसे हटा दें। 

15. संतरे के छिलकों का पाउडर (Orange Peel Powder)- संतरे के छिलकों को अच् तरह सुखाकर मिक्सी में बारीक पीस कर पाउडर बना लें। इसे कपड़े में भी छान लें ताकि खुरदुरापन ना रहे। अब थोड़ा सा संतरे का पाउडर लेकर इसमें बादाम के तेल की 10-12 बूंदें और ब्राउन शुगर मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को अपने होंठों पर लगाकर छोड़ दें बाद में 15 मिनट के बाद होंठों को धो लें। कुछ दिनों बाद इस का प्रभाव नज़र आयेगा।  

16. खीरा (Cucumber)- खीरा में 95 प्रतिशत पानी होता है यह पूरे शरीर में नमी बनाये रखता है। इससे त्वचा का रूखापन खत्म होता है और हाइड्रेट रहती है। यह प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र के रूप में कार्य करता है। खीरा को काट कर मिक्सी में डालकर इसका जूस निकाल लें। अब रुई की मदद से खीरा के जूस को होंठों पर लगा कर थपथपायें। होंठों पर यह जूस लगा रहने दें। आधा घंटे बाद होंठों को पानी से धो लें। दिन में दो, तीन बार इस प्रक्रिया को दोहरायें।

ये भी पढ़े- खीरा खाने के फायदे

17. शुगर स्क्रब (Sugar Scrub)- एक्सपर्ट्स सूखे और फटे होंठों के लिये शहद और चीनी के स्क्रब की सलाह देते हैं क्योंकि चीनी एक उत्तम एक्सफोलिएंट है। यह होंठों की देखभाल के लिये जरूरी है। ठीक उसी प्रकार जैसे दांतों को ब्रश करना जरूरी है। इसके लिये एक चम्मच ब्राउन शुगर (ब्राउन शुगर ना मिले तो सफेद चीनी ले सकते हैं ) में आधा चम्मच शहद और कुछ बूंदें ऑलिव ऑयल की मिला लें। मिलाते समय ध्यान रखें कि चीनी घुलने ना पाये। इस मिश्रण को होंठों पर लगाकर सर्कुलर मोड में, धीरे-धीरे स्क्रब करें। 10 मिनट बाद होंठों को गुनगुने पानी से धो लें। इसे हफ्ते में तीन दिन करें। इससे होंठ कोमल और मुलायम बने रहेंगे और प्राकृतिक रंग उभर कर आयेगा। 

कुछ टिप्स – Some Tips

दोस्तो, अब बताते हैं आपको कुछ निम्नलिखित टिप्स जिनको अपनाकर आप अपने होंठों की रक्षा कर सकते हैं। अपने होंठों को फटने से बचा सकते हैं, इनमें नमी बरकरार रख सकते हैं और इनको कोमल और मुलायम बनाये रख सकते हैं –

1. सर्दियों में भी आप पर्याप्त पानी पीयें ताकि आपकी त्वचा में नमी बनी रहे। गुनगुना पानी पीयें तो बेहतर होगा।  ठंडा पानी नुकसान करता है।

2. जहां तक हो सके अपने होंठों को कवर करके रखिये ताकि धूल, धुंआ, मिट्टी, वायु प्रदूषण से बचाव हो सके। वैसे भी इस कोरोना काल में, कोरोना से बचाव के लिये बाहर जाते समय मास्क लगाना अनिवार्य हो जाता है। घर पर तो सब अंदर रहते ही हैं। 

3. एक्सफोलिएट करें। मृत त्वचा को हटाने के लिये हफ्ते में तीन दिन होंठों एक्सफोलिएट करें। इससे होंठों पर पपड़ी जम नहीं पायेगी। इसके लिये चीनी बेहतरीन विकल्प है। 

4. रात को सोते समय होंठों पर नारियल तेल या अच्छी क्वालिटी वाली लिप बाम लगायें। 

5. बाहर जाते समय लिप बाम के साथ सन प्रोटेक्शन फैक्टर वाली क्रीम भी लगायें। इससे होंठों पर सुरक्षात्मक परत बन जायेगी जो होंठों को सूखने से बचायेगी। 

6. होंठों पर बार-बार होंठों पर बार-बार न फिराएं जीभ न फिरायें, इससे होंठों की सतह पर लार जम जाती है जिससे होंठ सूखने लगते हैं और फिर पपड़ी जमने लगती है।

7. धूम्रपान करते हैं तो तुरंत छोड़ें क्योंकि यदि आप धूम्रपान करते हैं तो होंठों के लिये कोई भी उपचार कामयाब नहीं है। 

8. अल्कोहल या अन्य कोई ड्रग्स आदि का सेवन ना करें क्योंकि इनसे त्वचा में खुश्की आती है।

Conclusion – 

दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको सर्दियों में फटे होंठ के घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी। होंठ फटना क्या है, होंठ फटने के कारण और होंठ फटने के लक्षण, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया। देसी हैल्थ क्लब ने इस लेख के माध्यम से होंठ फटने के बहुत सारे घरेलू उपाय बताये और कुछ टिप्स भी बताये जिन्हें अपनाकर होंठों को फटने से बचाया जा सके। आशा है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा। 

दोस्तो, इस लेख से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो लेख के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह लेख आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और  सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health-Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।


Disclaimer – यह लेख केवल जानकारी मात्र है। किसी भी प्रकार की हानि के लिये ब्लॉगर/लेखक उत्तरदायी नहीं है। कृपया डॉक्टर/विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

Summary
सर्दियों में फटे होंठ के घरेलू उपाय
Article Name
सर्दियों में फटे होंठ के घरेलू उपाय
Description
दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको सर्दियों में फटे होंठ के घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी। होंठ फटना क्या है, होंठ फटने के कारण और होंठ फटने के लक्षण, इन सब के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया।
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo
error: Content is protected !!