हेलो आज दोस्तों आज हम  सिर्फ महिलाओ के स्वास्थ सम्बन्धी समस्याओ के बारे में जानकारी देने वाले है। जैसा की आज कल अपने देखा ही होगा कि, आज की स्‍ट्रेस से भरी लाइफ स्‍टाइल के कारण अधिकतर महिलाएं अनियमित पीरियड्स के कारण ज्यादा परेशान रहती है। और उनका मन बहुत ज्यादा चिड़चिड़ापन हो जाता है। पीरियड्स के दौरान सिरदर्द, बदनदर्द होना सामान्य सी बात है लेकिन इस समय होने वाला दर्द असहनीय होता है. यह दर्द न केवल पेट में होता है बल्कि पूरे शरीर में होता है. हमने अपने पिछले आर्टिकल में आपको बताया है, पीरियड्स के दर्द को कम करने के घरेलू उपोय के बारे में और भी बहुत कुछ, कई  महिलाएं इस दर्द को कम करने के लिए दवाइयों के भी सेवन करती है। लेकिन ज्यादा दबाइयो का सेवन करने से नुकसान होने का भी डर रहता है। इस लिए हम आपको आज अपने इस आर्टिकल के जरिए “पीरियड समय पर लाने का घरेलू उपाय” के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे। 

पीरियड समय पर लाने का घरेलू उपाय

माहवारी क्या है?- What is Menstruation?

मासिक धर्म या आपके पीरियड्स तब होते हैं जब आपके गर्भाशय से रक्त और ऊतक आपकी प्राइवेट पार्ट से बाहर आते हैं। हर महिला का मासिक धर्म चक्र हर महीने उनके शरीर को गर्भावस्था के लिए तैयार करने में मदद करता है। मासिक धर्म चक्र और अवधि को एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन जैसे हारमोन द्वारा नियंत्रित किया जाता है। आपको अपने मासिक धर्म चक्र के साथ वास्तव में गड़बड़ नहीं करना चाहिए। आपको इसे सामान्य रूप से होने देना चाहिए। लेकिन ऐसे समय होते हैं जब हमें जल्दी होने के लिए अवधि की आवश्यकता होती है। 

पीरियड्स लेट आने के कारण –  Cause of late Periods

आम तैर पर किसी भी स्त्री/ लड़की का मासिक धर्म चक्र 21 -35 दिन का होता है। पीरियड्स समय पर ना आने को एमेनोरिया (amenorrhea) कहा जाता है। जिन लड़कियों को 15 साल की उम्र में भी पीरियड्स नहीं आये है तथा उन महिलाओं को जिनको तीन या उससे भी अधिक महीनो से पीरियड्स नहीं आये है। उन्हें एमेनोरिया की समस्या हो सकती है। पीरियड्स लेट आने के निम्नलिखित कारण हो सकते है। जैसे कि  – 

