दोस्तो, आपका स्वागत है हमारे ब्लॉग पर।  हमारा आज का टॉपिक प्राइवेट पार्ट के बाल हटाने के तरीके से सम्बंधित है। आज के लेख में हम आपको यही बतायेंगे कि इन बालों को हटाने के क्या क्या उपाय हैं।  सबसे पहले हमें यह जानना होगा कि ये बाल क्यों होते हैं, और इनकी क्या उपयोगिता है। 

बाल क्यों होते हैं? – Why do you have hair?

दोस्तो, हम सभी जानते हैं कि जन्म से ही प्राकृतिक तौर पर मनुष्य के सिर,भौं और पलकों पर बाल होते हैं।  यह प्राकृतिक विधान है।  शरीर के कुछ भागों में बाल बाद में आते हैं जब बच्चा वय अवस्था में प्रवेश करने वाला होता है लगभग 14 वर्ष के बाद, लड़के के चेहरे, होंठ (दाड़ी, मूंछ), बगल, प्राईवेट पार्ट पर और लड़की के बगल और प्राईवेट पार्ट पर जब लड़की के मासिक धर्म शुरू होने का  समय होता है।  लड़के लड़की की इस अवस्था में हार्मोन्स्  में बदलाव आता है और शरीर विकसित होने लगता है।  यह शरीर के विशेष अंगों पर बाल होने का  प्राकृतिक विधान के साथ साथ वैज्ञानिक आधार भी है।  

प्राइवेट पार्ट के बाल हटाने के तरीके

बालों की उपयोगिता क्या है? – What is the usefulness of hair ?

दोस्तो, प्रकृति ने मानव को जो कुछ दिया है उसकी अपनी उपयोगिता है, ऐसा कुछ नहीं है कि जिसकी उपयोगिता ना हो।  बालों का भी अपना महत्व है उनकी वैज्ञानिक आधार पर उपयोगिता है जो इस प्रकार है।

1.  बाल तेज धूप, गर्मी, सर्दी और अनेक प्रकार के संक्रमणों से बचाते हैं।  इसे इस प्रकार समझिये आदि-मानव के पूरे शरीर पर बहुत बाल हुआ करते थे जो मौसम से रक्षा करते थे, विशेषकर खुले क्षेत्र में (जिस प्रकार बाल जानवरों के शरीर की रक्षा करते हैं)।  फिर उसने जंगलों में शरण ली तो वृक्ष और पत्तों ने उसकी रक्षा की, पत्तों से शरीर ढकने लगा, गुफाओं में रहने लगा। 

फिर जैसे जैसे मानव जाति का विकास होता गया उसकी जीन् में परिवर्तन आया, हार्मोन्स्  बदले, स्थान बदले, मौसम में परिवर्तन आये, खानपान बदला, रहन सहन बदला और जीवन शैली बदली।  मानव के शरीर से बाल कम होते गये।  परन्तु बालों की उपयोगिता नहीं बदली।  आज भी बाल हमारे सिर को बहुत हद तक गर्मी, सर्दी, ओलों आदि से बचाते हैं तो भौं और पलकें आंखों को धूल मिट्टी से। 

2. बाल हमारे शरीर का तापमान नियन्त्रित करते हैं अर्थात् शरीर के जिन भागों का तापमान बहुत अधिक होता है वहां बाल भी होते हैं जैसे बगल और जननांग।  प्राईवेट पार्ट के बालों की उपयोगिता यह है कि ये प्राईवेट पार्ट क्षेत्र की विभिन्न प्रकार के संक्रमणों से रक्षा करते हैं। 

इन बालों के कारण हमारे शरीर में अनचाहे संक्रमण की संभवना कम हो जाती है।  कोई भी बैक्टीरिया पनपने नहीं पाता।  बाहर के तापमान में उतार चढ़ाव (flactuation) होता है।  इस तापमान के उतार चढ़ाव के साथ प्राईवेट पार्ट क्षेत्र के तापमान का सामन्जस्य बनाये रखने का काम ये बाल करते हैं।  

3.  प्राईवेट पार्ट बहुत संवेदनशील होता है।  ये बाल Fiction से बचाते हैं।  जब भी हम कोई Exercise करते हैं या संभोग करते हैं तो उस समय हमारे प्राईवेट पार्ट में Fiction generate  होता है और इतनी अधिक Energy और Heat पैदा होती है कि प्राईवेट पार्ट के क्षति होने की संभावना रहती है।  उस समय ये बाल प्राईवेट पार्ट को क्षतिग्रस्त होने से बचाने का कार्य करते हैं।  

4.  जब हमारी Reproductive stage शुरू होती है  तब ये बाल Indicative होकर संकेत देते हैं कि अब  हम Sexually matured हो गये हैं।  

5.  ये बाल हमारे शरीर से Feromon hormones रिलीज़ करते हैं जो हमें Opposite gender की तरफ Sexually आकर्षित करते हैं।  

क्या इन बालों को हटाना चाहिए? – Should these hair be removed?