1 . तनाव 

2 . बहुत कम या ज्यादा वजन 

3 . प्रेग्नेंसी 

4 . थायरॉइड की बीमारी

5 . पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम 

6 . हार्मोनल कॉन्ट्रासेप्टिव

7 . गंभीर बीमारियां जैसे डाइबिटीज या सीलिएक रोग 

8 . मेनोपॉज 

ये भी पढ़े- सैनिटरी पैड के फायदे

अनियमित पीरियड्स के लक्षण – Symptoms of Irregular Periods

अनियमित पीरियड्स के निम्नलिखित लक्षण हो सकते है जैसे कि – 

1 . यूटेरस में दर्द होना

2 . कमर दर्द 

3 . पैर-हाथ और स्तनों में दर्द होना

4 . भूख कम लगना

5 . थकान महसूस होना

6 . कब्ज

7 . यूट्रस में ब्लड क्लॉट्स का बनना भी इसी का एक लक्षण है। 

पीरियड समय पर लाने का घरेलू उपाय –  Home Remedies to Get Period on Time

अगर आप अनिमियत पीरियड्स की समस्याओ से परेशान है। या पीरियड्स की जल्दी लाना चाहती है, तो आपको ज्यादा परेशान होने की जरुरत  नहीं है। क्युकी ऐसे बहुत से  घरेलू उपाय है किसकी मददत अनिमियत पीरियड्स की समस्याओ से छुटकारा पा सकते है।  तथा साथ ही साथ पीरियड्स को काफी जल्दी लाया जा सकता है। हम आपको अपने आर्टिकल के जरिये पीरियड समय पर लाने का घरेलू उपाय के बारे में विस्तृत जारकारी देंगे। लेकिन ध्यान रहे यदि आपको हमारे द्वारा बताए गए घरेलू उपाय से आपको कोई भी फायदा नहीं होता है तो आप इसे दुहराये नहीं , बल्कि तुरंत किसी अनुभवी स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह या सम्पर्क जरूर करें। 

1. दालचीनी (Cinnamon)- अगर आप पीरियड्स लेट आने की समस्याओ से जूझ रहे है तो आप दालचिनी का सेवन कर सकती है। आधा चम्मच दालचीनी पाउडर एक गिलास दूध में मिलकर 7 दिन तक लगातार सेवन करने से आपको काफी फायदा मिलेगा। दालचीनी हमारे शरीर के तापमान को बढ़ाने में काफी ज्यादा मददत करता है। जिससे पीरियड्स जल्दी और समय पर आने लगते है। आप दालचिनी का सेवन चाय के रूप में भी कर सकती है। 

ये भी पढ़े- दालचीनी के फायदे

2. अदरक (Garlic)- अदरक घरेलू नुक्से के साथ साथ आयुर्वेदिक जड़ी बूटी के रूप में भी जाना जाता है। जिसमे बहुत से गुण पाए जाते है, जो पीरियड्स से सम्बंधित समस्याओ से छुटकारा पाने में एक अहम् भूमिका अदा करता है। पीरियड्स जल्दी लाने के लिए अदरक का उपयोग सालो की किया जाता है, क्युकी इसकी तासीर काफी ज्यादा गरम होती है। यह यूटेरस पर दबाव डालता है , जिससे ब्लीडिंग आना जल्दी शुरू हो जाता है। आप अदरक का सेवन चाय बना कर भी कर सकती है। 

3. अजवायन (Oregano)- पीरियड्स के समय अजवायन काफी ज्यादा असरदार माना जाता है। एक लीटर गरम पानी में आधा चम्मच अजवायन को उबाल ले , फिर इसे ठंडा करने किसी गिलास या बर्तन में छान ले।  इस पानी का सेवन आप पीरियड्स आने के एक से डेढ़ सप्ताह पहले से लेना सुरु कर दे, ऐसा करने से पीरियड्स समय से और टाइम पर आने लगते है। 

4. अनानास (Pineapple)- अनानास में ब्रोमलेन नमक एंजाइम पाया जाया है। जो पीरियड्स के समय सूजन को दूर करने में मदद करता है। एक रिसर्च के अनुसार ब्रोमलेन सूजन को कम करने के साथ अनियमित पीरियड्स से छुटकारा पाने में काफी मददत करता है। लेकिन इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। अगर आप आपके पीरियड्स समय से नहीं आ रहे है तो आप अनानास का सेवन कर सकती है। इसके सेवन से पीरियड्स समय पर आने लगते है। 

5. हल्दी (Turmeric)-  हल्दी सेहत के लिए कई रूपों से गूण करि मन जाता है। यह वजह है, कि हम इनका उपयोग रोजाना अपने भोजन में करते है। हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण होते हैं। जो मासिक धर्म को उत्तेजित करने वाला तत्व भी कहा जाता है।  तथा इसके सेवन से यूटेरस में रक्त प्रवाह को बढ़ाता है। जिससे पीरियड्स के जल्दी आने के ज्यादा संभावनाएं रहती है। 