1.  प्राईवेट पार्ट के बालों को हटाना या रखना आपकी निजी पसंद है।  किसी को ये बाल बहुत अच्छे लगते हैं तो किसी को नहीं या फिर आपके Partner को आपके बाल पसंद  हो सकते हैं या नहीं भी।  इसलिये इस बारे में आपकी इच्छा, आपका निर्णय।   

ये भी पढ़े – शीघ्रपतन का देसी उपचार

2.  प्राईवेट पार्ट के बालों की उपयोगिता एक अलग बात है परन्तु साफ सफाई को नज़रअंदाज नहीं किया जाना चाहिये।  प्राईवेट पार्ट क्षेत्र पर नमी या साफ सफाई ना होने के कारण बालों को डर्मेटोफाइट संक्रमण (बालों के फंगल संक्रमण) और वजाइनल यीस्ट संक्रमण का शिकार  बनाती है। 

3.  दोस्तो, इस्लाम को मानने वालों में एक बहुत बड़ी गलतफ़हमी है कि 40 दिन तक “शर्मगाह” के बाल clear ना किये जायें तो नमाज़ कुबूल नहीं होती।  इस बारे में जनाब मुफ्ती ए। एम। कुरैशी ने अपने वीडियो में स्पष्ट किया है कि “शर्मगाह” के बाल 40 दिन तक ना काटना शरीयत में गुनाह है ठीक उसी प्रकार जैसे कि चुगली करना और झूठ बोलना गुनाह है। 

हर हप्ताह या 15 दिन 20 दिन में बाल काटने चाहियें।  लेकिन 40वां आखिरी दिन होता है।  फिर उन्होंने स्पष्ट किया है कि प्राईवेट पार्ट के बाल काटने का नमाज़ के कबूल होने या ना होने से कोई संबंध नहीं है।  यह मसला अलग है और नमाज़ का मसला अलग। 

प्राइवेट पार्ट के बाल हटाने के तरीके  –  How to Remove Private Part Hair

दोस्तो, अब हम आपको बताते हैं कि प्राईवेट पार्ट के बाल हटाने के देसी तरीके जो इस प्रकार हैं – 

1.  टूथपेस्ट और बेकिंग सोडा (Toothpaste and Baking soda)- दोस्तो, ये दोनों वस्तुऐं हर घर में होती हैं।  टूथपेस्ट कोई भी हो लेकिन जैल वाला और रंगीन नहीं होना चाहिये।  किसी बर्तन में आधा चम्मच टूथपेस्ट और आधा चम्मच बेकिंग सोडा डाल कर पेस्ट बना लें।  पेस्ट बनाते समय बहुत थोड़ा सा इसमें पानी मिला लें।  पानी की मात्रा इतनी हो कि पेस्ट ना तो बहुत गाढ़ा हो और ना पतला।  इस पेस्ट को कॉटन से प्राईवेट पार्ट के बालों पर लगाकर मसाज करें।  पेस्ट को लगा रहने दें, फिर लगभग 15 मिनट बाद साफ कर लें।   

2.  अंडा (Egg)- अनचाहे बालों से निजात पाने का लिये अंडा एक बेहतरीन उपाय है।  अंडे के सफेद वाले हिस्से निकालकर खूब अच्छी तरह फेंटें फिर इसे प्राईवेट पार्ट के बालों पर लगाकर छोड़ दें।  सूख जाने पर गुनगुने पानी से धो लें।  इसे आप चेहरे पर भी लगा सकते हैं।  इससे चेहरे की झुर्रियां भी कम हो जायेंगी।  

3.  बेसन (Gram flour)- अनचाहे बालों को हटाने के लिये बेसन का उपयोग बहुत सहज और सरल घरेलू उपाय है लेकिन बहुत समय लेता है।  इसका सकारात्मक पहलू ये है कि यह बहुत प्रभावकारी होता है और इसके कोई नुकसान यानि भी साइड इफेक्ट्स भी नहीं होते।  एक कटोरी/कप या अन्य किसी बर्तन में बेसन लेकर थोड़ा सा नमक और पानी मिलायें और पेस्ट तैयार कर लें।  इस पेस्ट को प्रतिदिन प्राईवेट पार्ट के बालों पर लगायें।  यह स्वाभाविक तौर पर धीरे धीरे बालों को कमजोर कर देगा। 

4.  बेसन और हल्दी (Gram flour and Turmeric)- बेसन में थोड़ी सी हल्दी और पानी मिलाकर पैक बना लें और फिर इसे अपने अनचाहे बालों पर लगा लें।  जब सूख जाये तो धो लें। 

5.  बेसन, हल्दी और सरसों का तेल (Mustard oil)-  बेसन, हल्दी और सरसों के तेल का पेस्ट बनाकर सप्ताह में 2 दिन नियमित रूप से लगायें सूखने पर धो लें। 

6.  हल्दी (Turmeric)- केवल हल्दी का ही पेस्ट बनाकर प्रतिदिन लगायें और 15 मिनट बाद धो लें।  इससे भी अनचाहे बालों को हटाने में मदद मिलेगी।  

7. आलू और दाल (Potatoes and Lentils)- रात को एक कप मूंग की दाल भिगो दें।  सुबह इसे पीसकर पेस्ट बना लें।  इसमें  एक कप आलू का रस, एक चम्मच शहद और चार चम्मच नींबू का रस डालकर अच्छी तरह मिला लें।  इस पेस्ट को अनचाहे बालों पर लगायें।   15 मिनट बाद सूखने पर धो लें।  

8. केला और ओट्स (Bananas and Oats)- एक केले को मसल कर इशमें  एक या दो चम्मच ओट्स मिलाकर पेस्ट बनालें।  इस पेस्ट को अनचाहे बालों पर लगायें।   15 मिनट बाद सूखने पर धो लें।  सप्ताह में दो या तीन बार लगायें।  अनचाहे बाल आराम से निकल जायेंगे। 

9. कच्चा पपीता (Raw Papaya)- कच्चे पपीता का पेस्ट तैयार करें लगभग दो बड़े चम्‍मच।  और इस पेस्ट में आधा चम्मच हल्दी पाउडर डालकर अच्छे से मिक्स कर लें।  इस पेस्ट को अनचाहे बालों पर लगायें।   15 मिनट बाद सूखने पर धो लें।  सप्ताह में दो बार लगायें।  पपीते में पाये जाने वाला पैपेन एंजाइम बालों के रोम छिद्रों को निष्क्रिय करके बालों को पनपने से रोकता है। 

10. मसूर की दाल (Masur lentils)- रात भर की भीगी हुई मसूर की दाल को पीसकर इसमें नींबू का रस, शहद, आलू का रस और एक चुटकी हल्‍दी मिलाकर पेस्ट बना लें।  इस पेस्ट को अनचाहे बालों पर लगायें और सूखने पर धो लें। 

11.  मक्के का आटा (Corn flour)- मक्के के आटे में थोड़ी सी चीनी और अंडे का सफेद वाला हिस्सा मिलाकर पेस्ट बना लें।  इस पेस्ट को प्राईवेट पार्ट के बालों पर लगा कर सूखने दें।  15-20 मिनट बाद जब यह सूख जाये तो पानी से धो लें।  हफ्ता में तीन बार लगायें।  

12.  काबुली चने का आटा (Chickpea flour)- अनचाहे बालों को हटाने के लिये इसे पारंपरिक रूप से इस्तेमाल किया जाता रहा है।  आधा कप काबुली चने के आटे में आधा कप दूध, एक चम्‍मच हल्‍दी और एक चम्‍मच क्रीम मिलाकर अच्छी तरह पेस्ट बनालें।  इस पेस्ट को अनचाहे बालों पर लगायें और सूखने दें।  सूखने पर गुनगुने पानी से धो लें। 