6. कच्चा पपीता (Raw Papaya)- अनियमित पीरियड्स से छुटकारा पाने के लिए कच्चा पपीता को काफी ज्यादा लाभकारी माना जाता है। इसमें मौजूद आयरन , कैरोटीन , कैल्सियम, विटामिन ए और विटामिन सी जैसी पौष्टिक तत्व शामिल होते है। जो गर्भाश्य की सिकुड़ी हुई मांसपेशियों को फाइबर पहुंचाने का काम करते हैं। इसलिए पीरियड्स आने से पहले कच्चे पपीते का खूब सेवन करना चाहिए। आप चाहे तो ब्रेकफास्ट में कच्चे पपीते का सेवन कर सकती है। 

7. तुलसी (Basil)- तुलसी में भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट गुण के साथ कैफीक नामक एसिड पाया जाता है जो अनियमित पीरीयड्स में फायदेमंद साबित होता है। इस लिए आप रोजाना तुलसी की पत्तियों का सेवन कर सकती है। 

ये भी पढ़े- तुलसी के फायदे

8. सौंफ (Fennel)- अक्सर लोग खाना खाने के बाद सौंफ का सेवन करते है। लेकिन आपको बता दे, समय से पीरियड्स ना होने की समस्याओ से छुटकारा पाने ले लिए सौंफ को बहुत ही लाभकारी माना जाता है।  सौंफ गर्भाशय में संकुचन पैदा कर पीरियड्स को सही समय पर लाने में मदद करता है। इसके अलावा पीरियड्स में होने वाले दर्द से निजाद दिलाता है। हमने अपने पिछले आर्टिकल में बताया है, कि पीरियड्स के दर्द को कम करने के घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। आप यहाँ से भी जानकरी ले सकती है।

9. अजमोद (Parsley)- विशेषज्ञ का कहना है कि अजमोद के सेवन से  पीरियड्स रेगुलर करने में काफी जायदा कारगर साबित होता है। अजमोद में काफी मात्रा में विटामिन सी पाई जाती है। विटामिन सी यूटेरस पर दबाव डालता है। जिससे  पीरियड्स रेगुलर हो जाते है। अगर अपने  पीरियड्स समय से नहीं आ रहे है या  आप अनियमित  पीरियड्स के छुटकारा पाना चाहती है। तो आपको अजमोद का सेवन करना चाहिए। लेकिन ध्यान रहे इसका अधिक सेवन से प्रेग्नेंट महिलाओ के लिए   नुकसानदेह साबित हो सकता है। इसे प्रेग्नेंट महिलाएं , किडनी की प्रोब्लेम्स से ग्रसित महिलाएं तथा ब्रेस्ट फीडिंग वाली महिलाएं को नहीं लेना चाहिए। 

10. एक्सरसाइज करना (To Exercise)- जो महिलाएं हमेशा एक्सरसाइज करती है या किसी स्पोर्ट्स से जुडी है, उन्हें सामान्यतः पीरियड्स लेट से ही आते है। अगर पीरियड्स लेट आने का कारण ज्यादा एक्सरसाइज करना है , तो आपको एक्सरसाइज करना कम कर देना चाहिए। लेकिन एक्सरसाइज को पूरी तरह से बंद नहीं करना है। शरीर के साथ साथ आपको मानसिक रूप से भी आराम करना बहुत जरुरी होता है।  एक्सरसाइज करने में हमारे शरीर में रक्त का संचार बढ़ जाता है।  और तनवे से भी दूर रहते है। जिससे हार्मोन्स में संतुलन बना रहता है। जो पीरियड्स के लिए फायदेमंद रहता है। अगर कोई भी महिलाएं ज्यादातर आराम करती है तो उन्हें थोड़ा बहुत एक्सरसाइज करते रहना चाहिए। 

11. चुकंदर (Beetroot)- चुकंदर खाने से वैसे भी शरीर में ब्लड सेल्स यानि रक्त कोशिकाएं बनती हैं। लेकिन इसके अलावा चुकंदर में आयरन और फाॅलिक एसिड भी काफी मात्रा में पाया जाता है। यह दोनों ही मासिक धर्म की अनियमितता से छुटकारा पाने में  काफी मदद करते हैं। चुकंदर हार्मोन्स को संतुलित करता है। चुकंदर पीरियड्स के साथ ही सेहत के लिए भी बेहद फ़ायदेमंद होता है। आप इसे चाहे सलाद के रूप में खाएं या इसका जूस पी लें या रायता बनाकर खाएं। यह हर रूप में शरीर को फायदा ही पहुंचाएगा। 