13.  एलोवेरा (Aloe vera)- एलोवेरा को वैक्सिंग के रूप में इस्तेमाल करना होगा।  एलोवेरा जैल में शहद मिलाकर गर्म कर लें।  फिर इसको प्राईवेट पार्ट के बालों पर लगायें।  याद रखिये ज्यादा गर्म ना हो।  सहन करने लायक गर्म होना चाहिये।  इसे लगाकर वैक्सिंग पट्टी का इस्तेमाल करें।  यह अनचाहे बालों से छुटकारा पाने का बेहतर विकल्प है। 

14. नींबू और शहद (Lemon and Honey)- नींबू और शहद के मिश्रण को वैक्सिंग के रूप में इस्तेमाल करना होता है।  किसी बर्तन में नींबू का रस और शहद  मिक्स करके गर्म कर लें।  मिश्रण (सहन करने लायक)।  इस मिश्रण को अनचाहे बालों पर लगायें और वैक्सिंग पट्टी का इस्तेमाल करें।  

15.  चीनी, नींबू और शहद (Sugar, lemon and honey)- अनचाहे बालों को हटाने के लिये यह एक उत्तम प्राकृतिक और घरेलू तरीका है।  किसी बर्तन में तीन चम्‍मच चीनी, एक नींबू का रस और एक चम्‍मच शहद को अच्छी तरह मिक्स कर लें।  फिर इस मिश्रण को अनचाहे बालों की उल्टी दिशा में लगाकर धीरे धीरे मसाज करें।  यह प्राकृतिक रूप से बालों को कमजोर कर देगा। 

प्राइवेट पार्ट के बाल हटाने के लोकप्रिय Trendy तरीके – Popular Trendy Methods of Hair Removal of Private Part

दोस्तो, अब बताते हैं आपको वो तरीके जो आजकल चलन में हैं और लोकप्रिय हैं।

1.  शेविंग (Shaving)- प्राईवेट पार्ट के बालों को साफ करने का यह बहुत पुराना, सबसे सामान्य, प्रचलित और लोकप्रिय उपाय है जिसमें ब्लेड को रेजर में लगाकर शेविंग की जाती है।  शेविंग करने से पहले शेविंग क्रीम या शेविंग जैल लगाना चाहिये ताकि बाल मुलायम हो जायें।  फिर शेविंग करें।  शेविंग धीरे-धीरे और सावधानी से करनी चाहिये ताकि कहीं त्वचा में कट ना लग जाये। 

यद्यपि शेविंग करने से त्वचा में शुष्कता, खुजली या जलन की समस्या हो सकती है।  शेविंग करने के बाद मॉस्चराइज़र या एलोवीरा जैल अवश्य लगायें।  इस तरीके में बाल बहुत सख्त हो जाते हैं और जल्दी-जल्दी बढ़ते भी हैं।  इसलिये समय-समय पर जब भी आपको लगे कि बाल बढ़ गये हैं  और आप असुविधा (Uncomfortable) महसूस करती हैं तो आपको शेविंग कर लेना चाहिये।  

ये भी पढ़े – स्पर्म काउंट बढ़ाने के देसी उपाय

2.  ट्रिमर या कैंची का उपयोग (Trimmer or scissors)- जो महिलाऐं शेविंग करने से कतराती हैं या उन्हें अच्छा नहीं लगता या ब्लेड से डर लगता है उनके लिये ट्रिमर या कैंची का उपयोग बहुत बेहतरीन विकल्प है।  इसके लिये सामान्य कैंची की अपेक्षा छोटी कैंची का इस्तेमाल करना होगा।  बालों को ट्रिम करने से पहले कैंची से छांट कर छोटा करना होगा। 

क्योंकि बड़े बाल ट्रिमर में फंस जाते हैं।  छोटा करने के बाद ही बालों को ट्रिम करें।  ट्रिम करने से बाल त्वचा के बहुत करीब से कट जाते हैं जो फिर बढ़ने में बहुत समय लेते हैं।  यदि आप वाटरप्रूफ ट्रिमर लेते हैं तो आप नहाते समय अपने बालों को ट्रिम कर सकते हैं इससे आपको अलग से सफाई की जरूरत नहीं पड़ेगी और आपका समय भी बचेगा।  

जहां तक कैंची का प्रश्न है तो जैसा कि हम बता चुके हैं कि छोटी कैंची का प्रयोग करें।  इससे आप बालों की छटाई कर बहुत छोटा कर सकती हैं।   ध्यान रहे कि बालों की छटाई करते समय कैंची के नुकीले भाग को समानान्तर या नीचे की ओर रखने की अपेक्षा एक साइड से दूसरी साइड अर्थात् दायें से बायें की ओर रखें।  ऐसा करना अधिक सुरक्षित होगा।  ट्रिमर या कैंची के प्रयोग से कोई संक्रमण भी नहीं होगा।  

3. हेयर रिमूवल क्रीम (Hair removal cream)- यह बालों को हटाने का बेहद आसान, सुरक्षित और दर्द रहित तरीका है।  क्रीम बालों को रोम छिद्र में ही पिघला देती है।  लेकिन बिल्कुल जड़ से बालों को नहीं हटाती।  इसको अपनी त्वचा के अनुसार ही खरीदना चाहिये और इस्तेमाल करने से पहले पैच टेस्ट कर लेना चाहिये ताकि आपको किसी प्रकार की एलर्जी या जलन न हो।  बाजार से अच्छी गुणवत्ता (Quality) वाली क्रीम खरीदें। 

सामान्यतः हेयर रिमूवल क्रीम को अनचाहे बालों पर लगायें और 5-10 मिनट के अंदर धो लें।  यह क्रीम बालों को बहा ले जायेगी।  10 मिनट के बाद क्रीम को लगा कर नहीं रखना चाहिये।  क्रीम लगाते समय सावधान रहिये कि ये योनि में ना जाये।  हम आपको कुछ अच्छी क्रीम के नाम बता रहे हैं जो इस प्रकार हैं :-

(i).  वीट बॉडी कर्व हेयर रिमूवल क्रीम (Veet Body Curv Hair Removal Cream)

(ii).  वीट सिल्क एंड फ्रैश हेयर रिमूवल क्रीम (Veet silk and fresh Hair Removal Cream)

(iii).  एवरटीन बिकिनी लाइन हेयर रिमूवर क्रीम (Everteen Bikini Line Hair Remover Cream)

(iv).  एवन वर्क्स फेसियल हेयर रिमूवर क्रीम (Avon works facial Hair Remover Cream)

(v).  ओले स्मूद फिनिश फेसियल हेयर रिमूवर क्रीम (Olay smooth finish facial hair removal Cream)

(vi).  ब्लिस फज ऑफ हेयर रिमूवल क्रीम (bliss ‘Fuzz’ Off Hair Removal Cream)

(vii).  फेम एंटी-डार्किंग हेयर रिमूवल क्रीम (Fem Anti-Darkening Hair Removal Cream)

(viii).  नायर हेयर रिमूवल लोशन (Nair Hair Removal Lotion)

4.  इलेक्ट्रोलाइसिस (Electrolysis)- इलेक्ट्रोलिसिस के समय बिजली के बहुत ही हल्के करंट का प्रयोग किया जाता है।   इस प्रक्रिया में पतली सुईंयों का प्रयोग किया जाता है।  इन सुईंयों को मशीन द्वारा बालों के रोम छिद्र के पास लगाया जाता है और एक रसायन डाला जाता है।  जिससे रोम पूरी तरह से नष्ट हो जाता है और उस स्थान पर दुबारा बाल नहीं उगते।  लेकिन इसके लिये कई सेशन लेने होते हैं।  यह इलेक्ट्रोलाइसिस प्रक्रिया अनुभवी त्वचा विशेषज्ञ द्वारा किया जाता है। 

5.  लेज़र ट्रीटमेंट (Laser treatment)- अनचाहे बालों को स्थायी रूप से हटाने के लिये यह उत्तम उपाय है।  इस प्रक्रिया में लेजर बीम का इस्तेमाल होता है।  एक ही बार में इसके परिणाम नहीं मिलते।  इलेक्ट्रोलाइसिस की तरह इसके भी कई सेशन लेने होते हैं।  संभवतः दो से छः सेशन की आवश्यकता होती है।  इस प्रक्रिया में लेजर बीम बालों के रोम को नष्ट करके बालों को भाप के साथ हवा में उड़ा देती है।  लेजर करते समय आपको धूम्रपान या गंधक जैसी महक आ सकती है।  इस प्रक्रिया को करने से पहले त्वचा को सुन्न करने वाले जैल को लगाया जाता है ताकि उपचार प्रभावशाली हो और दर्द भी कम हो।  मासिक धर्म के समय लेजर ट्रीटमेंट करवाने से बचना चाहिये क्योंकि उस समय त्वचा बहुत नाजुक और संवेदनशील होती है।  