ये भी पढ़े- चुकंदर के फायदे और नुकसान

दवाइयां कैसे काम करती है – How do Medicines Work

बहुत सी महिलाएं पीरियड की तारीख को आगे बढ़ाने के लिए दवाइयां खाती है। यह दवाई एक तरह की हार्मोन्स को बैलेंस करने का काम करती है।  जिसके अंदर नमें नॉर-एथिस्टेरोन  (Norethisterone) पाया जाता है, जिसमें प्रोजेस्टेरोन  (Progesterone) की दवाएं होती हैं।  प्रोजेस्टेरोन एक तरह का फीमेल-हॉर्मोन  होता है। जो इन दवाइयों के खाने से बढ़ जाता है। इसका लेवल बढ़ने के साथ-साथ गर्भाशय (Uterus) की परत गिरने से रुक जाता है। जो इन सब से परत के ना गिराने के चलते पीरियड्स नहीं आते हैं। दवाओं का सेवन रोकन  के बाद शरीर में हार्मोन्स के लेवल को ठीक होने में समय लगता है। दवाइयाँ बंद करने के 3-4 दिन बाद पीरियड्स आना सुरु हो जाते है। लेकिन कुछ महिलाओं को इन दवाइयों  का भी असर अलग -अलग होता है।

दवाइयां कब लेनी चाहिए – When Should Medicines be Taken

अगर आप पीरियड्स के लिए दवाई ले रहे, तो आपको हमेशा डॉकटर्स के राय से ही लेनी चाहिए। जो जरूरत,परिस्थितियों और शरीर के हिसाब से ही दवा लेते है। यह दवा हमेशा पीरियड्स के  3-4  दिन आने से पहले ली जाती है। 

पीरियड्स की तारीख आगे बढ़ाने वाली दवाओं के नुकसान – Side Effects of Medicines that Extend the Period

 ज्यादातर महिलाएं माहवारी/पीरियड्स की तारीख आगे बढ़ाने वाली दवाओं का सेवन करती है। आप तभी दवाइयों का सेवन करे जब आपको ज्यादा ही जरुरी लगे।  या बहुत ही लेट आपको पीरियड्स आ रही हो। लेकिन आप जितना इन से बच सकते है बचने की कोशिश करे। यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा। जैस की आप सब लोग जानते है, किसी भी चीज का हद से ज्यादा सेवन करने से उनका नुकसान भी होता है। ऐसे ही इन दवाइयों का भी है।  इन दवाइयों का भी बहुत से नुकसान होते है जैसे कि  –

1 . ये दवाइयाँ शरीर के नेचुरल हार्मोन्स को फ्लो को ख़राब कर देती है। जिससे पीरियड्स समय से नहीं आता है। 

2 . इन दवाओं के अधिक सेवन से त्वचा पर रैशेज़ और मुँहासे निकल जाते है। 

3 . चक्कर आना , सिर दर्द, माइग्रेन जैसे दिक्कत होने लगती है। 

4 .  इन दवाइयों से हार्मोन असुंतलन, मूड स्विंग्स होने  की समस्या बढ़ जाती है। 

5. इन दवाइयों के अधिक सेवन से वजन भी बढ़ जाता है। 

पीरियड आने की टेबलेट किसे नहीं लेनी चाहिए – Who should not take the Period Tablet

1 . पेट में किसी भी तरफ की समस्या हो तो पीरियड जल्दी लाने की दवा नहीं लेनी चाहिए। 

2 .  वो महिलाएं जो ब्रैस्ट कैंसर से पीड़ित है, उन्हें ये दवाइयां नहीं कहानी चाहिए। 

3 . प्रेगनेंसी के समय भी पीरियड्स लाने की दवाइयों के सेवन से बचना चाहिए। 

4 . अगर पीरियड्स के अलावा भी आपको ब्लीडिंग / खून आते है, तो इस दवाइयों से दूर रहे। 