6.  बिकिनी वैक्स (Bikini Wax)- दोस्तो, सबसे पहले जानते हैं कि बिकिनी वैक्स किसे कहते हैं।  तो समझिये कि वैक्स की मदद से अपने प्राईवेट क्षेत्र के बालों को हटाना बिकनी वैक्स कहलाता है।  बिकनी वैक्सिंग में पैंटी से बाहर निकलने वाले बालों को हटा दिया जाता है।  इस वैक्सिंग प्रक्रिया में गर्म मोम की परत त्वचा पर लगाकर कपड़े की एक नरम पट्टी मोम के ऊपर डाल दी जाती है, जो त्वचा पर सही से चिपक जाये फिर मोम ठंडा होने पर कपड़े को त्वचा से उतार देते हैं।  वैक्सिंग करते समय प्राईवेट क्षेत्र के साथ-साथ प्राईवेट पार्ट के नीचे वाले एरिया को भी साफ किया जाता है।  

बिकनी वैक्स आमतौर पर दो प्रकार से की होती है।  पहली सॉफ्ट वैक्स और दूसरी हार्ड वैक्स।  सॉफ्ट वैक्स में स्किन पर वैक्स लगाकर पेपर स्ट्रिप से इसे खींच लिया जाता है जबकि हार्ड वैक्स में वैक्स को त्वचा पर लगाकर सीधे हाथों से खींचा जाता है ताकि सभी बाल निकल  आयें।  हार्ड वैक्स ज्यादा प्रभावशाली होती है और इसमें दर्द भी कम होता है।   

वैक्सिंग के कई स्टाईल होते हैं।  निर्भर करता है आपकी पसंद पर कि कितने एरिया में आप क्या चाहती हैं।  कुछ स्टाईल निम्न प्रकार हैं :-

1. नॉर्मल बिकिनी वैक्स (Normal bikini wax)- इसमें पैंटी की लाइन के आस-पास के बाल साफ किये जाते हैं जो बिकनी के बाहर दिखाई देते हैं।  ये जांघ के ऊपर वाला हिस्सा होता है।  यह विशेषतौर पर स्विमिंग करने वाली लड़कियों के लिये होता है ताकि वे बे-फिक्री से स्विमिंग कर सकें।  

2.  ब्राजीलियन वैक्स (Brazilian wax)- इसमें प्राईवेट पार्ट एरिया के बालों को पूरी तरह निकाल दिया जाता है जिससे त्वचा एकदम साफ और पूरी तरह चिकनी हो जाये।  इसे महिलाऐं बहुत पसंद करती हैं।  इसकी डिमांड बहुत तेजी से बढ़ रही है।  

3.  मिनी ट्रायंगल (Mini Triangle)- पार्टनर को आकर्षित करने के लिए ये बहुत अच्छा स्टाइल माना जाता है।  इसमें योनि के ऊपर प्यूबिक बोन पर बालों का एक छोटा सा त्रिकोण बना दिया जाता है और इसके आस-पास के सभी बालों को साफ कर दिया जाता है।  इस स्टाइल को फुल-बश ब्राजिलीयन वैक्स (full-bush Brazilian wax) भी कहा जाता है। 

Conclusion

दोस्तो, आज के लेख में हमने आपको प्राइवेट पार्ट के बाल हटाने के तरीके के बारे में विस्तार से जानकारी दी।  बालों के होने के वैज्ञानिक आधार बताये और इनकी उपयोगिता भी बताई।  महिलाओं के प्राईवेट पार्ट के बाल हटाने के देसी तरीके बताये और इसके अतिरिक्त, प्राईवेट पार्ट के बाल हटाने के जो प्रचलित तरीके हैं, उनके बारे में भी बताया।

  आशा है आपको ये लेख अवश्य पसन्द आयेगा।  आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और  सगे – सम्बन्धियों के साथ भी शेयर करें।  ताकि सभी इसका लाभ उठा सकें।  दोस्तो, हमारा आज का यह लेख आपको कैसा लगा, इस बारे में कृपया अपनी टिप्पणियां (Comments), सुझाव, राय अवश्य भेजिये ताकि हमारा मनोबल बढ़ सके।  और हम आपके लिए ऐसे ही Health- Related Topic लाते रहें।  धन्यवाद।

error: Content is protected !!