5 . जिन महिलाओ को दिल की बीमारी है तो उन्हें सबसे ज्यादा अवाइड करना चाहिए। 

6 . किसी भी तरफ की साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए पीरियड्स लाने वाली दवाइयों का सेवन करने से पहले किसी विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह जरूर ले ले।  

ये भी पढ़ें- पीरियड्स के दर्द को कम करने के घरेलू उपाय

पीरियड्स जल्दी लाने की दवा और टेबलेट का नाम – Medicine and Tablet Name to Get Periods Early

1 . पीरियड्स जल्दी लाने की दवाइयों के नाम Primolut-N,  यह 5mg वाली टेबलेट का उपयोग पीरियड्स जल्दी लाने के लिए किया जाता है। 

2 . Primolut-N tablet को लेने से पहले महिलाओ को अपने पीरियड्स की डेट पता होना चाहिए। इस दवा का सेवन पीरियड्स आने के लगभग 7 -10 पहले सुरु करना चाहिए। 

3 . इन दवाइयों का सेवन 1 -1 गोली हर रोज 5 दिन तक लेना है। दवा ख़त्म होने के बाद 1 -2 दिन में पीरियड्स आने सुरु हो जायेंगे। 

4 .  Progesterone जो पीरियड्स आने की टेबलेट से जानी जाती है। पीरियड्स लाने के अलावा ये दवा अनियमित पीरियड्स ठीक करने के लिए भी प्रयोग होती है।

5 . ये दवा 2 तक लेने से आपको पीरियड्स आने सुरु हो जाते है। इन दवाइयों का सेवन करने के 48 से 72 घंटो में ही अपने पीरियड्स आने लगते है। 

6 . इन दवाइयों के साइड इफेक्ट्स भी होने की संभावनाएं होती है। इन दवाइयों का तभी सेवन करे जब आपको लगे की की ज्यादा जरुरत है या दवा लेने से पहले किसी विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह जरूर ले ले। 

Conclusion – 

आज के लेख में हमने आप सभी महिलाओं को पीरियड समय पर लाने का घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। जिसमे अनियमित पीरियड्स के लक्षण, पीरियड्स लेट आने के कारण, तथा पीरियड आने की टेबलेट किसे नहीं लेनी चाहिए, पीरियड्स की तारीख आगे बढ़ाने वाली दवाओं के नुकसान इन सब के बारे में बताया है। हम आशा करते है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा। 

दोस्तो, इस लेख से संबंधित यदि आपके मन में कोई शंका है, कोई प्रश्न है तो लेख के अंत में, Comment box में, comment करके अवश्य बताइये ताकि हम आपकी शंका का समाधान कर सकें और आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें। और यह भी बताइये कि यह लेख आपको कैसा लगा। आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और  सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर कीजिये ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें। दोस्तो, आप अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय कृपया अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके। और हम आपके लिए ऐसे ही Health- Related Topic लाते रहें। धन्यवाद।

Disclaimer – यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है।  यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता।  ज्यादा जानकारी के लिए आपको हमेशा किसी विशेषज्ञ डॉक्टर से संपर्क करें। देसी हेल्थ क्लब इस जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नहीं लेता।

Summary
पीरियड समय पर लाने का घरेलू उपाय
Article Name
पीरियड समय पर लाने का घरेलू उपाय
Description
आज के लेख में हमने आप सभी महिलाओं को पीरियड समय पर लाने का घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। जिसमे अनियमित पीरियड्स के लक्षण, पीरियड्स लेट आने के कारण, तथा पीरियड आने की टेबलेट किसे नहीं लेनी चाहिए, पीरियड्स की तारीख आगे बढ़ाने वाली दवाओं के नुकसान इन सब के बारे में बताया है। हम आशा करते है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा। 
Author
Publisher Name
Desi Health Club
Publisher Logo
Categories: Woman Health

1 Comment

Shiv Kumar Kardam · October 13, 2021 at 5:48 am

Good Article

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!